नवजीवन बुलेटिन: दिल्ली बॉर्डर पर आर-पार के मूड में किसान और महबूबा बोलीं- मुझे फिर हिरासत में लिया गया

किसानों का प्रदर्शन आक्रामक रुख अपना चुका है। सिंधु बॉर्डर पर पुलिस और किसानों के बीच भिड़ंत हुई, जिसके बाद पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे है और जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और PDP की प्रधान महबूबा मुफ्ती को श्रीनगर में उनके घर पर एक बार फिर नजरबंद कर दिया गया है।

user

नवजीवन डेस्क

किसानों का प्रदर्शन आज और भी आक्रामक रुख अपना चुका है। सिंधु बॉर्डर पर पुलिस और किसानों के बीच भिड़ंत भी हुई है, जिसके बाद पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे है। इसके बाद भी किसान दिल्ली कूच पर अड़े हुए हैं। इससे पहले दिल्ली पुलिस ने सिंधु बॉर्डर पर कुछ किसानों से बात की। पुलिस ने किसानों को वापस जाने की अपील की और कोरोना नियमों का पालन करने को कहा। हालांकि, किसान दिल्ली जाने पर अड़ गए हैं और पुलिस की बात नहीं मान रहे हैं। किसानों का कहना है कि हम दिल्ली जाकर रहेंगे चाहे कुछ भी हो जाए। सरकार हमारी बात नहीं सुन रही है और हम दिल्ली के रामलीला मैदान में ही जाकर रुकेंगे। इधर, किसानों के प्रदर्शन के कारण कई मेट्रो स्टेशन के गेट्स को बंद कर दिया गया है। ग्रीन लाइन पर ब्रिगेडियर होशियार सिंह, बहादुरगढ़ सिटी, श्रीराम शर्मा, टिकरी बॉर्डर, टिकरी कलां, घेवरा स्टेशन के एंट्री और एग्जिट गेट को बंद कर दिया गया है।

पंजाब से चले किसानों का काफिला अब राजधानी दिल्ली के पास पहुंच गया है। तमाम रुकावटों को दूर करते हुए किसान आखिरकार दिल्ली के करीब पहुंच गए हैं। ऐसे में अब दिल्ली पुलिस ने अपनी तैयारी बढ़ा दी है। राजधानी में पुलिस स्टेडियम को अस्थाई जेल बनाने की तैयारी में है, इसके लिए सरकार से इजाजत मांगी गई है। दिल्ली पुलिस ने राज्य सरकार से शहर के नौ स्टेडियम को अस्थाई जेल में तब्दील करने की इजाजत मांगी है। अगर दिल्ली में प्रदर्शन बढ़ता है तो किसानों को इन स्थानों पर लाया जा सकता है। आम आदमी पार्टी के राघव चड्ढा का कहना है कि राज्य सरकार को दिल्ली पुलिस की अस्थाई जेल बनाने की अपील को ठुकरा देना चाहिए। किसान अपने हक की बात कर रहे हैं वो कोई आतंकी नहीं हैं।

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की प्रधान महबूबा मुफ्ती को श्रीनगर में उनके घर पर एक बार फिर नजरबंद कर दिया गया है। महबूबा ने स्वयं अपने ट्विटर हैंडल के जरिए इसकी जानकारी दी। उन्होंने लिखा कि उन्हें "अवैध रूप से" फिर से हिरासत में लिया गया है। “दो दिनों से वह जम्मू-कश्मीर प्रशासन से वाहिद पारा के परिवार से मिलने की अनुमति मांग रखी हैं लेकिन उन्हें इनकार कर दिया गया। उन्होंने ट्वीटर पर ही पत्रकारों को सूचित किया गया कि वह आज दोपहर 3 बजे अपने घर पर ही पत्रकारवार्ता आयोजित कर रही हैं। इसमें वह विभिन्न मुद्दों के बारे में पत्रकारों को जानकारी देंगी। उन्होंने सभी पत्रकारों को इस वार्ता के लिए आमंत्रित किया। महबूबा मुफ्ती ने अपने ट्वीटर हैंडल पर प्रशासन की इस कार्रवाई का विरोध करते हुए कहा कि भाजपा के केंद्रीय मंत्रियों, उनके समर्थन करने वाले नेताओं व उनकी कठपुतलियों को कश्मीर के हर कोने में घूमने की अनुमति है, लेकिन सुरक्षा केवल मेरे मामले में एक समस्या है।

देश में कोरोना का कहर जारी हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय की ताजा रिपोर्ट के अनुसार अब तक देश में 93 लाख से ज्यादा लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। पिछले 24 घंटे में कोरोना के कुल 43,082 नए मामले सामने आए हैं। गुरुवार को कोरोना के सबसे अधिक मामले महाराष्ट्र से सामने आए जबकि वहीं दूसरे नंबर पर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली रहा। पिछले एक दिन में दिल्ली में कोरोना के कुल 5 हजार 475 केस सामने आए। ताजा रिपोर्ट के बाद अब देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 93,09,788 पर पहुंच गई है। गुरुवार को लगभग 40 हजार लोगों ने कोरोना को मात दी। देश में अब तक कुल 87,18,517 लोग कोविड से पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय
next