वीडियो: कोरोना संकट के बीच चीन में मिला नए तरह का वायरस, वैज्ञानिकों की उड़ी नींद!

चीन में पाए गए एक और नए वायरस ने वैज्ञानिकों की चिंता बढ़ा दी है, दरअसल चीन में शोधकर्ताओं ने एक नए प्रकार के स्वाइन फ्लू का पता लगाया है, जो कि आनुवंशिक रूप से एच1एन1 का ही एक रूप है, जिसे वैज्ञानिकों ने जी-4 नाम दिया है, लेकिन यह उससे कहीं ज्यादा खतरनाक है।

user

नवजीवन डेस्क

चीन की लापरवाही का दंश पहले ही पूरी दुनिया झेल रही, अभी इस महमारी से विश्व उभर भी नहीं पाया है कि एक और परेशान करने वाली खबर उसी चीन से सामने आई है। चीन में पाए गए एक और नए वायरस ने वैज्ञानिकों की चिंता बढ़ा दी है, दरअसल चीन में शोधकर्ताओं ने एक नए प्रकार के स्वाइन फ्लू का पता लगाया है, विज्ञान पत्रिका PNAS में प्रकाशित अध्ययन में कहा गया है कि चीन में एक नए तरह का स्वाइन फ्लू सामने आया है।

जो कि आनुवंशिक रूप से एच1एन1 का ही एक रूप है, जिसे वैज्ञानिकों ने जी-4 नाम दिया है, लेकिन यह उससे कहीं ज्यादा खतरनाक है। मालूम हो कि स्वाइन फ्लू साल 2009 में महामारी के रूप में सामने आया था। चीन के वैज्ञानिकों ने जी-4 वायरस को खोजने के लिए 7 साल का वक्त लिया है, उन्होंने साल 2011 से 2018 तक गहन रिसर्च किया, जिसके लिए उन्होंने 10 राज्यों से 30 हजार सुअरों पर रिसर्च की और उसके बाद शोध में निकलकर सामने आया कि चीन में करीब 179 तरह के स्वाइन फ्लू हैं, जिसमें सबसे घातक जी-4 वायरस है, जिससे मानव जाति को गंभीर बीमारियां हो सकती हैं।

लोकप्रिय