वीडियो: दिल्ली के मुखर्जी नगर में पुलिस ने ऑटो चालक पर बरसाए लात घूंसे, सीएम ने की जांच की मांग, तीन पुलिसकर्मी निलंबित

एक समुदाय विशेष के ऑटो चालक और पुलिस के बीच किसी बात को लेकर कहा सुनी हो गई, जिसके बाद पुलिस की टीम ने उस व्यक्ति को लात, घूंसों और डंडों से पीटना शुरू कर दिया।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

दिल्ली के मुखर्जी नगर थाने के बाहर रविवार शाम ऑटो चालक और पुलिस के बीच झड़प में पुलिस ने ऑटो चालक की बेरहमी से पिटाई की। इस पूरे मामले की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गयी। वीडियो में देखा जा सकता है कि एक सिख समुदाय के ऑटो चालक और पुलिस के बीच किसी बात को लेकर कहा सुनी होती है, जिसके बाद पुलिस की टीम उस व्यक्ति को लात, घूंसों और डंडों से पीटना शुरू कर देती है।

जानकारी के मुताबिक मुखर्जी नगर थाने के बाहर एक ग्रामीण सेवा चालाक की गाड़ी थाने के बाहर खड़ी पुलिस की गाड़ी से टकरा गयी। जिसके बाद एक पुलिस वाले ने इसके लिए उस चालाक को चेतावनी दी तो ग्रामीण सेवा चालाक कृपाण निकालकर पुलिस वाले को धमकाने लगा। इसके बाद वह पुलिस वाला थाने के अन्दर गया और पूरी टीम के साथ बाहर आया। बाहर आकर पुलिस की टीम ने उस चालक की बेरहमी से पिटाई कर दी। हालांकि ऑटो चालक ने भी पुलिस के लोगों पर कृपाण से हमला किया। मौके पर मौजूद लोगों ने इस घटना की वीडियो बना ली, जो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया 

हंगामे की खबर पर गुरुद्वारा सिख प्रबंधक कमेटी से मनजिंदर सिंह सिरसा भी मौके पर पहुंचे और चालक की पिटाई और पग के अपमान के कारण पुलिसकर्मियों पर हत्या की कोशिश का मुकद्दमा दर्ज करने की मांग की।

दिल्ली पुलिस द्वारा ऑटो चालक की पिटाई की इस घटना की निंदा करते हुए दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल ने कहा है कि इस पूरे मामले की जांच की जानी चाहिए। अरविन्द केजरीवाल ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'दिल्ली पुलिस ने मुखर्जीनगर ने बर्बरतापूर्वक और निंदनीय कार्रवाई की है। हम इस पूरे मामले की निष्पक्ष जांच दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के मांग करते हैं।'

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

दूसरी तरफ इस मामले में कार्यवाई करते हुए इलाके के डीसीपी ने एएसआई संजय मलिक, देवेन्द्र और कांस्टेबल पुष्पेन्द्र समेत तीन पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है।

लोकप्रिय