नवजीवन बुलेटिन: कृषि कानूनों को लेकर राहुल का PM पर वार और वायुसेना प्रमुख का बड़ा बयान

पंजाब में खेती बचाओ यात्रा का आज दूसरा दिन है। आज राहुल गांधी ने भवानीगढ़, संगरूर में जनसभा को संबोधित किया। राहुल गांधी ने इस दौरान कृषि कानूनों को लेकर मोदी सरकार को जमकर घेरा और भारत-चीन सीमा पर तनाव के बीच वायुसेना प्रमुख का बड़ा बयान सामने आया है।

user

नवजीवन डेस्क

पंजाब में खेती बचाओ यात्रा का आज दूसरा दिन है। दूसरे दिन राहुल गांधी ने भवानीगढ़ और संगरूर में सभा को संबोधित करते हुए कहा कि 6 साल से मोदी जी की सरकार है। 6 सालों में मोदी जी की सरकार किसानों के लिए मुसीबत साबित हुई है। राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार ने किसानों के लिए कुछ भी नहीं किया। अगर कुछ किया है तो चंद उद्योगपतियों का कर्जा माफ किया है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि मोदी सरकार जीएसटी लेकर आई, लेकिन आज तक छोटे व्यापारी इस जीएसटी को समझ नहीं पाए। उन्होंने कहा कि अंबानी जी को जो चाहिए वो दे देते हैं, लेकिन गरीबों का वह भला नहीं करते हैं। राहुल गांधी ने कहा, “नरेंद्र मोदी जी अडाणी और अंबानी के लिए रास्ता साफ कर रहे हैं, यह हमें समझने की जरूत है। हमने नरेंद्र मोदी जी से कहा कि गरीबों की मदद कीजिए, छेटे रोजगार को बचाइए, लेकिन उन्होंने कोई मदद नहीं की। इस दौरान उन्होंने देश के चंद करोड़ पतियों का उन्होंने कर्ज माफ कर दिया। रोजगार छोटे व्यापारी पैदा करते हैं, बड़े उद्योगपति नहीं। नोटबंदी के बाद जीएसटी लेकर आए। अब मोदी जी खाद्य सुरक्षा का जो सिस्टम है उसे खत्म करने में लगे हुए हैं।” राहुल गांधी ने आगे पूछा कि “कोरोना से हर कोई प्रभावित है। लोग बीमार पड़ रहे हैं। ऐसे में कोरोना के समय कृषि कानून की जल्दबाजी क्यों? इस समय मोदी जी ने यह कदम इसलिए उठाया कि कोरोना काल में किसान और मजदूर घर से बाहर नहीं निकल पाएंगे।

लद्दाख सीमा पर जारी तनाव के बीच वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया का बड़ा बयान सामने आया है। वायुसेना चीफ ने कहा है कि भारत उत्तर भारत में दोनों फ्रंट पर युद्ध के लिए तैयार है। यानी चीन और पाकिस्तान की ओर से जो तनाव की स्थिति बन रही है, उसपर भारत हर तरीके से मुस्तैद है। आरकेएस भदौरिया ने कहा कि वायुसेना भारत और चीन के साथ दोनों फ्रंट पर एक साथ जंग के लिए पूरी तरह से तैयार है. उन्होंने कहा कि चीन की हरकत के बारे में मई में ही पता लग गया था, तभी से ही भारतीय सेना और वायुसेना की ओर से एक्शन लिया गया। वायुसेना प्रमुख बोले कि ईस्टर्न फ्रंट पर वायुसेना मुस्तैद है और ऐसा कोई सवाल ही नहीं होता कि चीन हमसे किसी भी तरह से बेहतर स्थिति में हो। उन्होंने कहा कि वक्त के साथ वायुसेना ने बहुत तेजी से बदलाव किए हैं और अब काफी हदतक कमियों को दूर कर लिया गया है। वायुसेना प्रमुख ने कहा कि हमने सीमा से जुड़े हर अहम हिस्से पर अपनी मौजूदगी बढ़ाई है, लद्दाख उसका सिर्फ एक हिस्सा है. ऐसे में देश को भरोसा रखना चाहिए कि उनकी सेना पूरी तरह तैयार है. आपको बता दें कि भारत और चीन के बीच मई के बाद से ही सीमा पर तनाव की स्थिति बनी हुई है. सेना के साथ-साथ वायुसेना ने भी लेह-लद्दाख के इलाकों में अपनी मौजूदगी बढ़ाई है।

लोन मोरेटोरियम के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को एक हफ्ते की और मोहलत दी है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि ब्याज पर जो राहत देने की बात की गई है उसके लिए रिजर्व बैंक द्वारा किसी तरह का दिशा-निर्देश जारी नहीं किया गया है। इसलिए कोर्ट ने एक हफ्ते के भीतर स्थिति स्पष्ट करने के लिए नया हलफनामा दायर करने को कहा है। कोर्ट ने कहा कि ब्याजमाफी कैसे लागू होगी, इसका विवरण देते हुए सरकार 12 अक्टूबर तक नया हलफनामा दे. सुनवाई के दौरान रियल एस्टेट कंपनियों के संगठन ने कहा है कि सरकार ने जो हलफनामा दिया है उसमें कई आंकड़े और तथ्य आधारहीन हैं। क्रेडाई ने केंद्र सरकार के हलफनामे पर जवाब के लिए कुछ और दिनों की मोहलत मांगी है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia