Tokyo Olympics: पीवी सिंधु का शानदार प्रदर्शन, डेनमार्क की मिया को हराया, अब पदक से 1 कदम हैं दूर

रियो ओलंपिक में रजत पदक जीत चुकीं सिधु ने गुरुवार को मुशाशीनो फॉरेस्ट प्लाजा कोर्ट नम्बर-3 पर डेनमार्क की मिया ब्लीचफेट को सीधे गेम में हराया। सिंधु ने 41 मिनट तक चले मुकाबले में मिया के खिलाफ 21-15, 21-13 से जीत दर्ज की।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

भारत की अग्रणी महिला बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु यहां जारी ओलंपिक खेलों की बैडमिंटन स्पर्धा के महिला एकल मुकाबलों के क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई हैं। अब सिंधु कम से कम कांस्य पदक से महज एक कदम दूर हैं। रियो ओलंपिक में रजत पदक जीत चुकीं सिधु ने गुरुवार को मुशाशीनो फॉरेस्ट प्लाजा कोर्ट नम्बर-3 पर डेनमार्क की मिया ब्लीचफेट को सीधे गेम में हराया। सिंधु ने 41 मिनट तक चले मुकाबले में मिया के खिलाफ 21-15, 21-13 से जीत दर्ज की।

23 वर्षीय मिया ने सिंधु पर हावी होने की कोशिश की, इस दौरान कुछ शटल कोर्ट से बाहर गए, जो उनके पक्ष में नहीं गए। इसके लिए भारतीय खिलाड़ी ने कोर्ट को कवर करने की पूरी कोशिश की। अपने प्रतिद्वंद्वी की तुलना में कम गलतियां करते हुए सिंधु ने पहले गेम में 10-5 की बढ़त बना ली।

मिया के बैकहैंड फोरकोर्ट पर एक क्रॉसकोर्ट स्मैश ने सिंधु को 11-6 से बढ़त दिला दी। उसी एरिया में एक गलती हुई और सिंधु 12-6 से आगे हो गईं।

हालांकि, 26 वर्षीय सिंधु की बढ़त कम हो रही थी, जब मिया ने वापसी के लिए कई शानदार कोशिशें की। मिया ने स्मैश के साथ कुछ बेहतरीन रैलियां की और स्कोर को 11-13 कर दिया।

इसके बाद भारतीय खिलाड़ी ने शानदार खेल दिखाया और डेनमार्क की खिलाड़ी को कोई मौका दिए बिना गेम को 21-15 से अपने नाम कर लिया।

दूसरे गेम की शुरूआत हुई तो सिंधु ने स्मैश की झड़ी लगा दी। इस कोशिश के बाद मिया से कई गलतियां हुई, जिसकी बदौलत सिधु ने 5-0 की बढ़त हासिल कर ली। दूसरे गेम में पिछड़ने के बाद मिया की सर्विस भी सही नही हो रही थी। सिधु ने इसके बाद फोरहैंड कॉर्नर के करीब एक शानदार क्रॉसकोर्ट लगाया 9-4 से बढ़त बना ली। धीरे- धीरे गेम में भारतीय खिलाड़ी की पकड़ मजबूत होती जा रही थी गेम ब्रेक तक सिधु ने 11-6 की बढ़त हासिल कर ली थी।


मिया की ओर से लगातार गलतियां होती रहीं और सिंधु लगातार हावी होती जा रही थीं। सिंधु ने 20-11 से बढ़त बना ली। इसके बाद डेनमार्क की मिया ने दो गेम प्वाइंट बचाए लेकिन वो अपना मुकाबला बचाने में असफल रहीं। इस तरह भारतीय खिलाड़ी ने जीत के बाद क्वार्टरफाइनल में जगह बना ली है। सिंधु ने ग्रुप जे में टॉप पर रहते हुए नॉकआउट दौर के लिए क्वालीफाई किया था। उन्होंने अपने दोनों ग्रुप चरण के मैच जीते थए।

बैडमिंटन में अब सिंधु से ही पदक की उम्मीद है। पुरुष एकल में बी. साई प्रणीत और पुरुष युगल में सात्विक साईराज वेंकीरेड्डी तथा चिराग शेट्टी की जोड़ी पहले ही बाहर हो चुकी है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia