खेल की 5 बड़ी खबरें: सौरव गांगुली के जीवन पर बनेगी फिल्म और गेल ने कहा- रनों की भूख अभी भी बाकी है

बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली के ऊपर फिल्म बनने जा रही है। इस अहम खबर की जानकारी का खुलासा खुद सौरव गांगुली ने एक न्यूज़ वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में किया है और टी 20 क्रिकेट में 14000 रन बनाने वाले एकमात्र बल्लेबाज बने वेस्टइंडीज के क्रिस गेल ने कहा है कि उनमें रनों की भूख अभी भी बाकी है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

सौरव गांगुली के जीवन पर बनेगी फिल्म, यह अभिनेता निभाएगा किरदार!

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व दिग्गज कप्तान और वर्तमान बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली के ऊपर फिल्म बनने जा रही है। इस अहम खबर की जानकारी का खुलासा खुद सौरव गांगुली ने एक न्यूज़ वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में किया है। सौरव गांगुली ने कहा कि हाँ मैंने अपनी फिल्म बायोपिक के लिए सहमती जता दी है। यह फिल्म हिंदी में होगी और मैं अभी डायरेक्टर का नाम उजागर नहीं कर सकता। सभी जानकारी एकत्रित करने में अभी कुछ दिन का समय लगेगा। इसलिए हमें अभी इंतज़ार करना होगा। सौरव गांगुली के ऊपर बनने जा रही इस फिल्म में उनका किरदार अभिनेता रणबीर कपूर निभा सकते हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार सौरव गांगुली ने खुद रणबीर कपूर का नाम इस बायोपिक के लिए लिया है। लेकिन इस लिस्ट में दो और अभिनेताओं का नाम जुड़ा है, जो उनके रोल को बड़े परदे पर निभाते हुए दिख सकते हैं।

इस बायोपिक में सौरव गांगुली के जीवन का सफ़र दिखाया जायेगा कि उन्होंने बचपन में किस प्रकार से क्रिकेट खेला और फिर भारत के लिए डेब्यू करते हुए लॉर्ड्स क्रिकेट ग्राउंड में शतक जड़ा था। इसके बाद किस प्रकार वह बीसीसीआई अध्यक्ष बने। क्रिकेट और सिनेमा जगत का रिश्ता पुराना ही रहा है। क्रिकेटर्स के ऊपर इससे पहले 3 बायोपिक मूवी बन चुकी है। सचिन तेंदुलकर , मोहम्मद अजहरुद्दीन और एमएस धोनी के जीवन पर फ़िल्में बड़े परदे पर आ चुकी है, जिसमें सबसे हिट फिल्म एमएस धोनी - द अनटोल्ड स्टोरी रही थी। सौरव गांगुली की फिल्म के लिए पहले ऋतिक रोशन का नाम सामने आ रहा था। लेकिन अब रणबीर कपूर इस रोल के लिए चुना जा सकते हैं। रणबीर कपूर ने इससे पहले अभिनेता संजय दत्त के जीवन पर संजू नामक बायोपिक में उनका किरदार निभाया था, जिसे दर्शकों ने काफी पसंद किया था।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

मिडफील्डर बिद्यानंदा सिंह एटीके मोहन बगान से जुड़े

इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) 2020-21 की फाइनलिस्ट एटीके मोहन बगान ने मिडफील्डर बिद्यानंदा सिंह के साथ एक साल का करार किया है। बिद्यानंदा पिछले सीजन में मुंबई सिटी एफसी की टीम में थे लेकिन उन्हें एक भी मैच में खेलने का मौका नहीं मिला था। यह दूसरी बार होगा जब बिद्यानंदा कोलकाता स्थित क्लब का प्रतिनिधित्व करेंगे। वह एटीके एफसी टीम के साथ पहले रह चुके है जिसने 2016 में खिताब जीता था। टीम के लिए छह मैच खेलने के बाद वह 2017 में बेंगलुरु एफसी में गए जहां उन्होंने बी टीम के लिए मुकाबले खेले। बिद्यानंदा ने एएफसी कप में सीनियर टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन किया था। वह बेंगलुरु एफसी के 2018-19 सीजन में भी हिस्सा थे लेकिन कोई मैच नहीं खेले थे। क्लब ने ट्विटर पर घोषणा करते हुए कहा, "हमें यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि बिद्यानंदा की सिटी ऑफ जॉय में वापसी हुई है।"

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

क्रिस गेल ने कहा- रनों की भूख अभी भी बाकी है

टी 20 क्रिकेट में 14000 रन बनाने वाले एकमात्र बल्लेबाज बने वेस्टइंडीज के क्रिस गेल ने कहा है कि उनमें रनों की भूख अभी भी बाकी है। गेल ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे टी 20 मुकाबले में 38 गेंदों पर सात छक्कों और चार चौकों की मदद से 67 रन बनाए और अपनी टीम को जीत दिलाने में अहम योगदान दिया। गेल इसके साथ ही पहले बल्लेबाज बने जिन्होंने टी20 में 14000 रन पूरे किए। उन्होंने देश के लिए 14वां टी20 अर्धशतक जड़ा। गेल ने कहा, "14000 टी20 रन बनाना अच्छी उपलब्धि है। मैं अपने लिए एक लक्ष्य सेट करता हूं और अब मैंने 15000 रन बनाने का सोचा है। यह जानना सुखद है कि मैं पहला व्यक्ति हूं जिसने टी20 में 14000 रन बनाए हैं, विशेषकर अर्धशतक और जीत के साथ।" उन्होंने कहा, "अभी काफी कुछ करना बाकी है और मैं इसमें सक्षम हूं। मुझमें रन बनाने की भूख अभी भी है। यह अच्छा है कि मैं रन बना सका क्योंकि पिछले कुछ समय से मेरा बल्ला खामोश था। मैं खुश हूं कि ऐसा कर सका लेकिन यह मेरे टीम के साथी खिलाड़ियों के बिना संभव नहीं था जो मुझे प्रेरित करते हैं।" गेल ने कहा, "कप्तान कीरोन पोलार्ड ने मुझे याद दिलाया कि बस वहां जाकर खुद का खेल खेलो और मुझे खुशी है कि मैं इस मैच में ऐसा कर सका।"

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

क्रिस गेल ने धुआंधार छक्के लगाकर वेस्टइंडीज को दिलाई जीत

वेस्टइंडीज ने सेंट लूसिया में खेले गए लगातार तीसरे टी20 मुकाबले में भी ऑस्ट्रेलिया को बुरी तरह हरा दिया है। पहले खेलते हुए ऑस्ट्रेलिया ने 6 विकेट पर 141 रन बनाए, जवाब में वेस्टइंडीज ने इस लक्ष्य को 15वें ओवर में ही 4 विकेट खोकर हासिल कर लिया। कैरेबियाई टीम के लिए क्रिस गेल ने लंबे समय बाद फॉर्म में वापसी की और धुआंधार पारी खेलते हुए जीत दिला दी। उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया। ऑस्ट्रेलिया के कप्तान आरोन फिंच ने टॉस जीतकर बैटिंग करने का फैसला किया। मैथ्यू वेड और फिंच ने पहले विकेट के लिए 5 ओवर में 41 रनों की साझेदारी की। वेड ने 16 गेंद पर 23 और कप्तान फिंच ने 31 गेंद पर 30 रन बनाए। इस सीरीज में अब तक अच्छा प्रदर्शन करते आए मिचेल मार्श इस बार फ्लॉप रहे और केवल 9 रन ही बना पाए। मोइसिस हेनरिक्स ने 33 और एश्टन टर्नर ने 24 रनों की पारी खेल कंगारू टीम को किसी तरह 141 के स्कोर तक पहुंचाया। लक्ष्य का पीछा करने उतरी वेस्टइंडीज के सलामी बल्लेबाज ज्यादा रन नहीं बना पाए। आंद्रे फ्लेचर सिर्फ 4 रन बनाकर आउट हो गए और लेंडल सिमंस ने 15 रन बनाए। हालांकि इसके बाद क्रिस गेल और कप्तान निकोलस पूरन ने जबरदस्त पारी खेल टीम को आसान जीत दिला दी। क्रिस गेल ने सिर्फ 38 गेंद पर 4 चौके और 7 छक्के की मदद से 67 रनों की धुआंधार पारी खेली। उनके अब टी20 क्रिकेट में 14 हजार रन भी पूरे हो गए हैं। दूसरी तरफ निकोलस पूरन ने 27 गेंद पर नाबाद 32 रन बनाए और वेस्टइंडीज ने 14.5 ओवर में लक्ष्य को हासिल कर लिया। इस जीत के साथ वेस्टइंडीज ने सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त बना ली है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

ओलंपिक टीम का हिस्सा बनने का सपना पूरा होने में 12 साल लगे : रोहिदास

भारतीय पुरुष हॉकी टीम के डिफेंडर अमित रोहिदास ने मंगलवार को कहा कि उन्हें ओलंपिक टीम का हिस्सा बनने का सपना पूरा करने में 12 साल लगे। 28 वर्षीय डिफेंडर जिन्होंने भारत के लिए 97 मैच खेले हैं उन्होंने बताया कि वह अपने हर कोच का आभार व्यक्त करते हैं जिन्होंने उन्हें बेहतर खिलाड़ी बनाने में मदद की। रोहिदास ने कहा, "मुझे यहां पहुंचने में 12 साल लगे और मैं ओलंपिक टीम का हिस्सा बनकर काफी खुश हूं। मेरा सबसे बड़ा सपना अब पूरा हुआ है। मैं अपने हर कोच का आभारी हूं जिन्होंने मुझे एक बेहतर हॉकी खिलाड़ी बनाने में मदद की। मेरा एकमात्र मकसद टोक्यो में सफल कैंपेन करना है।" उन्होंने कहा, "दिलीप तिर्की ने मेरे गांव के हर उस इंसान को प्रेरित किया है जो हॉकी में दिलचस्पी रखते है। मैं जहां से आता हूं, वहां हॉकी न केवल एक खेल अनुशासन बल्कि सामाजिक-आर्थिक विकास का वाहन है।" रोहिदास ने 2013 में मलेशिया में हुए सुल्तान अजलान शाह कप से डेब्यू किया था। वह 2013 एशिया कप में रजत पदक जीतने वाली टीम का हिस्सा थे। रोहिदास ने कहा, "मैं अंडर-18 एशिया कप के लिए चुना गया जहां मुझे सात गोल दागने के कारण बेस्ट प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट का अवॉर्ड मिला। इसके बाद मेरा सीनियर टीम में प्रोमोशन हुआ। इसके कुछ समय बाद मैं दिल्ली में हुए एफआईएच जूनियर विश्व कप में उपकप्तान बना जहां हम अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके और मुझे लगा कि मेरे लिए सब खत्म हो गया।"

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia