महिला विश्व कप: भारतीय टीम की कप्तान मिताली राज ने बताया, क्यों देश के लिए जीतना चाहती हैं वर्ल्ड कप

भारत 4 मार्च से न्यूजीलैंड में छह स्थानों पर खेले जाने वाले मेगा इवेंट में अपने अभियान की शुरुआत करेगा, जिसमें 6 मार्च को चिर-प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ अपना पहला मुकाबला खेलेगा।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

भारत की महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज ने मंगलवार को कहा है कि उनकी टीम 4 मार्च से न्यूजीलैंड में शुरू होने वाले आईसीसी महिला क्रिकेट विश्व कप को जीतने के लिए सक्षम है। उन्होंने आगे कहा कि यहां आने के बाद टीम परिस्थितियों को समझने और कड़ी मेहनत पर ध्यान केंद्रित कर रही है। भारत 4 मार्च से न्यूजीलैंड में छह स्थानों पर खेले जाने वाले मेगा इवेंट में अपने अभियान की शुरुआत करेगा, जिसमें 6 मार्च को चिर-प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ अपना पहला मुकाबला खेलेगा।

मिताली ने कहा कि मेगा इवेंट में भारत की खिताबी जीत का देश पर जो असर होगा, वह अविश्वसनीय होगा। आईसीसी से मिताली ने कहा, "हमने दिखाया है कि हम ट्रॉफी जीतने में सक्षम हैं। अब बस सिर्फ ऐसा करने भर की देरी है। ऐसा करने का प्रभाव अविश्वसनीय होगा। मैं केवल कल्पना कर सकती हूं कि इसका क्या प्रभाव होगा।"

कप्तान ने आगे कहा, "मुझे 2017 में आईसीसी महिला क्रिकेट विश्व कप के फाइनल की भावनाएं स्पष्ट रूप से याद हैं, जब टीम जीत के इतने करीब आ गई थीं। इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्डस स्टेडियम में चूकना कुछ ऐसा था, जो हमेशा याद रहेगा।"

छह बार के चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को सेमीफाइनल में हराने के बाद, भारत ने 2017 विश्व कप फाइनल में जगह बनाई, जहां वे मेजबान इंग्लैंड से हार गए थे। उन्होंने आगे कहा, "साउथ अफ्रीका में आईसीसी महिला क्रिकेट विश्व कप 2005 में वापस जाने के लिए, हम तीन आईसीसी फाइनल में से दो में भारत का नेतृत्व करने का सम्मान कर रहे हैं। इस अवधि में हमने कई यादगार प्रदर्शन किए हैं, लेकिन एक विशाल याद के लिए जीत का अभी भी इंतजार है।"

मिताली ने कहा, "हम अब हाल के 50 ओवर और 20 ओवरों के विश्व कप फाइनल में हारे गए थे और उन अनुभवों से बहुत कुछ सीखा है जिसे हम न्यूजीलैंड में इस विश्व कप में इस्तेमाल करने का प्रयास करेंगे।"

उन्होंने कहा कि न्यूजीलैंड में खिताबी जीत से बीसीसीआई की महिला आईपीएल आयोजित करने की योजना को गति मिल सकती है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia