'U19 क्रिकेट विश्व कप विजेता कप्तान यश ढुल भारतीय टीम में अपनी जगह खुद बनाएंगे, उन्हें कोहली-धोनी से न जोड़ें'

49 वर्षीय बाहुतुले 2021 दिसंबर में संयुक्त अरब अमीरात में एशिया कप और वेस्टइंडीज में अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप के दौरान भारत के अंडर-19 गेंदबाजी कोच थे। उन्होंने शुक्रवार को न्यूज18 डॉट कॉम को बताया कि ढुल मैदान पर "खुद के निर्णय लेने वाले व्यक्ति" थे।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

भारत के पूर्व स्पिनर साईराज बहुतुले ने कहा है कि लोगों को अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप विजेता कप्तान यश ढुल की बल्लेबाजी और कप्तानी की तुलना विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी से नहीं करनी चाहिए। उन्हें अपनी खुद की जगह बनाने की जरूरत है। ढुल के नेतृत्व में भारतीय टीम ने हाल ही में इंग्लैंड को हराकर कैरेबियन में अंडर-19 विश्व कप जीता, जिसमें कप्तान ने टूर्नामेंट में एक शानदार भूमिका निभाई और उनके नेतृत्व गुणों की प्रशंसा की।

49 वर्षीय बाहुतुले 2021 दिसंबर में संयुक्त अरब अमीरात में एशिया कप और वेस्टइंडीज में अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप के दौरान भारत के अंडर-19 गेंदबाजी कोच थे। उन्होंने शुक्रवार को न्यूज18 डॉट कॉम को बताया कि ढुल मैदान पर "खुद के निर्णय लेने वाले व्यक्ति" थे।

उन्होंने कहा, "मुझे नहीं लगता कि आप इन सभी महान लोगों (कोहली और धोनी सहित अन्य) के साथ उनकी तुलना कर सकते हैं। मुझे नहीं लगता कि यह उनके लिए आगे बढ़ने का सही तरीका है। इन युवाओं को अभी अपनी जगह बनाने की जरूरत है।"

बहुतुले ने वेबसाइट को बताया, "इन महान खिलाड़ियों में से किसी के साथ उनकी तुलना करना सही नहीं है। यह उनके लिए एक प्रक्रिया है। वह बहुत अच्छे बल्लेबाज हैं। उसके पास खेलने की आक्रामक शैली है।"

उन्होंने कहा, "मैदान पर अन्य दस खिलाड़ियों ने भी उसका समर्थन किया। हां, वह निर्णय लेने वाले खिलाड़ी हैं। उन्हें अब अपने खेल पर ध्यान देना चाहिए। उनकी यात्रा यहां से शुरू हुई है। वह रणजी ट्रॉफी के लिए चुना गए हैं, उन्हें वहां अच्छा प्रदर्शन करने की जरूरत है। उन्हें अब आगे बढ़ने की जरूरत है।"

जब भारत संघर्ष कर रहा था, तब राज बावा अपने पांच विकेट और बल्ले के प्रदर्शन से 'प्लेयर ऑफ द मैच' के रूप में सामने आए और बाहुतुले ने कहा कि भारतीय क्रिकेट बोर्ड को उनका और अच्छा मार्ग दर्शन करना चाहिए क्योंकि उनमें 'अच्छा ऑलराउंडर' बनने की क्षमता है।"

उन्होंने कहा, "जाहिर तौर पर राज बावा मैच में एक बदलाव करते हुए नजर आ रहे थे। मुझे लगता है कि फाइनल में, उनका स्पैल शानदार था, वह बहुत अच्छी तरह से खेल रहे थे। उनका रन अप अन्य खेलों की तुलना में आसान था और उन्होंने अच्छी गेंदबाजी की। जाहिर है, लगभग हर ओवर में उन्हें एक विकेट मिला।"

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia