नवजीवन बुलेटिन: अंबेडकर की मूर्ती तोड़ने पर सहारनपुर में तनाव और तबरेज आलम लिंचिंग केस में पुलिस ने हटाई हत्या की धारा

सहारनपुर में डॉ. भीम राव अंबेडकर की प्रतिमा को क्षतिग्रस्त किए जाने के बाद अनुसूचित जाति के लोगों में भारी आक्रोश पैदा हो गया है और झारखंड के तबरेज अंसारी लिंचिंग मामले में डॉक्टरों की रिपोर्ट के मुताबिक़ तबरेज की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई थी।

नवजीवन डेस्क

यूपी के सहारनपुर में एक बार फिर से माहौल बिगाड़ने की कोशिश की गई। यहां कुछ शरारती तत्वों ने डॉ. भीम राव अंबेडकर की प्रतिमा को क्षतिग्रस्त कर दिया। इससे अनुसूचित जाति के लोगों में भारी आक्रोश है। गुस्साए लोगों ने बेहट-सहारनपुर मार्ग पर जाम लगाकर हंगामा किया। सूचना पर कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंची है।

बिहार के रोहतास जिले के नोखा थाना क्षेत्र की एक नहर के पास से मंगलवार को पुलिस ने चार लोगों के शव बरामद किए हैं। बरामद शवों में से एक शव महिला का और तीन बच्चों के हैं। नोखा के थाना प्रभारी नरोत्तम चंद ने आईएएनएस को बताया कि एक ग्रामीण की सूचना के बाद पुलिस ने बक्सर कैनाल के भलुआहीं पईन के पास से चार शव बरामद किए हैं। बरामद शवों में एक शव महिला का है, जबकि तीन शव बच्चियों के हैं।

झारखंड के तबरेज अंसारी लिंचिंग मामले में डॉक्टरों ने कहा है तबरेज की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई थी। इसके बाद पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ हत्या की धारा 302 को हटा दिया है। डॉक्टरों ने बताया कि रिपोर्ट में तबरेज की मौत तनाव और दिल का दौरा पड़ने के वजह से हुई थी।

लोकप्रिय