खेल की खबरें: स्टुअर्ट को मौका न दिए जाने से स्मिथ हैरान और अश्विन ने बताया उनके करियर का क्या रहा लैंडमार्क मोमेंट

स्टीव स्मिथ इस बात से हैरान हैं कि इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड को अब तक एशेज सीरीज के दो मैचों में शामिल नहीं किया गया है और भारतीय टीम के दिग्गज स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन ने बताया है कि उनके करियर का अभी तक का सबसे बेहतरीन मोमेंट क्या रहा है।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

दो एशेज टेस्ट में स्टुअर्ट ब्रॉड को मौका न दिए जाने से स्टीव स्मिथ हैरान

ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के उपकप्तान स्टीव स्मिथ इस बात से हैरान हैं कि इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड को अब तक एशेज सीरीज के दो मैचों में शामिल नहीं किया गया है। उनका कहना है कि उनके जैसे विश्व स्तरीय गेंदबाज को हमेशा प्राथमिकता मिलनी चाहिए। 35 वर्षीय ब्रॉड टेस्ट विकेट लेने वालों की सूची में छठे स्थान पर हैं, जिन्होंने अब तक 526 विकेट लिए हैं। वह देश के साथी जिमी एंडरसन (639 विकेट) और पूर्व ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज ग्लेन मैकग्रा (563 विकेट) के बाद तीसरे स्थान पर हैं। फिर भी ब्रॉड को गाबा में शुरुआती टेस्ट से बाहर कर दिया गया, जिसमें इंग्लैंड को नौ विकेट से हार का सामना करना पड़ा। हालांकि उन्हें एडिलेड में दूसरे टेस्ट में शामिल किया गया था, लेकिन इसके बाद एमसीजी में फिर से बाहर कर दिया गया था, जिसमें इंग्लैंड की एक पारी और 14 रनों से हार हुई थी।

उपकप्तान स्मिथ ने सोमवार को क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू को बताया, "हम ब्रॉड के बाहर होने से हैरान हैं।" उन्होंने कहा, "उन्होंने एडिलेड में अच्छी गेंदबाजी की। वह हमेशा मेरे लिए एक बेहतर गेंदबाज रहे हैं। उन्होंने मुझे काफी बार आउट किया है। मैंने उनकी गेंद पर कुछ रन भी बनाए हैं। अगर उनको मौका मिलता तो अच्छा मुकाबला होता।" शीर्ष क्रम के ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज ने कहा कि वह सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (एससीजी) में चौथे टेस्ट में ब्रॉड को प्लेइंग इलेवन में देखने के लिए आशान्वित है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

अश्विन ने बताया उनके करियर का क्या रहा लैंडमार्क मोमेंट

भारतीय टीम के दिग्गज स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन ने बताया है कि उनके करियर का अभी तक का सबसे बेहतरीन मोमेंट क्या रहा है। अश्विन ने 2010 में चैंपियंस लीग को अपने करियर का सबसे बेहतरीन मोमेंट बताया है और कहा है कि उस ट्रॉफी को अभी भी वो पहले स्थान पर रखते हैं। रविचंद्रन अश्विन ने बताया कि किस तरह 2010 के चैंपियंस लीग के दौरान उन्होंने मैंन ऑफ द टूर्नामेंट का अवॉर्ड जीता था और उनकी टीम ने फाइनल मुकाबला भी अपने नाम किया था। अश्विन के मुताबिक ये उनके करियर का एक लैंडमार्क मोमेंट था। उन्होंने कहा "2009 का आईपीएल खेलने के बाद मुझे याद है हम 2010 में चैंपियंस लीग खेल रहे थे। ये वही जगह है जहां पर हम चैंपियंस लीग का फाइनल खेलने आए थे। हमने शेवरोलेट वॉरियर्स के खिलाफ फाइनल मुकाबला खेला था और जीत हासिल की थी। मुझे प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट चुना गया था और उसे मैं अपने करियर का लैंडमार्क मोमेंट मानता हूं। अपने कैबिनेट में वो ट्रॉफी अभी भी मैं पहले स्थान पर रखता हूं। मैंने गेम में विकेट भी लिया था। वॉरियर्स के कप्तान के तौर पर डेवी जैकब्स काफी अच्छे फॉर्म में थे और वो मुंबई इंडियंस टीम का भी हिस्सा थे। उस समय मुझे उनका रिवर्स स्वीप याद है।"

फोटो: IANS
फोटो: IANS

पाकिस्तान के खिलाड़ी मोहम्मद हफीज ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से लिया संन्यास

पाकिस्तान के हरफनमौला खिलाड़ी मोहम्मद हफीज ने सोमवार को 18 साल अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेलने के बाद संन्यास की घोषणा की है। हालांकि, हफीज फ्रेंचाइजी क्रिकेट प्रतियोगिताओं में खेलना जारी रखेंगे। 41 वर्षीय हफीज ने 3 अप्रैल, 2003 को जिम्बाब्वे के खिलाफ शारजाह में पाकिस्तान के लिए डेब्यू किया था। उन्होंने कुल मिलाकर 392 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में शिरकत की, जिसमें 55 टेस्ट, 218 वनडे और 119 टी20 मैच शामिल हैं। हफीज ने 12,780 रन बनाए और 253 विकेट लिए। उन्होंने 29 टी20 सहित 32 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में पाकिस्तान की कप्तानी भी की। हफीज ने कहा, "आज मैं गर्व और संतुष्टि के साथ अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह रहा हूं। वास्तव में, मैंने जितना सोचा था, उससे कहीं अधिक हासिल किया है और इसके लिए, मैं अपने सभी साथी क्रिकेटरों, कप्तानों, सहयोगी स्टाफ और पाकिस्तान क्रिकेट का आभारी हूं। साथ ही मैं पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड का भी धन्यवाद करना चाहता हूं, जिसने मेरी मदद की।"

कुल मिलाकर हफीज, जिन्हें 'प्रोफेसर' के नाम से भी जाना जाता है, उन्होंने तीन क्रिकेट विश्व कप (2007, 2011 और 2019), छह टी20 विश्व कप (2007, 2010, 2012, 2014, 2016 और 2021) और तीन आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी ( 2006, 2013 और 2017) में भाग लिया है। वह सरफराज अहमद के नेतृत्व वाली टीम के सदस्य थे, जिसने इंग्लैंड और वेल्स में 2017 में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी जीती थी। उन्होंने कहा, "मैं बेहद भाग्यशाली और गौरवान्वित हूं कि मुझे 18 साल तक पाकिस्तान के लिए खेलने का मौका मिला। मेरे लिए मेरा देश और मेरी टीम हमेशा सबसे आगे रही हैं और इसलिए, हर बार जब मैंने मैदान पर कदम रखा, तो क्रिकेट की भावना के अंतर्गत अपनी छवि को बढ़ाने की कोशिश की।" हफीज ने दिसंबर 2018 में टेस्ट क्रिकेट छोड़ दिया था और लॉर्डस में 2019 क्रिकेट विश्व कप में बांग्लादेश के खिलाफ अपना आखिरी वनडे मैच खेला था।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

चोट के कारण जोहान्सबर्ग टेस्ट से बाहर हुए विराट कोहली

भारत के कप्तान विराट कोहली को चोट के कारण वांडर्स में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टेस्ट से बाहर हो गए हैं, उनकी जगह उपकप्तान केएल राहुल टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। राहुल अब टेस्ट क्रिकेट में भारत की कप्तानी करने वाले 34वें क्रिकेटर बन गए हैं। भारत तीन मैचों की श्रृंखला में 1-0 से आगे है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने कहा कि कोहली की मेडिकल टीम द्वारा निगरानी की जाएगी। उन्होंने कहा, "टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली को आज चोट के कारण दूसरे टेस्ट से बाहर हो गए हैं। बीसीसीआई की मेडिकल टीम इस टेस्ट मैच के दौरान उनकी निगरानी करेगी। राहुल उनकी अनुपस्थिति में टीम की कप्तानी करेंगे।" अब कोहली अपना 100वां टेस्ट केपटाउन के न्यूलैंड्स में खेल सकते हैं या फिर भारत के कार्यक्रम के अनुसार, कोहली अपना 100वां टेस्ट बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेल सकते हैं, जहां श्रीलंका के खिलाफ पहला टेस्ट 25 फरवरी को होना है। टॉस में कोहली की अनुपस्थिति के बारे में पूछे जाने पर राहुल ने उम्मीद जताई थी कि वह 11 जनवरी से केपटाउन में होने वाले अंतिम टेस्ट के लिए उपलब्ध होंगे। बीसीसीआई ने यह भी कहा कि तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह दूसरे टेस्ट के लिए टीम के उपकप्तान होंगे। इसस पहले बुमराह को एकदिवसीय श्रृंखला के लिए उपकप्तान नियुक्त किया गया था, जो टेस्ट श्रृंखला समाप्त होने के बाद शुरू होगी।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

पहला टेस्ट : तीसरे दिन का खेल खत्म, बांग्लादेश का स्कोर 401/6, न्यूजीलैंड के खिलाफ 73 रनों की बनाई बढ़त

कप्तान मोमिनुल हक (88) और विकेटकीपर-बल्लेबाज लिटन दास (86) की पारी के बदौलत सोमवार को यहां न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में बांग्लादेश ने तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक छह विकेट पर 401 रन बनाए। बांग्लादेश ने पहली पारी में 73 रनों की महत्वपूर्ण बढ़त बना ली है और न्यूजीलैंड के कुल 328 रनों के जवाब में चार विकेट अभी भी बरकरार हैं। पहले सत्र में बांग्लादेश 175/2 आगे खेलते हुए उन्होंने 2 विकेट खोकर 45 रन ही जोड़ सके। इस दौरान, नील वैगनर ने दिन के तीसरे ओवर में महमूदुल हसन जॉय का विकेट लिया, जो 78 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद, मुशफिकुर रहीम (12) ट्रेंट बोल्ट की गेंद पर पवेलियन लौट गए। इस प्रकार लंच तक कप्तान मोमिनुल और दास क्रीज पर मौजूद रहे। दूसरे सत्र में लिटन और मोमिनुल ने बांग्लादेश को मजबूत शुरुआत दी, क्योंकि लिटन ने चौकों की झड़ी लगा दी और मोमिनुल ने भी कीवी गेंदबाजों की परीक्षा ली, विशेष रूप से जेमीसन और वैगनर की। इससे मेजबान गेंदबाज निराश हो गए क्योंकि दोनों ने चाय ब्रेक से पहले बिना विकेट खोए टीम के लिए 87 रन जोड़े। चाय के बाद दोनों बल्लेबाज अच्छे टच में दिख रहे थे और अपने-अपने शतकों की ओर बढ़ रहे थे, लेकिन इस शतकीय साझेदारी को बोल्ट ने तोड़ दिया, जब मोमिनुल को 88 रनों पर आउट कर दिया। इसके बाद, बोल्ट ने लिटन को भी आउट कर दिया, इस तरह दोनों अपने शतक से चूक गए। इस प्रकार तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक बांग्लादेश ने 401/6 रन बनाए। यासिर अली (नाबाद 11) और मेहदी हसन (नाबाद 20) रन बनाकर क्रीज पर मौजूद हैं। संक्षिप्त स्कोर : न्यूजीलैंड 328 , बांग्लादेश 156 ओवर में 401/6 (महमूदुल हसन जॉय 78, नजमुल हुसैन शान्तो 64, मोमिनुल हक 88, लिटन दास 86 ट्रेंट बोल्ट 3/61)।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia