नवजीवन बुलेटिन: देश में कोरोना ने तोड़े सभी पुराने रिकॉर्ड और सदी का सबसे खतरनाक तूफान ‘अम्फान’ बरपाने लगा कहर!

देश में कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है। पिछले 24 घंटे के भीतर देश में कोरोना के रिकॉर्ड 5,611 नए केस सामने आए हैं और 140 लोगों की मौत हो गई है और सुपर साइक्लोन ‘अम्फान’ के आज पश्चिम बंगाल के तट पर टकराने की संभावना है। इस दौरान 155 से 185 kmph की रफ्तार तक हवाएं चलने और भारी बारिश का अनुमान है।

user

नवजीवन डेस्क

देश में कोरोना वायरस का कहर बढ़ता ही जा रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जो ताजा आंकड़े जारी किए गए उसके मुताबिक, देश में अब तक सबसे ज्यादा कोरोना के मामले सामने आए हैं। पिछले 24 घंटे के भीतर देश में कोरोना के रिकॉर्ड 5,611 नए केस सामने आए हैं और 140 लोगों की मौत हो गई है। इसके साथ ही देश में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 1,06,750 हो गई है। इसमें 61,149 सक्रिय केस हैं। अब तक कोरोना से 3,303 लोगों को मौत हो चुकी है। देश के अलग-अलग हिस्सों में लगातार कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है। कोरोना प्रभावित राज्यों में महाराष्ट्र पहले नंबर पर है। वहीं तमिनलनाडु दूसरे और गुजरात तीसरे नंबर पर है।

कोरोना वायरस का खतरा जेल में बंद कैदियों और यहां के अधिकारियों में भी बढ़ गया है। दिल्ली के रोहिणी स्थित जेल के असिस्टेंट सुप्रिटेंडेंट कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है। उनका परिवार तिहाड़ जेल रेजिडेंट ब्लॉक में रहता है, इस ब्लॉक को पूरी तरह से सील कर दिया गया है और यहां रहने वाले लोगों को 14 दिन तक के लिए क्वारेंटीन किया गया है। जेल प्रशासन ने बताया कि यहां रहने वाले तकरीबन 10 लोगों को भी 14 दिन के लिए क्वारेंटीन किया गया है।

सुपर साइक्लोन 'अम्फान' के आज पश्चिम बंगाल के तट पर टकराने की संभावना है।इस दौरान 155 से 185 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार तक हवाएं चलने और भारी बारिश का अनुमान है।भारत मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक इस दौरान बंगाल के तटीय जिलों में भारी बारिश होगी और समुद्र में चार-पांच मीटर ऊंची लहरें उठेंगी।मौसम विभाग के अनुसार यह चक्रवात उत्तर और उत्तर पश्चिम दिशा में काफी रफ्तार में आगे बढ़ रहा है।अनुमान है कि इसकी गति अभी और बढ़ेगी।साइक्लोन अम्फान आज दोपहर तक पश्चिम बंगाल के दीघा और बांग्लादेश के हादिया में टकरा सकता है।चक्रवात के खतरे को देखते हुए ओडिशा और पश्चिम बंगाल समेत 8 राज्यों ने पूरी तैयारी कर ली है।तूफान के खतरे को देखते हुए ओडिशा में 1704 कैम्प बनाए गए हैं।

लोकप्रिय