खेल की 5 बड़ी खबरें: टीम इंडिया के इस बड़े क्रिकेटर ने लिया संन्यास और इन खिलाड़ियों को शतक बनाते देखना चाहते हैं इंजमाम

भारतीय ऑलराउंडर स्टुअर्ट बिन्नी ने 37 साल की उम्र में क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास की घोषणा कर दी है और इंजमाम उल हक ने कहा कि वो विराट कोहली, चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे को शतक बनाते देखना चाहते हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

भारत के इस ऑलराउंडर ने क्रिकेट के सभी प्रारूपों से लिया संन्यास

भारतीय ऑलराउंडर स्टुअर्ट बिन्नी ने 37 साल की उम्र में क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास की घोषणा कर दी है। बिन्नी ने आखिरी बार अगस्त 2016 में अमेरिका के लौडरहिल में वेस्टइंडीज के खिलाफ टी 20 मैच खेला था। बिन्नी ने सोमवार को एक ब्यान जारी कर कहा, "मैंने अंतरराष्ट्रीय और प्रथम श्रेणी क्रिकेट से संन्यास लेने का फैसला किया है। मुझे मेरे देश के लिए उच्च स्तर पर प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला जो मेरे लिए सौभाग्य और गर्व की बात है।" साल 2003- 04 से लेकर 2018/19 तक बिन्नी घरेलू क्रिकेट में कर्नाटक के लिए खेले। वह 2013/14 के सत्र में रणजी ट्रॉफी विजेता टीम के स्दस्य भी रहे। बाद में उन्होंने 2019/20 के सत्र में नागालैंड के लिए खेला। बिन्नी ने कुल 34.25 के औसत से 4,796 रन बनाए जबकि 32.36 के औसत से 148 विकेट झटके। टी 20 क्रिकेट में बिन्नी ने 20.01 के औसत से 1641 रन बनाए जबकि 25.87 के औसत से 73 विकेट अपने नाम किए। अपने लिस्ट ए करियर में उन्होंने 25.54 के औसत से 1,788 रन बनाए तो वहीं 32.31 के औसत से 99 विकेट लिए। बिन्नी ने कहा, "मैं भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) का शुक्रगुजार हूं। मेरे क्रिकेट करियर में बोर्ड का बहुत बड़ा योगदान रहा है। अगर मैं कर्नाटक प्रदेश में नहीं होता तो मेरा क्रिकेट का सफर शुरु भी नहीं होता। मुझे गर्व है कि मैने इस प्रदेश का प्रतिनिधित्व किया और खिताब भी जीता।" बिन्नी ने आईपीएल करियर की शुरुआत 2010 में मुबंई इंडियंस के साथ की थी। 2011 से 2015 तक और 2018 से 2019 तक वह राजस्थान रॉयल्स के हिस्सा थे। 2106 में बिन्नी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम से खेले थे। आईपीएल में बिन्नी के नाम 65 मैचों में 880 रन और 22 विकेट शामिल हैं।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

वोक्स की इंग्लैंड टीम में वापसी, बटलर चौथे टेस्ट से बाहर

भारत के खिलाफ दो सितंबर से ओवल में खेले जाने वाले चौथे टेस्ट के लिए इंग्लैंड के हरफनमौला खिलाड़ी क्रिस वोक्स की टीम में वापसी हुई है। इंग्लैंड के कोच क्रिस सिल्वरवुड ने कहा कि वोक्स गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनो में टीम को मजबूत बनाएंगे। सिल्वरवुड ने कहा कि, वोक्स की वापसी से टीम को अगले टेस्ट में और मदद मिलेगी। मध्यक्रम में उनके बल्ले और गेंद की क्षमताओं को हम मिस कर रहे थे। हम उनको ओवल में प्रयास करते हुए देखने के लिए उत्साहित हैं। सिल्वरवुड ने आगे कहा कि मार्क वुड अपने कंधे की चोट से उभर रहे है। उन्होंने हेडिंग्ले में गेंदबाजी कोच जॉन लुईस के साथ अभ्यास किया है और बिना किसी परेशानी के साथ गेंदबाजी की है। सिल्वरवुड ने आखिरी में कहा, सीरीज में पहली बार हमारे पास गेंदबाजी को लेकर कई विकल्प हैं। चौथे टेस्ट के लिए इंग्लैंड की टीम इस प्रकार है: जोए रुट (कप्तान), मोईन अली, जेम्स एंडरसन, जोनाथन बेयरस्टो, सैम बिलिंग्स, रोरी बर्न्‍स, सैम करेन, हसीब हमीद, डैन लॉरेंस, डेविड मलान, क्रेग ओवरटन, ओली पोप, ओली रोबिंन्सन, क्रिस वोक्स, मार्क वुड।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

इन तीन खिलाड़ियों को शतक बनाते देखना चाहते हैं इंजमाम

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान इंजमाम उल हक ने कहा कि अगर विराट कोहली, चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे जैसे खिलाड़ी बड़ा स्कोर बनाने से चूकते रहे तो भारतीय टीम दबाव में आ जाएगी। कोहली और पुजारा ने करीब दो साल से शतक नहीं जड़ा है जबकि रहाणे ने आखिरी बार पिछले साल दिसंबर में शतक बनाया था। पुजारा ने इंग्लैंड के खिलाफ हेडिंग्ले में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच की दूसरी पारी में 91 और कोहली ने 55 रन बनाए थे। अपने यू-ट्यूब चैनल पर इंजमाम ने कहा, "अगर आप भारत की बल्लेबाजी लाइनअप को देखें तो कोहली ने करीब दो साल से शतक नहीं बनाया है। ऐसा ही कुछ पुजारा और रहाणे के साथ है।" उन्होंने कहा, "ऋषभ पंत ने रन बनाए हैं और रवींद्र जडेजा तथा रविचंद्रन अश्विन ने भी योगदान दिया है। इन अनुभवी खिलाड़ियों की तुलना में युवा खिलाड़ियों ने ज्यादा योगदान दिया है।" इंजमाम का मानना है कि ऑस्ट्रेलिया सीरीज से भारत के लिए निचले क्रम के बल्लेबाजों ने ज्यादा योगदान दिया है। इंजमाम ने कहा, "कोहली दुनिया के नंबर-1 खिलाड़ी हैं। पुजारा और रहाणे अच्छे टेस्ट खिलाड़ी हैं। लेकिन अगर इनके शतक के बीच समय का बड़ा अंतर रहा तो युवा खिलाड़ी दबाव में आ जाएंगे।"

फोटो: IANS
फोटो: IANS

रिकी पोंटिंग ने ऑस्ट्रेलियाई कोच लेंगर का समर्थन किया

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग ने टीम के मुख्य कोच जस्टिन लेंगर का समर्थन किया है। लेंगर, क्रिकेटर और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के बीच विवाद के बाद गत 18 अगस्त को आपातकालीन जूम मीटिग बुलाई गई जिसमें बोर्ड के चैयरमैन इएर्ल एडिंग्स, सीईओ निक हॉक्ली, टेस्ट कप्तान टिम पैन और सीमित ओवरों के कप्तान आरोन फिंच तथा उपकप्तान पैट कमिंस शामिल हुए। पोंटिंग ने कहा, "मुझे इसमें कोई शक नहीं है कि पिछले कुछ सप्ताह में काफी नकारात्मकता फैली है। मुझे लेंगर के लिए दुख है और मैंने उन्हें कई बार फोन किया है। वे विंडीज और बांग्लादेश के कठिन दौरे के बाद वापस लौटे और लेंगर ने खुद को एडिलेड में क्वारंटीन के दौरान होटल के कमरे में बंद कर लिया। मैं और उनके कुछ करीबी दोस्त उनके पास पहुंचे।" लेंगर के नेतृत्व में ऑस्ट्रेलिया को विंडीज के खिलाफ 1-4 और बांग्लादेश के खिलाफ भी 1-4 से हार का सामना करना पड़ा।

फोटो: IANS
फोटो: IANS

मुंबई के पूर्व क्रिकेटर वासु परांजपे का हुआ निधन

मुंबई के पूर्व क्रिकेटर वासु परांजपे का 82 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। उन्होंने मुंबई और बड़ौदा दोनों की तरफ से 29 प्रथम श्रेणी मुकाबले खेले थे। वह 1956 से लेकर 1970 के दौरान खेले थे। उन्हें लीडरशिप क्वालिटी और मजाकिया स्वभाव के लिए जाना जाता था। खिलाड़ी भी उनको एक प्रभावशाली व्यक्तित्व मानते थे। उनके बेटे जतिन परांजपे भारत के लिए खेल चुके हैं। परांजपे ने अपने प्रथम श्रेणी करियर में 23.78 की औसत से 785 रन बनाए और नौ विकेट झटके। इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि उन्होंने सुनील गावस्कर, दिलीप वेंगसरकर और रोहित शर्मा सहित शहर से उभरने वाले कई अन्य प्रमुख क्रिकेटरों को सलाह और कोचिंग दी। उनको कोचिंग कौशल के लिए भी जाना जाता था।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia