नवजीवन बुलेटिन: किसान नेताओं ने कृषि कानून की कॉपियां फाड़कर किया बैठक का बहिष्कार और जनता पर महंगाई की मार

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानूनों पर चर्चा के लिए बुलाई गई बैठक बेनतीजा खत्म हो गई। केंद्रीय कृषि सचिव के साथ हुई इस बैठक में 29 किसान संगठनों के नेता बुलाए गए थे लेकिन इन नेताओं ने बैठक से वॉकआउट कर दिया।

user

विनय कुमार

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानूनों पर चर्चा के लिए बुलाई गई बैठक बेनतीजा खत्म हो गई। केंद्रीय कृषि सचिव के साथ हुई इस बैठक में 29 किसान संगठनों के नेता बुलाए गए थे लेकिन इन नेताओं ने बैठक से वॉकआउट कर दिया। किसान नेताओं ने बैठक के बीच ही कृषि कानून की कापियों को फाड़ दिया और बाहर आ गए। किसान नेताओं ने कहा कि हम चर्चा से संतुष्ट नहीं थे इसलिए हम बाहर चले आ, हम चाहते हैं कि इन काले कानूनों को खत्म कर दिया जाए। एक किसान यूनियन लीडर का कहना है कि सचिव ने कहा कि वह हमारी मांगों को आगे बढ़ाएंगे। उन्होंने कहा, "हम बाहर चले आए, क्योंकि कोई मंत्री बैठक के लिए नहीं आया था। हम चाहते हैं कि इन कानूनों को वापस ले लिया जाए।”

दिल्ली के हिंदू रॉ अस्पताल में रेजिडेंट डॉक्टर्स वेतन के लिए सड़कों पर है। 4 महीने से वेतन नहीं मिलने को लेकर कई दिनों से डॉक्टर धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं। 11 अक्टूबर से हिन्दू रॉ रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिशन ने अनिश्चितकालीन धरने के भी ऐलान किया था। डॉक्टरों, नर्सेस और स्वास्थ्यकर्मियों की मजबूरी इतनी बढ़ गई कि मंगलवार को ताली थाली बजाकर और सब्जियां बेचते हुए उन्हें अपना प्रदर्शन दर्ज कराना पड़ा था। डॉक्टरों ने कहा था कि हमारा प्रोत्साहन करने के लिए प्रधानमंत्री ने देशवासियों से तालिया बजवाई थी लेकिन आज अपनी मांगे रखने के लिए खुद सड़क पर उतरकर ताली थाली बजानी पड़ रही है।

कोरोना काल में देश की जनता पर महंगाई की मार जारी है। सितंबर के महीने में थोक महंगाई दर अगस्त के मुकाबले बढ़ी है। थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति सितंबर, 2020 में 1.32 फीसदी रही है। बीते महीने यानी अगस्त में ये 0.16 पर थी। वहीं बीते साल सितंबर में थोक महंगाई दर 0.33 फीसदी थी।

उत्तर प्रदेश सरकार ने हाथरस गैंगरेप कांड को लेकर सुप्रीम कोर्ट में अपना हलफनामा दाखिल कर दिया है। सरकार ने अपने हलफनामे में पीड़िता के परिवार को मुहैया कराई गई सुरक्षा की जानकारी दी गई है। बताया गया है कि परिवार को तीन स्तरीय सुरक्षा मुहैया कराई गई है। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने हाथरस केस को लेकर अपनी पिछली सुनवाई में पीड़ित परिवार और मामले के गवाहों की सुरक्षा के लिए कहा था।

लोकप्रिय
next