खेल की 5 बड़ी खबरें: अब IPL में कोच बनेंगे रवि शास्त्री? और हरमनप्रीत के नाम जुड़ा एक बड़ा रिकॉर्ड

भारतीय टीम के पूर्व हेड कोच रवि शास्त्री ने आईपीएल में कोच बनने को लेकर बड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा है कि अभी वो क्रिकेट से एक ब्रेक लेंगे और उसके बाद ही कोई फैसला लेंगे और भारत की ऑलराउंडर और टी20 कप्तान हरमनप्रीत कौर के नाम एक बड़ा रिकॉर्ड जुड़ गया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

IPL में कोच बनने को लेकर रवि शास्त्री का बयान आया सामने, जानें क्या कहा?

भारतीय टीम के पूर्व हेड कोच रवि शास्त्री ने आईपीएल में कोच बनने को लेकर बड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा है कि अभी वो क्रिकेट से एक ब्रेक लेंगे और उसके बाद ही कोई फैसला लेंगे। रवि शास्त्री ने आईपीएल में कोचिंग की भूमिका से इंकार नहीं किया है। अंग्रेजी अखबार द न्यू इंडियन एक्सप्रेस के साथ बातचीत में रवि शास्त्री ने अपने फ्यूचर प्लान के बारे में बताया। रवि शास्त्री के मुताबिक वो अगला असाइनमेंट ब्रेक के बाद ही लेंगे। शास्त्री के मुताबिक क्रिकेट धीरे-धीरे काफी डेवलप हो रहा है और वो मीडिया और डिजिटल स्पेस का भी हिस्सा बन सकते हैं। उन्होंने कहा, अगले कदम के लिए अभी बहुत टाइम है। मैं अभी ब्रेक लूंगा और कई सारी स्पोर्टिंग चीजें हैं जिन्हें किया जा सकता है। क्रिकेट एक बहुत बड़ा गेम है और धीरे-धीरे और बढ़ रहा है। मीडिया और डिजिटल और स्पेस भी काफी बढ़ रहा है। इस वक्त मेरी अंगुलियां पांच अलग-अलग दिशाओं में जा रही हैं। मैं निश्चित तौर पर कोचिंग करूंगा। ग्रासरूट लेवल पर मैं काम करूंगा इसमें कोई शक नहीं है। क्या पता आपको आईपीएल में मौका मिल जाए तो मैं उसे ना नहीं कहूंगा। वहीं टीवी में भी काम करने का अवसर रहेगा। हालांकि ये वक्त मेरे लिए ब्रेक का है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

डब्ल्यूबीबीएल-7 टीम ऑफ द टूर्नामेंट में शामिल हुई हरमनप्रीत कौर

भारत की ऑलराउंडर और टी20 कप्तान हरमनप्रीत कौर के नाम एक बड़ा रिकॉर्ड जुड़ गया है। वह मेलबर्न रेनेगेड्स के लिए खेलते हुए महिला बिग बैश लीग-7 (डब्लूबीबीएल) टूर्नामेंट टीम में चुने जाने वाली केवल दो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटरों में से एक बनी है। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने सोमवार को इस बात की घोषणा की। इस लिस्ट में शामिल होने वाली न्यूजीलैंड की सोफी डिवाइन जो पर्थ स्कॉर्चर्स के लिए खेलती हैं, डब्ल्यूबीबीएल-7 टीम ऑफ द टूर्नामेंट में शामिल होने वाली एकमात्र अन्य गैर-ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर हैं, जिन्हें टीम का कप्तान बनाया गया है। हरमनप्रीत ने इस सीजन में रेनेगेड्स के लिए 12 मैच खेले, जिसमें उन्होंने 11 पारियों में 66.5 की औसत और 135.25 के स्ट्राइक रेट से 399 रन बनाए। उन्होंने तीन अर्धशतक बनाए, जिसमें उनका सर्वोच्च स्कोर नाबाद 81 रन था।

इसके अलावा, एक गेंदबाज के रूप में हरमनप्रीत ने 20.4 की औसत से 15 विकेट लिए, जिसमें उनका सर्वश्रेष्ठ 22 रन देकर 3 विकेट झटके। क्रिकेट डॉट कॉम.एयू ने सोमवार को लिखा, "हरमनप्रीत कौर रेनेगेड्स के लिए बल्ले और गेंद के साथ एक प्रमुख खिलाड़ी रही हैं, जो अपने नए क्लब में शामिल होने के बाद लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं। उन्होंने बल्ले के साथ कमाल करते हुए प्रतियोगिता में सबसे ज्यादा 18 छक्के मारे हैं, जबकि स्टार लेग स्पिनर जॉर्जिया वेयरहैम की चोट के बाद पावरप्ले में गेंद के साथ भी अहम भूमिका निभाई है।" डब्ल्यूबीबीएल के इस सीजन में कुल आठ भारतीय क्रिकेटरों ने हिस्सा लिया।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

हॉकी जूनियर विश्व कप में 16 टीमें भिड़ने के लिए तैयार

एफआईएच ओडिशा हॉकी जूनियर वर्ल्ड कप का आगाज 24 नंवबर से भुवनेश्वर में होने वाला है। इस टूर्नामेंट में 16 टीमें भाग ले रही हैं जो एक-दूसरे के साथ भिड़ने के लिए तैयार हैं। टूर्नामेंट में चार पूल बनाए गए हैं, जिसमें हर पूल में चार टीमों को शामिल किया गया। प्रत्येक पूल से शीर्ष दो टीमें क्वार्टर फाइनल के लिए क्वालीफाई करेंगी। पूल ए में यूरोपीय बेल्जियम, मलेशिया, चिली और दक्षिण अफ्रीका को रखा गया। 24 नवंबर को बेल्जियम अपना पहला मैच दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेलेगा। गत चैंपियन भारत को पूल बी में कनाडा, फ्रांस और पोलैंड के साथ रखा गया है, जो पिछले हफ्ते यहां भिड़ने के लिए पहुंचे थे। कप्तान विवेक सागर प्रसाद की अगुवाई में भारत प्रतिष्ठित ट्रॉफी को बरकरार रखना चाहेगा, क्योंकि वे अपने घरेलू मैदान पर एक मजबूत टीम हैं। टोक्यो 2020 ओलंपिक में भारत के लिए ऐतिहासिक कांस्य पदक जीतने वाली टीम का हिस्सा रहे विवेक ने कहा, "हमारी टीम 2016 में चैंपियन बनी थी और अब हमारी टीम का लक्ष्य इसे बरकरार रखना है।" भारत के मुख्य कोच ग्राहम रीड ने टीम की तैयारियों पर कहा, "भुवनेश्वर में जूनियर खिलाड़ियों ने सीनियर टीम के खिलाफ कुछ अभ्यास मैच खेले, जो काफी मूल्यवान थे। यहां आने के बाद से लगातार स्टेडियम में अभ्यास कर रहे हैं। कलिंग हॉकी स्टेडियम वास्तव में प्रतिष्ठित है। यह अच्छा है कि हम टूर्नामेंट शुरू करने से पहले यहां प्रशिक्षण ले रहे हैं।"

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

कमिंस को टेस्ट कप्तान बनाए जाने का सही समय: क्लार्क

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर माइकल क्लार्क को लगता है कि तेज गेंदबाज पैट कमिंस को टेस्ट टीम का कप्तान बनाए जाने का समय सही है। उन्होंने आगे कहा कि टीम के सीनियर खिलाड़ी कमिंस को कप्तानी करने में उनकी मदद कर सकते हैं। बता दें कि पूर्व ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट कप्तान टिम पेन एक विवाद के बाद कप्तानी से इस्तीफा दे दिया था। इसलिए, कमिंस को एशेज में ऑस्ट्रेलिया का कप्तान बनाए जाने की बात चल रही है। पिछले कुछ दिनों में, कई पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने कमिंस को उपकप्तान से कप्तान बनाने के लिए कहा था। अब इस सूची में कमिंस का समर्थन करने वाले क्लार्क नए सदस्य बन गए हैं।

क्लार्क ने स्काई स्पोर्ट्स रेडियो पर कहा, "अगर हमारे पास तीन या पांच साल होते तो हम इस पर विचार कर सकते थे। लेकिन टीम में इतने सीनियर खिलाड़ी होने पर मुझे लगता है कि यह उनके लिए कप्तान बनने का सही समय है। क्योंकि वे उनकी मदद कर सकते हैं।" उन्होंने आगे कहा, "स्टीव स्मिथ, डेविड वार्नर, नाथन लियोन, मिशेल स्टार्क और जोश हेजलवुड जैसे खिलाड़ियों ने टेस्ट क्रिकेट में लंबे समय तक खेले हैं। वे उनकी मदद कर सकते हैं।"

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

टिम पेन ने गर्दन की सफल सर्जरी के बाद मैदान पर उतरते ही किया जबरदस्त प्रदर्शन

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट कप्तान टिम पेन ने सोमवार को अपने सफल गर्दन की सर्जरी के बाद मैदान पर लौटते ही जबरदस्त प्रदर्शन किया। उन्होंने यहां लिंडिसफर्ने ओवल में प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में तस्मानिया के लिए खेलते हुए विकेट के पीछे छह कैच पकड़े, जिससे दक्षिण ऑस्ट्रेलियाई टीम 165 रन पर ही सिमट गई। इससे पहले, पेन ने एशेज शुरू होने से तीन हफ्ते पहले एक विवाद के बाद ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट कप्तान के पद से इस्तीफा दे दिया था, इसके बाद उन्हें गर्दन में आ रही समस्या के कारण सर्जरी करवानी पड़ी, जो की सफल रही।

37 साल के पेन ने जहां कप्तानी छोड़ दी हैं, वहीं उन्होंने एशेज टीम में चयन के लिए खुद को उपलब्ध कराया है। सोमवार को, उन्होंने दक्षिण ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ प्रतिस्पर्धी क्रिकेट का मुकाबला खेला। जहां, पेन ने शानदार प्रदर्शन करते हुए विकेट के पीछे छह कैच लपके, जिसे दक्षिण ऑस्ट्रेलिया की टीम 165 रन पर ऑल आउट हो गई। इसके बाद, तस्मानिया ने दिन का खेल खत्म होने तक एक विकेट नुकसान पर 58 रन बनाए। दिलचस्प बात यह है कि मैच के दौरान क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के राष्ट्रीय चयनकर्ता जॉर्ज बेली भी मौजूद थे। 19 नवंबर को पेन ने एक घोषणा की थी, जिसमें उन्होंने कहा था कि वह ऑस्ट्रेलिया की टेस्ट टीम की कप्तानी छोड़ रहे हैं। इस घोषणा के बाद ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट को जोरदार झटका लगा था।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia