नवजीवन बुलेटिन: कोरोना की 'डरावनी' रफ्तार और देश के इतिहास में पहली बार पेट्रोल से महंगा हुआ डीजल

देश में पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड कोरोना के 15968 नए केस सामने आए हैं, जबकि 465 लोगों की मौत हुई है और देश के इतिहास में पहली बार डीजल की कीमतों ने पेट्रोल की कीमतों को पीछे छोड़ दिया है, देश में लगातार 18वें दिन तेल की कीमतों में बढ़ोतरी हुई है।

user

नवजीवन डेस्क

देश में कोरोना मरीजों की संख्या बुधवार को साढ़े चार लाख के आंकड़े को पार कर गई। देश में अब कोविड-19 मरीजों की संख्या 456183 हो गई है। पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड कोरोना के 15968 नए केस सामने आए हैं। पिछले 24 घंटे में 465 लोगों की मौत इस महामारी के संक्रमण के चलते हुई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा बुधवार सुबह जारी हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक देश में अभी 183022 एक्टिव केस हैं। 258685 लोगों का इलाज सफलतापूर्वक हो चुका है। अब तक देश में 14476 लोगों की जान कोरोना वायरस के चलते जा चुकी है। इसी बीच, देश में कोरोना टेस्टिंग का आंकड़ा दो लाख के पार हो गया है। पहली बार एक दिन में 2 लाख 15 हजार 195 टेस्ट किए गए।

देश के इतिहास में पहली बार डीजल की कीमतों ने पेट्रोल की कीमतों को पीछे छोड़ दिया है। देश में लगातार 18वें दिन तेल की कीमतों में बढ़ोतरी हुई है। हालांकि बुधवार 24 जून को पेट्रोल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं हुआ, लेकिन डीजल की कीमत 48 पैसे बढ़ी है। इसके साथ ही दिल्ली में डीजल की कीमत पेट्रोल के मुकाबले 12 पैसे ज्यादा हो गई है। बुधवार को पेट्रोल की कीमत में कोई बदलाव देखने को नहीं मिला और फिलहाल दिल्ली में इसकी कीमत 79.76 रुपये पर ही बरकरार है। हालांकि डीजल की कीमत में बढ़ोतरी के बाद नया रेट 79.88 रुपये प्रति लीटर हो गया है। ये इतिहास में पहली बार है जब देश में पेट्रोल की कीमत डीजल के मुकाबले कम रह गई।

सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे लद्दाख के दो दिवसीय दौरे पर हैं। अपनी यात्रा के दूसरे दिन सेना प्रमुख आज पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में आगे के स्थानों की यात्रा पर हैं। सेना प्रमुख वहां ग्राउंड सैनिकों के साथ बातचीत भी करेंगे। न्यूज एजेंसी एएनआई ने सेना के सूत्रों से यह जानकारी दी। बता दें, चीन के साथ तनाव के बीच मंगलवार को सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे लद्दाख पहुंचे। वह सबसे पहले लेह स्थित सैनिक अस्पताल पहुंचे जहां घायल जवानों का इलाज चल रहा है। दिल्ली में सैन्य कमांडरों के कॉन्फ्रेंस में भाग लेने के बाद वह लेह के लिए रवाना हुए थे। सेना प्रमुख आज ग्राउंड कमांडरों के साथ गतिरोध पर चर्चा करेंगे और फॉरवर्ड स्थानों का भी दौरा करेंगे। गलवां घाटी में हुई हिंसक झड़प के बाद सेना प्रमुख पहली बार लद्दाख पहुंचे हैं। इससे पहले वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने रविवार को लद्दाख का दौरा किया था। बता दें कि लद्दाख में हुई हिंसा में भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हो गए थे।

लोकप्रिय