यूसुफ पठान ने कहा- आगे भी लोग मुझे मैदान पर देखेंगे, हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को कहा था अलविदा

युसूफ पठान ने हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा था, लेकिन वह यहां चल रहे रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज में इंडिया लीजेंड्स टीम का हिस्सा हैं। युसूफ ने कहा कि इतने दिनों बाद टीम के पुराने साथी खिलाड़ियों के साथ खेलने का मौका मिलना उनके लिए सुखद है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

भारतीय टीम के पूर्व ऑलराउंडर यूसुफ पठान का कहना है कि भले ही उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया है लेकिन वह इतनी जल्दी मैदान से दूर जाने वाले नहीं है और लोग आगे भी उन्हें मैदान पर देखेंगे।

युसूफ ने हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा था, लेकिन वह यहां चल रहे रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज में इंडिया लीजेंड्स टीम का हिस्सा हैं। युसूफ ने कहा कि इतने दिनों बाद टीम के पुराने साथी खिलाड़ियों के साथ खेलने का मौका मिलना उनके लिए सुखद है।

यूसुफ ने आईएएनएस से कहा, "मैं अपने करियर से काफी खुश हूं, मैंने काफी कुछ हासिल किया है और मैं आगे भी ऐसा करता रहूंगा। यहां रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज में मैं उन लोगों के साथ एक बार फिर खेल रहा हूं जिनके साथ मैंने विश्व कप जीता था। मैं काफी खुश हूं कि मुझे एक बार फिर इरफान पठान और इन सभी खिलाड़ियों के साथ खेलने का मौका मिला।"

उन्होंने कहा, "मैं मैदान पर ही रहना चाहूंगा और मैं इतनी जल्दी मैदान से दूर होने वाला नहीं हूं और लोग मुझे आगे भी खेलते हुए देखेंगे। मेरे कुछ लक्ष्य है जिसे अभी मुझे पूरा करना है।"

यह पूछे जाने पर कि उनके रिटायरमेंट के बाद क्या प्लान है। इस पर पूर्व ऑलराउंडर ने बताया कि वह आगे अन्य लीग में खेलेंगे, लेकिन यह उपलब्धता पर निर्भर करता है।

यूसुफ आईपीएल में लंबे समय तक कोलकाता नाइट राइडर्स का हिस्सा रहे, जिसने दो बार आईपीएल का खिताब जीता। उन्होंने कहा कि जो बेंच मार्क पूर्व कप्तान गौतम गंभीर ने सेट किया था, मौजूदा टीम को उसे आगे ले जाने की जरुरत है।

युसूफ ने कहा, "हमने सात साल में दो बार खिताब जीता और गंभीर और टीम ने फ्रेंचाइजी के लिए स्टेंर्डड तय किया था और मौजूदा टीम को लय बरकार रखते हुए आगे भी जीत हासिल करनी चाहिए और एक उदाहरण पेश करना चाहिए जैसा गंभीर की टीम ने किया था।"

कोरोना के कारण बायो बबल में रहने को लेकर उन्होंने कहा, "क्रिकेट के मैदान पर वापस आना सुखद है। इतने समय बाद साथ में रहना अच्छा है। बायो बबल में रहना समय की मांग है। परिस्थति के हिसाब से लोगों को रहना पड़ता है और यही जीवन हमें सिखाता है। हो सकता है यह पहली और आखिरी बार हो।"

यूसुफ ने भारत के लिए 57 वनडे मुकाबलों में 810 रन बनाए और 33 विकेट लिए जबकि टी20 में उन्होंने 22 मैचों में 236 रन बनाए और 13 विकेट लिए। यूसुफ ने आईपीएल में 174 मैच खेले और 3204 रन बनाए तथा 42 विकेट लिए।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय