नवजीवन बुलेटिन: देर रात तक आ सकते हैं बिहार चुनाव के नतीजे और जमानत के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचे अर्नब गोस्वामी

चुनाव आयोग ने बताया कि इस बार बिहार में 35 राउंड तक की गिनती होनी है, ऐसे में मतगणना में थोड़ी देर हो सकती है और रिपब्लिक टीवी के संपादक अर्नब गोस्वामी ने हाई कोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। दरअसल बॉम्बे हाई कोर्ट ने अर्नब को अंतरिम जमानत देने से इनकार कर दिया था।

user

नवजीवन डेस्क

बिहार में वोटों की गिनती के बीच चुनाव आयोग ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की है। बिहार मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा है कि कुल 4.10 करोड़ वोट डाले गए थे। अभी तक 92 लाख वोटों की गिनती हुई है। पहले 25-26 राउंड की गिनती होती थी। इस बार 35 राउंड तक की गिनती होनी है। इसलिए देर शाम तक नतीजे आते रहेंगे। चुनाव आयोग ने बतााय कि अब तक वोटों की गिनती बाधा रहित रही है। 1 करोड़ से ज्यादा वोटों की गिनती हो चुकी है। इसका मतलब है कि अभी काफी गिनती बाकी है। चुनाव आयोग ने दोहराया धीमी गति से मतगणना नहीं हो रही है। इस बार ज्यादा बूथ होने की वजह से ज्यादा ईवीएम इस्तेमाल हुए हैं। इसलिए मतगणना में थोड़ी देर हो सकती है।

रिपब्लिक टीवी के संपादक अर्नब गोस्वामी ने हाई कोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। दरअसल बॉम्बे हाई कोर्ट ने अर्नब को अंतरिम जमानत देने से इनकार कर दिया था। हाई कोर्ट ने अर्नब को सेशन कोर्ट जाने के लिए कहा था। हाई कोर्ट के इसी फैसले को अर्नब ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। इससे पहले रिपब्लिक टीवी के एक न्यूज एंकर ने भारत के प्रधान न्यायाधीश (सीजेआई) एसए बोबडे को पत्र लिखकर उनसे आग्रह किया है कि अर्नब गोस्वामी को तलोजा जेल में ‘खतरनाक’ अपराधियों एवं ‘अंडरवर्ल्ड’ के साथ रखे जाने के कदम का संज्ञान लिया जाए और उन्हें ‘सुरक्षा मुहैया कराई जाए।’बता दें कि अर्नब गोस्वामी, फिरोज शेख तथा नीतीश सारदा को अलीबाग पुलिस ने चार नवंबर को आर्किटेक्ट एवं इंटीरियर डिजाइनर अन्वय नाइक और उनकी मां की 2018 में आत्महत्या के सिलसिले में गिरफ्तार किया था। आऱोप था कि अर्नब और अन्य आरोपियों की कंपनियों से बकाया नहीं मिलने के कारण उन्हें आत्महत्या के लिए मजबूर होना पड़ा।

दिल्ली-एनसीआर की हवा हर दिन जहरीली होती जा रही है। हवा की धीमी गति, पराली का धुआं लगातार प्रदूषण को और बढ़ा रहा है। आज भी दिल्लीवालों की सुबह चारों तरफ फैले धुंए से हुई। बढ़ते प्रदूषण को लेकर दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने राज्य में लोक निर्माण विभाग को पानी का छिड़काव बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। गोपाल राय ने मंगलवार को बताया कि चारों तरफ से जो पराली का धुंआ आ रहा है वो तो हमारे नियंत्रण से बाहर है पर दिल्ली के अंदर पटाखों से प्रदूषण न हो इसलिए पटाखे बैन कर दिए हैं। हमने सभी DM और पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक कर दिशानिर्देश जारी किए। पीडब्ल्यूडी को पानी का छिड़काव बढ़ाने के निर्देश दिए हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय
next