वर्ल्ड कप 2019: हार के बाद गप्टिल ने बयां किया दर्द, कहा- फाइनल मुकाबला मेरे जीवन का सबसे शानदार और खराब दिन

गप्टिल ने अपने इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट साझा करते हुए लिखा, ‘मैं समझता हूं कि यह मेरे क्रिकेट करियर का सबसे शानदार और सबसे खराब दिन था। एक ही दिन इतनी सारी अलग-अलग भावनाएं, लेकिन मुझे कीवी टीम का हिस्सा होने पर गर्व है। आप सभी का सपॉर्ट के लिए शुक्रिया।’

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 के फाइनल मुकाबले में इंग्लैंड की जीत के बाद जहा एक तरफ इंग्लैंड के लोग पहली बार वर्ल्ड चैंपियन बनने पर खुशी मना रहे थे, वहीं जीत के बेहद करीब पहुंच कर भी क्रिकेट के कुछ नियमों की वजह से न्यूजीलैंड की हार से पूरी टीम समेत लाखों फैंस के दिल भी टूट गए थे। वर्ल्ड कप में हार के लगभग 8 दिन बाद टीम के दिग्गज खिलाड़ी मार्टिन गप्टिल ने चुप्पी तोड़कर पहली बार अपना दर्द बयां किया है। गप्टिल ने फाइनल मैच के दिन को अपने जीवन का सबसे अच्चा और सबसे बुरा दिन बताया है।

गप्टिल ने अपने इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट साझा करते हुए लिखा, ‘मैं समझता हूं कि यह मेरे क्रिकेट करियर का सबसे शानदार और सबसे खराब दिन था। एक ही दिन इतनी सारी अलग-अलग भावनाएं, लेकिन मुझे कीवी टीम का हिस्सा होने पर गर्व है। आप सभी का सपॉर्ट के लिए शुक्रिया।’

गप्टिल ने अपनी बेटी और वाइफ के साथ एक तस्वीर साझा करते हुए लिखा, ‘वर्ल्ड कप के सफर के दौरान मैंने अपने दो सर्वश्रेष्ठ समर्थकों के आने पर सबसे ज्यादा गर्व महसूस किया।’ अपनी पत्नी का जिक्र करते हुए गप्टिल ने लिखा, ‘तुम मेरी मजबूती हो। मेरे अच्छे और बुरे समय में मेरे साथ रहने के लिए तुम्हारा शुक्रिया। मैं अपनी बेटी को दुनिया की हर चीज से ज्यादा प्यार करता हूं।

बता दें कि 14 जुलाई को इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच खेले गए वर्ल्ड कप 2019 के सबसे रोमांचक मुकाबले में दोनों ही टीम ने 50 ओवर तक बराबर रन बनाए थे। इसके बाद जीत हार का फैसला करने के लिए मैच में सुपर ओवर कराया गया था। सुपर ओवर में भी दोनों टीम की तरफ से बराबर स्कोर बनाया गया लेकिन सुपर ओवर के दौरान लगाई ज्यादा बाउंड्री के आधार पर इंग्लैंड को विजेता घोषित किया गया।

हालांकि अईसीसी के इस निर्णय पर काफी विवाद भी हुआ था। कई पूर्व दिग्गजों ने आईसीसी के इस फैसले पर सवाल उठाए थे। मैच के दौरान भी कुछ ऐसे फैसले लिए गए जो बिलकुल आधारहीन थे। मैच के दौरान श्रीलंकाई एंपायर धर्मसेना द्वारा मार्टिन गप्टिल की थ्रो पर इंग्लैंड को 6 रन दिए जाने को लेकर भी काफी विवाद हुआ था। मैच के कुछ दिन बाद धर्मसेना ने माना था कि ओवर थ्रो पर 6 रन दिए जाने का फैसला गलत था। साल 2015 के वर्ल्ड कप में भी न्यूजीलैंड की टीम फाइनल में पहुंच कर ऑस्ट्रेलिया से हार गई थी।

लोकप्रिय