खेल की 5 बड़ी खबरें: राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों के लिए ई-मेल से मांगे गए नामांकन और गेंद चमकाने के लिए वैक्स फॉर्मूला तैयार!

खेल मंत्रालय ने लॉकडाउन को देखते हुए इस साल राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों के दावेदारों से ई-मेल के जरिये नामांकन भेजने को कहा है और आस्ट्रेलिया की क्रिकेट गेंद निमार्ता कंपनी कूकाबुरा ने एक ‘वैक्स एप्लिकेटर’ तैयार किया है, जिसके माध्यम से बॉल पर लार या पसीने को लगाए बिना गेंद को चमकाया जा सकता है।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

खेल मंत्रालय ने खेल रत्न सहित विभिन्न अवॉर्ड के लिए ई-मेल के जरिए मांगे नामांकन

खेल मंत्रालय ने कोविड-19 महामारी के कारण लॉकडाउन को देखते हुए इस साल राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों के दावेदारों से ई-मेल के जरिये नामांकन भेजने को कहा है। मंत्रालय प्रतिष्ठित राजीव गांधी खेल रत्न सहित अन्य खेल पुरस्कारों के लिए चयन की प्रक्रिया शुरू कर रहा है। आम तौर पर अप्रैल में शुरू हो वाली यह प्रक्रिया लॉकडाउन के कारण मई तक खिसक गई थी। लॉकडाउन का तीसरा चरण शुरू हो चुका है जो 17 मई तक चलेगा। मंत्रालय के सर्कुलर के अनुसार, ‘कोविड-19 के प्रकोप के कारण लॉकडाउन के चलते नामांकन की कागजी प्रति भेजने की जरूरत नहीं है। नामांकन की आवेदक और सिफारिश करने वाले अधिकारियों के हस्ताक्षर वाली स्कैन प्रति आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि से पूर्व भेजी जा सकती है।’

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया

बत्रा ने एनएसएफ से खेल गतिविधियों को चालू करने को लेकर मांगा फीडबैक

भारतीय ओलम्पिक संघ (आईओए) के अध्यक्ष नरेंद्र बत्रा ने मंगलवार को राष्ट्रीय खेल महासंघों (एनएसएफ) से खेल गतिविधियों को दोबारा शुरू करने को लेकर समर्थन और उनका फीडबैक मांगा है। इस समय कोविड-19 के कारण पूरे देश में लॉकडाउन है और सभी तरह की खेल गतिविधियां बंद हैं। बत्रा ने एनएसएफ को लिखे पत्र में कहा कि वह ओलम्पिक सहित अन्य अहम टूर्नामेंट की तैयारियों को लेकर देश में खेल गतिविधियों को शुरू करने पर सभी का विचार और समर्थन चाहते हैं। बत्रा द्वारा एनएसएफ को लिखे गए पत्र की एक प्रति आईएएनएस के पास है। पत्र में बत्रा ने लिखा है, "मैं देश में कोविड-19 के कारण सरकार द्वारा जारी की गई गाइडलाइंस को मानते हुए सुरक्षित माहौल में खेल गतिविधियों को शुरू करने और ओलम्पिक सहित अन्य अहम टूर्नामेंट्स की तैयारी के लिए आपका समर्थन और फीडबैक जानना चाहता हूं।"बत्रा ने आगे लिखा, "29 स्लाइड का एक डॉक्यूमेंट जिसमें से 28 पर गूगल लिंक है वो आपको निजी तौर पर मैसेज में भेजा गया है। आप लोग उसे पढ़ें और भर कर भेजें। मैं आईओए की सीनियर निदेशक नेहा मेहश्वरी से आपको यह डॉक्यूमेंट ई-मेल करने को भी कहूंगा।"

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया

टी-20 वर्ल्ड कप में मेजबानी नहीं, दर्शक हैं बड़ा मुद्दा: ऑस्ट्रेलियाई खेल मंत्री

ऑस्ट्रेलिया के खेल मंत्री रिचर्ड कोलबेक ने कहा कि उनका देश टी-20 वर्ल्ड कप के लिए टीमों की मेजबानी करने की चुनौती से पार पा सकता है, लेकिन मुख्य मुद्दा यह है कि क्या टूर्नामेंट का आयोजन दर्शकों के बिना खाली स्टेडियमों में करना सही होगा। टी20 वर्ल्ड कप और भारतीय टीम के ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं, क्योंकि अभी यात्रा संबंधी पाबंदियां लगी हुई हैं और यह भी सुनिश्चित नहीं है कि कोविड-19 महामारी को नियंत्रित करने में कितना समय लगेगा। कोलबेक ने कहा, अगर ये दोनों टूर्नामेंट नहीं होते हैं तो क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को 30 करोड़ ऑस्ट्रेलियाई डॉलर का नुकसान हो सकता है। मैं ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच टेस्ट सीरीज देखना चाहूंगा। मैं वास्तव में चाहता हूं कि वर्ल्ड कप तय कार्यक्रम के अनुसार आयोजित किया जाए।’ उन्होंने कहा, ‘टीमें इतना बड़ा मुद्दा नहीं है जितना दर्शक हैं और यह एक ऐसी बाधा है जिसके बारे में वास्तव में हमें विचार करना होगा और विश्व क्रिकेट को भी जिसके बारे में गंभीरता से सोचना होगा।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया

लार के बिना गेंद को चमकाने के लिए कूकाबुरा लाया वैक्स एप्लिकेटर

कोविड-19 खतरों के बीच गेंद को चमकाने के लिए लार या पसीने के इस्तेमाल पर प्रतिबंध को लेकर चर्चा जोरों पर है। इस बीच, आस्ट्रेलिया की क्रिकेट गेंद निमार्ता कंपनी कूकाबुरा ने एक 'वैक्स एप्लिकेटर' तैयार किया है, जिसके माध्यम से बॉल पर लार या पसीने को लगाए बिना गेंद को चमकाया जा सकता है। सिडनी मॉनिर्ंग हेराल्ड की रिपोर्ट के अनुसार, कूकाबुरा ने वैक्स एप्लिकेटर तैयार करने पर काम करना शुरू कर दिया है, जो कि एक महीने के अंदर तैयार हो जाएगा। कूकाबुरा के प्रबंध निदेशक ब्रेट एलियट ने कहा, " जोखिम से बचने के लिए सबसे प्रभावी तरीका पारंपरिक चमक पर एक अस्थायी प्रतिबंध लगाना होगा। क्रिकेट शुरू होने के बाद सुरक्षा की ²ष्टि से यह तुरंत शुरू किया जा सकता है।"

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया

ईसीबी ने द हंड्रेड के खिलाड़ियों के करार को किया रद्द

इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने 'द हंड्रेड' टूर्नामेंट के लिए अनुबंधित किए गए खिलाड़ियों के करार को समाप्त कर दिया है। यह नया टूर्नामेंट पहले ही स्थगित किया जा चुका है। पिछले सप्ताह ही ईसीबी ने द हंड्रेड के पहले संस्करण को अगले साल तक के लिए टाल दिया है। यह 100 गेंदों का टूर्नामेंट आठ टीमों के बीच खेला जाना है। इसके लिए सभी आठ पुरुष टीमों ने अपनी खिलाड़ी चुन लिए थे जबकि महिला टीमें खिलड़ियों का चयन कर रही थीं। अब जबकि लीग में एक साल की देरी हो रही है तो बोर्ड ने खिलाड़ियों के अनुबंध को भी समाप्त कर दिया है। बीबीसी ने ईसीबी द्वारा जारी बयान के हवाले से लिखा है, "हम इस बात की पुष्टि करते हैं कि सभी खिलाड़ियों को अनुबंध समाप्त करने को लेकर पत्र भेजा जा चुका है।"

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

लोकप्रिय