नवजीवन बुलेटिन: CAA के विरोध में चेन्नई सचिवालय के घेराव की कोशिश और ट्रंप ने मोदी की उम्मीदों पर फेरा पानी

नागरिकता संशोधन अधिनियम, एनआरसी और एनपीआर के विरोध में चेन्नई में लोगों ने सचिवालय के बाहर जबरदस्त प्रदर्शन किया, प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किए गए और भारत दौरे से पहले डॉनाल्ड ट्रंप के बयान से परेशान हुई मोदी सरकार।

user

नवजीवन डेस्क

नागरिकता संशोधन अधिनियम, एनआरसी और एनपीआर के विरोध में चेन्नई में लोगों ने वालजाह रोड से राज्य सचिवालय की ओर मार्च किया। विधानसभा सत्र को देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई । मार्च कर रहे लोगों की संख्या हजारों में बताई जा रही है।

चीन के वुहान से लाए गए सभी भारतीयों को आर्मी कैंप से डिस्चार्ज कर दिया गया है। आखिरी बैच के बचे 6 लोगों को आज घर भेज दिया गया। इससे पहले मंगलवार को गुरूग्राम के मानेसर स्थित आर्मी कैंप से 248 लोगों को घर भेज दिया गया था। जांच में सभी लोग नेगेटिव पाए गए हैं। जिन 6 लोगों को आज डिस्चार्ज किया गया वो दिल्ली के छावला में ITBP कैंप में भर्ती थे।

असम में एक ऐसा मामला सामने आया जिसके बारे में सुनकर हर कोई दंग है। महिला ने अपनी और अपने पति की नागरिकता साबित करने लिए 15 तरह के दस्तावेज पेश किए, लेकिन वो फॉरेनर्स ट्रिब्यूनल में हार गईं और नागरिकता साबित नहीं कर पाई। महिला ने जब इस मामले को हाइ कोर्ट में चुनौती दी तो वहां भी हार का सामना करना पड़ा। महिला का कहना है कि उसका सारा पैसा केस लड़ने में खर्च हो चुका है।

भारत दौरे से पहले ही अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनाल्ड ट्रंप ने मोदी सरकार को बड़ा झटका दिया है। भारत दौरे पर आने से पहले वाशिंगटन में ट्रंप ने मीडिया से बात की। उन्होंने कहा कि वह पीएम मोदी को वास्तव में बहुत पसंद करते हैं, लेकिन फिलहाल ट्रेड डील नहीं कर सकते और आगे इस पर विचार करेंगे। उन्होंने कहा कि वह अभी इस बारे में कुछ पुख्ता नहीं कह सकते कि ऐसी कोई बड़ी ट्रेड डील अमेरिकी चुनाव से पहले हो पाएगी या नहीं, लेकिन आगे चलकर कोई छोटा व्यापारिक समझौता हो सकता है।

लोकप्रिय
next