खेल की 5 बड़ी खबरें: विराट कोहली ने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप को बताया ICC का सबसे बड़ा टूर्नामेंट

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप को ICC का सबसे बड़ा टूर्नामेंट करार दिया है और पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान इंजमाम उल हक ने सर विवियन रिचर्ड्स, सनथ जयसूर्या और अब्राहम डिविलियर्स को क्रिकेट के खेल को बदलने का श्रेय दिया है।

फोटो: बीसीसीआई
फोटो: बीसीसीआई
user

नवजीवन डेस्क

आईसीसी का सबसे बड़ा टूर्नामेंट है विश्व टेस्ट चैंपियनशिप : कोहली

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप को आईसीसी का सबसे बड़ा टूर्नामेंट करार दिया है। कोहली ने बेसिन रिजर्व स्टेडियम में भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेले जाने वाले पहले टेस्ट मैच से पूर्व ये बात कही है। कोहली ने कहा, "मुझे लगता है कि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप इन सभी टूर्नामेंटों में आईसीसी का सबसे बड़ा टूर्नामेंट होना चाहिए। मेरे लिए बाकी अन्य टूर्नामेंट उसके नीचे होंगे। संभवत: यह सबसे बड़ी ट्रॉफी होगी और प्रत्येक टीम चाहेगी कि लॉर्डस में फाइनल खेलें। हम भी किसी से अलग नहीं हैं और हम उसी जोन में हैं। हम चाहते हैं कि जल्द से जल्द हम फाइनल के लिए क्वालीफाई करें और फिर विश्व टेस्ट चैंपियनशिप जीतें।

उन्होंने आगे कहा कि टेस्ट चैंपियनशिप ने खेल के सबसे बड़े प्रारुप को और अधिक रोमांचक बना दिया है। उन्होंने साथ ही कहा कि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप की अंकतालिका में भारत टॉप पर हो सकता है, लेकिन इसके लिए उसे घर से बाहर भी बेहतर प्रदर्शन करने की जरूरत है।

ईशांत शर्मा की टीम में वापसी से परेशान है न्यूजीलैंड

न्यूजीलैंड टीम के अनुभवी बल्लेबाज रॉस टेलर ने अपनी टीम को आगाह करते हुए कहा है कि मेजबान टीम को सिर्फ भारत के जसप्रीत बुमराह पर ही ध्यान नहीं देना होगा बल्कि अन्य गेंदबाजों पर भी ध्यान देना होगा। टेलर ने आगे कहा, "मुझे लगता है कि अगर हम सिर्फ बुमराह को देखेंगे तो समस्या में पड़ जाएंगे। मुझे लगता है कि उनकी पूरी गेंदबाजी लाइनअप शानदार है। जाहिर सी बात है कि ईशांत शर्मा की वापसी हुई है जो टीम को नए आयाम देंगे। उन्होंने कहा, "उनके पास विश्व स्तरीय बल्लेबाजी आक्रमण भी है। हमें उससे भी निपटना होगा। हमें सफल होने के लिए अपना बेहतर खेल खेलना होगा। आपको बता दें, दोनों टीमों के बीच दो मैचों की टेस्ट सीरीज की शुरुआत शुक्रवार से हो रही है।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया

महिला बल्लेबाज स्मृति मंधाना ने माना- किशोरियों के कारण टीम में आई नई ऊर्जा

स्टार महिला बल्लेबाज स्मृति मंधाना का मानना है कि युवा खिलाड़ी टीम में नई ऊर्जा लेकर आई हैं और इससे आने वाले टी-20 विश्व कप में भारतीय टीम को फायदा होगा। आईसीसी ने मंधाना के हवाले से लिखा है, "अगर आप हमारी टीम की आयु देखें तो आप हैरान हो जाएंगे। जिस तरह की हमारी टीम की आयु है उससे मजा आता है और अगर मजा नहीं आता है तो मतलब है कि लड़कियों के साथ कुछ गलत है। उन्होंने कहा, "बीते एक-दो साल से ऐसा है। मैं ऐसा नहीं कहूंगी कि पहले के वर्षों मे ऐसा नहीं था, लेकिन जब से किशोरियां आई हैं तब से टीम की ऊर्जा काफी अलग है। आपको बता दें, शुक्रवार से शुरू हो रहे टी-20 विश्व कप में हिस्सा लेने गई भारतीय टीम की औसत उम्र 23 साल है। इस टीम में चार किशोरियां भी हैं।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया

श्रीलंका ने वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए किया टीम का ऐलान

श्रीलंका ने वेस्ट इंडीज के खिलाफ खेले जाने वाले 3 मैचों की वनडे सीरीज के लिए टीम का ऐलान कर दिया है। आपको बता दें, 15 सदस्यीय टीम की कप्तानी दिमुथ करुणारत्ने करेंगे, वहीं थिसारा परेरा की भी काफी लंबे समय बाद टीम में वापसी हुई है। उधर, गुनातिलके चोट की वजह से इस सीरीज में हिस्सा नहीं ले पाएंगे। गुनालितका की जगह शेहान जयसूर्या और निरोशन डिकवेला को शामिल किया गया है। डिकवेला को बुखार है और शायद इसी वजह से वो पहले वनडे मैच में हिस्सा नहीं ले पाएंगे। डिकवेला की अनुपस्थिति में कुसल परेरा विकेटकीपिंग का जिम्मा संभालेंगे।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया

पूर्व पाक कप्तान ने कहा- रिचर्डस, जयसूर्या और डिविलियर्स ने क्रिकेट को बदल दिया

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान इंजमाम उल हक ने कहा है कि सर विवियन रिचर्ड्स, सनथ जयसूर्या और अब्राहम डिविलियर्स, तीन ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने क्रिकेट के खेल को बदल दिया है। अपने समय के महान बल्लेबाज इंजमाम ने एक यूट्यूब चैनल से कहा, "काफी साल पहले रिचर्डस ने क्रिकेट के खेल को बदलने का काम किया। उस समय बल्लेबाज तेज गेंदबाजों को बैकफुट पर खेलते थे, लेकिन उन्होंने सबको दिखाया कि कैसे तेज गेंदबाजों को फ्रंटफुट पर भी खेला जा सकता है। उन्होंने लोगों को बताया कि तेज गेंदबाजों पर भी आक्रमण किया जा सकता है।"

इंजमाम ने जयसूर्या को लेकर कहा, "दूसरा बदलाव जयसूर्या लेकर आए। उन्होंने इनिंग के पहले 15 ओवर में तेज गेंदबाजों पर धावा बोलने का निर्णय लिया। उनके आने के पहले हवा में शॉट खेलने वालों को आम तौर पर बल्लेबाज नहीं माना जाता था, लेकिन उन्होंने पहले 15 ओवरों में इनफील्ड के ऊपर से शॉट खेलकर इस परिभाषा को बदल दिया।"

पूर्व पाकिस्तानी कप्तान ने डिलिविलियर्स के बारे में कहा, "तीसरे खिलाड़ी, जिन्होंने क्रिकेट के खेल को बदलने का काम किया, वह डिविलियर्स है। आज के समय में वनडे और टी-20 में खेले जा रहे तेज क्रिकेट के लिए मैं डिविलियर्स को जिम्मेदार ठहराता हूं। पहले के बल्लेबाज सीधे बैट से शॉट खेलते थे, लेकिन डिविलियर्स ने पैडल स्वीप और रिवर्स स्वीप लगाने शुरू कर दिए।

(आईएएनएस इनपुट के साथ)

लोकप्रिय
next