महिला विश्व कप: जीत के लिए भारत को बल्लेबाजी में करना होगा सुधार, वेस्टइंडीज का लक्ष्य जीत की हैट्रिक लगाने की

दोनों मैचों में, भारत के शीर्ष क्रम की बल्लेबाजी विफल रही थी। अब अंक तालिका में पांचवें स्थान पर भारत को आगामी सप्ताह में गत चैंपियन इंग्लैंड और छह बार के विजेता ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाले मैचों के साथ अपनी गलतियों को ठीक करने की आवश्यकता है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

मेजबान न्यूजीलैंड से 62 रन की करारी हार के बाद शनिवार को सेडॉन पार्क में आईसीसी महिला क्रिकेट विश्व कप के अपने तीसरे लीग मैच में अपराजित वेस्टइंडीज के खिलाफ भारत अपनी बल्लेबाजी में सुधार करना चाहेगा। दोनों मैचों में, भारत के शीर्ष क्रम की बल्लेबाजी विफल रही थी। अब अंक तालिका में पांचवें स्थान पर भारत को आगामी सप्ताह में गत चैंपियन इंग्लैंड और छह बार के विजेता ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाले मैचों के साथ अपनी गलतियों को ठीक करने की आवश्यकता है। लेकिन यह कहना आसान है कि वेस्टइंडीज टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन कर रहा है, उन्होंने अपने पहले दो मैचों में क्रमश: न्यूजीलैंड और इंग्लैंड को तीन और सात रन से हराया है।

पाकिस्तान के खिलाफ, स्नेह राणा और पूजा वस्त्रेकर ने 122 रनों की साझेदारी के साथ उन्हें बचाया था, जब भारत 114/6 संकट में था। लेकिन न्यूजीलैंड के गेंदबाजी आक्रमण के खिलाफ भारत 261 का पीछा करने में नाकाम रहा था और हरमनप्रीत कौर ने 63 गेंदों में 71 रन बनाने के बावजूद, भारत अंतत: 198 पर ऑलआउट हो गया।

दोनों मैचों में भारत द्वारा खेली गई डॉट गेंदों की संख्या है यह भी एक चिंता का विषय है और इसका मतलब है कि स्ट्राइक रोटेशन को और अधिक लागू करना होगा, जो हुआ नहीं है।

न्यूजीलैंड के खिलाफ भारत की पूरी तरह से खराब बल्लेबाजी का प्रदर्शन ऐसा था कि इसने मुख्य कोच रमेश पोवार को भी 'हैरान' कर दिया।

उन्होंने कहा, "ईमानदारी से कहूं तो पहले 20 ओवरों में हमने जिस तरह से बल्लेबाजी की, उससे मैं भी हैरान था। अगर आप न्यूजीलैंड के खिलाफ खेल रहे हैं तो पिछले छह मैचों को देखें, तो हम हमारी योजनाओं को अच्छी तरह से क्रियान्वित कर रहे थे। मुझे लगता है कि यह विश्व कप का दबाव है लेकिन मैं कोई बहाना नहीं देना चाहता।"

स्मृति मंधाना दोनों मैचों में अपने सामान्य स्ट्रोक-प्ले में नहीं रही हैं, जबकि यह संघर्षरत शेफाली वर्मा और उनके साथी होने के लिए यास्तिका भाटिया के बीच चुनाव होगा। दीप्ति शर्मा को तीसरे नंबर पर और रन बनाने होंगे, इसलिए कप्तान मिताली राज हैं।

गेंदबाजी विभाग में पूजा की गति और राजेश्वरी गायकवाड़ की बायें हाथ की स्पिन से खुशी का माहौल है।

दूसरी ओर, वेस्टइंडीज विश्व कप में एक अलग फॉर्म में दिखाई दे रहा है। न्यूजीलैंड और इंग्लैंड के खिलाफ जीत हासिल करने के लिए 259 और 225 के स्कोर का बचाव करने का मतलब है कि स्टेफनी टेलर की अगुवाई वाली टीम खेल के तीनों विभागों में आत्मविश्वास से भरपूर है।

हेले मैथ्यूज, डिएंड्रा डॉटिन, शेमेन कैंपबेल और अनीसा मोहम्मद वेस्टइंडीज के लिए विजेता खिलाड़ी बनकर उभरी हैं।

सीनियर तेज गेंदबाज शकीरा सेल्मन ने शुरुआती जीत की लहर को स्वीकार किया, लेकिन यह वेस्टइंडीज के लिए शालीनता का एक तथ्य है।

वेस्टइंडीज के खुद को कठिन चुनौतियों के लिए तैयार करने के साथ, भारत के लिए जीत की राह आसान नहीं होगी। उसके लिए उन्हें बल्लेबाजी में सुधार करने की आवश्यकता होगी।


दोनों टीमें इस प्रकार हैं-

भारतीय टीम : मिताली राज (कप्तान), हरमनप्रीत कौर (उपकप्तान), स्मृति मंधाना, शेफाली वर्मा, यास्तिका भाटिया, दीप्ति शर्मा, ऋचा घोष (विकेटकीपर), स्नेह राणा, झूलन गोस्वामी, पूजा वस्त्रेकर, मेघना सिंह, रेणुका सिंह ठाकुर, तानिया भाटिया (विकेटकीपर), राजेश्वरी गायकवाड़ और पूनम यादव।

वेस्टइंडीज टीम : स्टेफनी टेलर (कप्तान), अनीसा मोहम्मद (उपकप्तान), आलिया एलेने, शेमेन कैंपबेल (विकेटकीपर), शमिलिया कॉनेल, डिएंड्रा डॉटिन, एफी फ्लेचर, चेरी एन फ्रेजर, चिनेल हेनरी, किसिया नाइट, हेले मैथ्यूज, चेडियन नेशन, करिश्मा रामहरैक, शकीरा सेलमैन और रशदा विलियम्स।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia