खेल की खबरें: हार के बाद रोहित शर्मा की आंखें हुई नम! इन लोगों पर फोड़ा ठीकरा और टेनिस कोर्ट में धोनी का जलवा

इंग्लैंड से हारने के बाद भारतीय कप्तान रोहित शर्मा को डगआउट में रोता देखा गया है। इस शर्मनाक हार के बाद कप्तान की आंखें नम थी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

टीम इंडिया की हार के बाद रोहित शर्मा ने किस पर फोड़ा हार का ठीकरा

कप्तान जोस बटलर (80 नाबाद) और एलेक्स हेल्स (86 नाबाद) की विस्फोटक बल्लेबाजी की वजह से एडिलेड ओवल में खेले गए टी20 विश्व कप के दूसरे सेमीफाइनल में इंग्लैंड ने भारत को 10 विकेट से शर्मनाक मात देकर फाइनल में जगह बनाई। इंग्लैंड से हारने के बाद भारतीय कप्तान रोहित शर्मा को डगआउट में रोता देखा गया है। इस शर्मनाक हार के बाद कप्तान की आंखें नम थी। 

वहीं रोहित शर्मा ने मैच के बाद कहा कि ये निराशाजनक है। हमने अच्छी बल्लेबाजी की थी, लेकिन आज हमारी गेंदबाजी अच्छी नहीं रही। नॉक आउट में दबाव का बहुत महत्व होता है। ये खिलाड़ियों के व्यक्तिगत प्रदर्शन पर निर्भर करता है। हम खिलाड़ियों को अगल से ये नहीं सिखा सकते। उन्होंने साफ कहा कि कुछ खिलाड़ियों को दबाव झेलना आता है और कुछ को नहीं। गेंदबाजों की बात करते हुए उन्होंने कहा कि भुवनेश्वर को अपने पहले ओवर में विकेट से मदद मिल रही थी। लेकिन हमने अच्छी लाइन और लेंथ पर गेंदबाजी नहीं की।

बता दें कि भारत के 168 रनों के जवाब में इंग्लैंड की टीम ने 16 ओवर में ही 170 रन बनाकर लक्ष्य हासिल कर लिया।

इसे भी पढ़ें: T20 World Cup: सेमीफाइनल में भारत की शर्मनाक हार, इंग्लैंड ने 10 विकेट से दी मात, फाइनल में पाक से भिड़ेगा ENG

खेल की खबरें: हार के बाद रोहित शर्मा की आंखें हुई नम! इन लोगों पर फोड़ा ठीकरा और टेनिस कोर्ट में धोनी का जलवा

अब टेनिस के कोर्ट पर क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी दिखा रहे जलवा


क्रिकेट स्टार महेंद्र सिंह धौनी अब टेनिस के कोर्ट पर भी अपना जलवा दिखा रहे हैं। वह रांची में जेएससीए (झारखंड स्टेट क्रिकेट एसोसिएशन) स्टेडियम में एसोसिएशन की ओर से आयोजित किए जा रहे टेनिस टूर्नामेंट में खेल रहे हैं। पिछले तीन दिनों से चल रहे इस टूर्नामेंट की युगल स्पर्धा में धोनी और उनके जोड़ीदार सुमित बजाज फाइनल में पहुंच गए हैं।

स्टेडियम में स्थित टेनिस कोर्ट पर आयोजित सेमी फाइनल मुकाबले में धोनी और सुमित कुमार बजाज की जोड़ी ने राजेश और शशि की जोड़ी को 6-0, 6-0 से हराया। फाइनल में इस जोड़ी का मुकाबला विनीत और कैफ की जोड़ी से होगा, जिसने सेमी फाइनल में संतोष और दीपक को 6-0, 6-4 से हराया। इसके पहले के मैच में भी धोनी और उनके जोड़ीदार सुमित ने अपने प्रतिद्वंद्वी जोड़ी को 9-0, 9-0 से हराया था।

स्टेडियम में धोनी को टेनिस खेलते देखने वालों की अच्छी भीड़ जुट रही है। बता दें कि महेंद्र सिंह धोनी वक्त मिलने पर रांची के आस-पास फुटबॉल, टेनिस सहित कई अन्य खेलों में भी भाग लेते हैं। वह रांची के सिल्ली स्टेडियम में प्रत्येक वर्ष होने वाले फुटबॉल टूनार्मेंट के कुछ मैचों में पहले शौकिया तौर पर भाग ले चुके हैं।


खेल की खबरें: हार के बाद रोहित शर्मा की आंखें हुई नम! इन लोगों पर फोड़ा ठीकरा और टेनिस कोर्ट में धोनी का जलवा

पाकिस्तान से सेमीफाइनल हारना निराशाजनक है : विलियम्सन


पाकिस्तान के खिलाफ टी20 विश्व कप का पहला सेमीफाइनल हारने के बाद, न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने कहा है कि आखिर में ऐसे हारना निराशाजनक है लेकिन टी20 क्रिकेट ऐसा ही होता है।

विलियमसन ने मैच के बाद बुधवार को कहा, "उन्होंने हम पर गेंद के साथ अच्छा खासा दबाव डाला। हमें लगा हमने अच्छा स्कोर डाला था लेकिन उन्होंने बढ़िया बल्लेबाजी की। हम हमेशा सभी विभागों में बेहतर करना चाहते थे लेकिन उनकी सलामी जोड़ी ने हमपर बढ़िया दबाव डाला।"

न्यूजीलैंड के कप्तान ने स्वीकार किया कि पाकिस्तान ने बुरी तरह से उन्हें मात दी। इस मैच में आगे बढ़ते हुए, मोहम्मद रिजवान और कप्तान बाबर आजम ने शानदार अर्धशतक लगाए और पाकिस्तान को आईसीसी टी20 विश्व कप 2022 के फाइनल में पहुंचाया, जबकि न्यूजीलैंड की टीम लगातार दूसरे फाइनल में नहीं पहुंच पायी।

विलियमसन ने कहा, "पाकिस्तान का मैच जीतना हमारे लिए निराशाजनक है। उन्होंने शानदार खेल दिखाया। हम मैच से पहले ही आउट हो गए थे। इस हार को भुला पाना मुश्किल है।"

लक्ष्य का पीछा करते हुए, सलामी बल्लेबाज मोहम्मद रिजवान और बाबर आजम ने शानदार बल्लेबाजी की और पाकिस्तान को धमाकेदार शुरूआत दी, पहले छह ओवरों में 55/0 का स्कोर बनाया।

विलियम्सन ने कहा, "बाबर और रिजवान ने हम पर दबाव बनाया। यदि मैं ईमानदार से कहूं, तो हम अपने क्षेत्रों में अधिक अनुशासित होना चाहते हैं। अंत में, पाकिस्तान निश्चित रूप से विजेता बनने का हकदार है। बहुत अच्छा क्रिकेट रहा है। पूरे राउंड रोबिन में हमने अच्छा खेला है। सेमीफाइनल में हम अपने सर्वश्रेष्ठ पर नहीं थे।"

कीवी कप्तान ने महसूस किया कि उनके गेंदबाजों में कुछ अनुशासन की कमी थी, इसलिए पाकिस्तान विजेता बनने का हकदार है।

उन्होंने कहा, "बाबर और रिजवान ने हम पर दबाव बनाया। हम अपने क्षेत्रों में अधिक अनुशासित होना चाहते थे। आखिरकार, पाकिस्तान निश्चित रूप से विजेता बनने का हकदार है। बहुत अच्छा क्रिकेट रहा है।"

विलियमसन ने अपनी टीम की बल्लेबाजी और उनके द्वारा बोर्ड पर लगाए गए कुल योग के बारे में भी बताया।

उन्होंने कहा, "हम पर जल्दी दबाव डाला गया था। पाकिस्तान ने बहुत अच्छी गेंदबाजी की। हम मिशेल की अविश्वसनीय पारी के साथ कुछ गति को वापस पाने में कामयाब रहे। आधे चरण में हम महसूस कर रहे थे कि यह एक प्रतिस्पर्धी कुल था, क्योंकि विकेट थोड़ा कठिन था।"

खेल की खबरें: हार के बाद रोहित शर्मा की आंखें हुई नम! इन लोगों पर फोड़ा ठीकरा और टेनिस कोर्ट में धोनी का जलवा

यूपी 2023-24 में खेलो इंडिया गेम्स की मेजबानी करेगा


उत्तर प्रदेश सरकार 2023-24 में राज्य के चार शहरों लखनऊ, गोरखपुर, वाराणसी और नोएडा में खेलो इंडिया नेशनल यूनिवर्सिटी गेम्स की मेजबानी करेगी।

नुख्य सचिव, खेल, नवनीत सहगल के अनुसार देश की लगभग 150 यूनिवर्सिटीज से लगभग 4500 एथलीट 20 खेलों में सम्मान के लिए अपनी चुनौती पेश करेंगे। इन खेलों में रोइंग, बास्केटबॉल, जूडो, कबड्डी, कुश्ती, तैराकी, मुक्केबाजी आदि शामिल हैं।

ओडिशा और कर्नाटक के बाद उत्तर प्रदेश को पहली बार नेशनल यूनिवर्सिटी गेम्स की मेजबानी करने का मौका मिला है।

खेलो इंडिया प्रतिनिधियों और उत्तर प्रदेश सरकार के अधिकारियों के बीच बैठक के दौरान लिए गए फैसलों के अनुसार कबड्डी, जूडो तीरंदाजी और तलवारबाजी जैसे खेल नोएडा में आयोजित होंगे जबकि गोरखपुर को रोइंग के लिए चिन्हित किया गया है। कुश्ती, मलखम्ब और योग जैसे खेल वाराणसी में होंगे जबकि शेष खेलों का आयोजन लखनऊ में होगा।

सहगल ने कहा, "26 वर्ष से कम उम्र के एथलीट नेशनल यूनिवर्सिटी गेम्स में हिस्सा ले पाएंगे। महिला खेलों पर खास ध्यान रहेगा। इन खेलों में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों को उच्च स्तर की सुविधाएं दी जाएंगी।"

सरकार ने 12 पूर्व खिलाड़ियों की नियुक्ति भी की है जिन्होंने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी छाप छोड़ी है। कम से कम 38 ऐसे अंतर्राष्ट्रीय एथलीटों को 16 विभिन्न खेलों के लिए 44 आवासीय होस्टल्स के लिए कोच नियुक्त किया जाएगा।


खेल की खबरें: हार के बाद रोहित शर्मा की आंखें हुई नम! इन लोगों पर फोड़ा ठीकरा और टेनिस कोर्ट में धोनी का जलवा

सीएएस ने इक्वाडोर को फीफा विश्व कप में खेलने की मंजूरी दी


इक्वाडोर इस साल के फीफा विश्व कप में खेलने के लिए स्वतंत्र होगा। कोर्ट ऑफ आर्ब्रिटेशन फॉर स्पोर्ट (सीएएस) ने फैसला सुनाया कि उसने क्वालीफायर राउंड के दौरान किसी अपात्र खिलाड़ी को मैदान में नहीं उतारा। अदालत ने मंगलवार को कहा, लेकिन सीएएस ने इक्वाडोरियन फुटबॉल फेडरेशन (एफईएफ) पर झूठी जानकारी के साथ एक दस्तावेज जमा करने के लिए 1,00,000 स्विस फैं्ऱ क का जुर्माना लगाया।

2026 विश्व कप क्वालीफाइंग अभियान की शुरूआत में इक्वाडोर को भी तीन अंक दिए जाएंगे।

समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, चिली महासंघ ने आरोप लगाया था कि पूर्ण पीठ वाले बायरन कैस्टिलो कोलंबियाई होने के बावजूद इक्वाडोर के लिए खेले थे, जिसे विश्व फुटबॉल शासी निकाय फीफा ने सितंबर के फैसले में खारिज कर दिया था।

कैस ने कहा कि उसने इक्वाडोर के अधिकारियों की गवाही को स्वीकार किया है कि कैस्टिलो इक्वाडोर का नागरिक था।

सीएएस ने कहा, "जबकि खिलाड़ी का इक्वाडोरियन पासपोर्ट प्रामाणिक था, उसमें प्रदान की गई कुछ जानकारी झूठी थी।"

विशेष रूप से, पैनल संतुष्ट था कि खिलाड़ी की तारीख और जन्म स्थान गलत था क्योंकि खिलाड़ी का जन्म 25 जून 1995 को कोलंबिया के टुमाको में हुआ था।

इक्वाडोर ने किसी भी गलत काम से इनकार किया है और एफईएफ के अधिकारियों ने कहा कि वे जुर्माना और अंक कटौती की अपील करने की संभावना का विश्लेषण कर रहे हैं।

दक्षिण अमेरिकी पक्ष अपने अन्य ग्रुप ए मैचों में सेनेगल और नीदरलैंड से मिलने से पहले 20 नवंबर को मेजबान कतर के खिलाफ टूर्नामेंट के पहले मैच में विश्व कप अभियान की शुरूआत करेगा।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia