खेल की 5 बड़ी खबरें: वनडे में कप्तान कोहली से ऊपर सचिन और अश्विन बोले- नए नियमों के साथ तालमेल बिठाने में समय लगेगा

गौतम गंभीर ने वनडे क्रिकेट में बदलते नियमों को ध्यान में रखते हुए महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर को विराट कोहली से ऊपर रखा है। ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने कहा है कि कोविड-19 के बाद क्रिकेट जब एक बार फिर शुरू होगी तो खिलाड़ियों को नए नियमों के साथ तालमेल बैठाने में समय लगेगा।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

गंभीर ने वनडे में सचिन को मौजूदा कप्तान कोहली से ऊपर रखा

पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने वनडे क्रिकेट में बदलते नियमों को ध्यान में रखते हुए महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर को मौजूदा भारतीय कप्तान विराट कोहली से ऊपर रखा है। गंभीर ने साथ ही सचिन के लंबे करियर को भी इसकी वजह माना है। भारत के लिए रिकॉर्ड 463 वनडे मैच खेलने वाले सचिन के नाम 18000 से अधिक है और इसमें 49 शतक शामिल है। वहीं, कोहली ने अब तक 248 वनडे मैचों में 12000 रन बनाए हैं और 43 शतक जमाए हैं।

'क्रिकेट कनेक्टेड' शो में गंभीर से जब पूछा गया कि वह विराट और सचिन में से किसे चुनेंगे तो उन्होंने कहा, "सचिन तेंदुलकर, क्योंकि एक सफेद गेंद के साथ और चार फील्डरों के सर्कल में रहने से, ना कि पांच फील्डर आउटसाइड सर्कल में रहने से। मेरे लिए सचिन तेंदुलकर होंगे पहली पसंद। यह काफी मुश्किल है। विराट कोहली ने शानदार खेल दिखाया है। लेकिन अब क्रिकेट के नियम भी बदले हैं, जिससे नए बल्लेबाजों को काफी मदद मिली है।"

मांकड पर गॉवर की सलाह, चेतावनी दें प्रतीक सागर

इंग्लैंड के पूर्व बल्लेबाज डेविड गॉवर बल्ला पकड़े जितने स्टाइलश दिखते थे, उतनी ही उनकी आवाज कमेंट्री बॉक्स से लोगों को प्रभावित करती है। वह इंग्लैंड के लिए 15 साल खेले और कमेंट्री करियर उनका इससे भी ज्यादा का है। चार दशक तक खेल से साथ जुड़े रहने वाले गॉवर अब अपने बल्ले के साथ माइक को भी पैक कर रहे हैं। 117 टेस्ट मैच खेलने वाला यह खिलाड़ी जानता था कि यह समय भी आने वाला है।

ग्लोफेंस के शो क्यू20 पर आने वाले गॉवर ने आईएएनएस से कहा, "मैंने स्काई स्पोर्ट्स के साथ 20 साल बिताए हैं और हर एक पल का लुत्फ उठाया है। मेरा ब्रॉडकास्टिंग करियार बीबीसी से शुरू हुआ था और इसके बाद मेरा स्काई के साथ 20 साल का सफर 1999 विश्व कप से शुरू हुआ। यह काफी अच्छा था।"

नए नियमों के साथ तालमेल बिठाने में समय लगेगा : अश्विन

भारतीय टेस्ट टीम के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने कहा है कि कोविड-19 के बाद क्रिकेट जब एक बार फिर शुरू होगी तो खिलाड़ियों को नए नियमों के साथ तालमेल बैठाने में समय लगेगा। कोरोनावायरस के कारण मार्च के मध्य से ही सभी तरह की क्रिकेट गतिविधयां बंद हैं।

अश्विन ने बुधवार को अपनी आईपीएल "फ्रेंचाइजी दिल्ली कैपिटल्स के साथ इंस्टाग्राम पर बात करते हुए कहा, कुछ चीजों के साथ ताल मेल बैठाने में समय लग सकता है। लॉकडाउन का पूरा समय और इसका अनुभव हमारे लिए अलग दुनिया की तरह रहा है। प्राकृति हमें कह रही है कि हमें रुकना चाहिए और थोड़ा पीछे होना चाहिए। बीते वर्षों में हमने इस दुनिया का काफी नुकसान किया है। अब यह समय है जब धरती और भगवान को उसका गौरव वापस दें।

भारतीय फुटबाल के ढांचे को बदलने का यह अच्छा मौका : स्टीमाक

भारतीय पुरुष फुटबाल टीम के कोच इगोर स्टीमाक का मानना है कि कोविड-19 महामारी के कारण उनकी योजनाएं प्रभावित हुई है और अब भारतीय फुटबाल के ढांचे को बदलने का यह अच्छा मौका है। स्टीमाक ने अंतरराष्ट्रीय समाचार चैनल 'वियोन' से कहा, " इस महामारी ने हमारी योजनाओं को बर्बाद कर दिया है, जिसे सरकार और अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआईएफएफ) ने भी माना है। सीजन पूर्व ट्रेनिंग शिविर के लिये अप्रैल और मई में हमें तुर्की जाना था और हमें 10 दोस्ताना मैच खेलने थे।"

उन्होंने कहा, " अब हम इस समय का इस्तेमाल खिलाड़ियों के ज्ञान को सुधारने में कर रहे हैं। मुझे खुशी है कि खिलाड़ी अपने व्यक्तिगत ट्रेनिंग कार्यक्रम के अनुसार चल रहे हैं और टीम ग्रुप में रोज बातचीत कर रहे हैं।"

कोच ने कहा, " इस महामारी के कारण वैश्विक रूप से कुछ नियम और कानून बदल सकते हैं, जिससे घरेलू खिलाड़ियों पर निर्भरता बढ़ जाएगी। यह भारत के लिए भारतीय फुटबाल के ढांचों में बदलाव करने का अच्छा मौका है।"

विश्व कप फाइनल पर बोले विलियम्सन, अच्छा समय था या बुरा, अभी तक समझ नहीं आया

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन ने कहा है कि वह अभी भी इस बात को समझ नहीं पा रहे हैं कि 2019 विश्व कप फाइनल उनकी टीम का अच्छा समय था या बुरा। विलियम्सन अपने देश को पहला विश्व कप दिलाने के काफी करीब खड़े थे लेकिन किस्मत को शायद कुछ और मंजूर था। मेजबान इंग्लैंड के साथ हुए फाइनल में सुपर ओवर हुआ जो टाई रहा। बाद में इंग्लैंड को ज्यादा बाउंड्री स्कोर करने के कारण जीता घोषित कर दिया गया।

आईसीसी ने हालांकि बाद में इस नियम को हटा दिया। विलियम्सन ने क्रिकबज वेबसाइट पर हर्षा भोगले के साथ बात करते हुए कहा, "वो अच्छा समय था या बुरा इस बात को पहचानने में थोड़ा समय लगेगा। मैं अभी भी इस बात का पता लगा रहा हूं कि वो क्या था।"

आईएएनएस के इनपुट के साथ

लोकप्रिय