नवजीवन बुलेटिन: किसानों की CM अमरिंदर से मुलाकात के बाद बनी बात और महबूबा मुफ्ती ने केंद्र पर लगाए गंभीर आरोप

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ किसान संगठनों ने मुलाकात के बाद रेल रोको अभियान को खत्म कर दिया और पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने शनिवार को कहा कि जम्मू कश्मीर के संसाधनों को बर्बाद किया जा रहा है और भारत सरकार हमारी अवमानना कर रही है।

user

नवजीवन डेस्क

कृषि बिलों के खिलाफ पंजाब में किसान आंदोलन अभी भी जारी है। पिछले कई महीनों से किसानों ने रेल सेवा बाधित कर रखी थी। जिसकी वजह से पंजाब की अर्थव्यवस्था पर असर पड़ रही थी। इसके साथ ही रेलवे का भी बड़ा नुकसान हो रहा था। शनिवार को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किसान संगठनों से मुलाकात की और राज्य में सभी ट्रेनों के संचालन का मुद्दा उठाया। अमरिंदर सिंह से बातचीत के बाद किसानों ने रेल रोको अभियान को खत्म कर दिया। किसान संगठनों ने 23 नवंबर से सभी ट्रेनों के लिए 15 दिन तक ट्रैक खाली करने पर सहमति जताई है। पंजाब के मुखिया कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इसकी जानकारी देते हुए कहा, 'यह साझा करते हुए खुशी है कि 23 नवंबर की रात से किसान यूनियन ने 15 दिनों के लिए रेल अवरोधों को समाप्त करने का निर्णय लिया है। मैं इस कदम का स्वागत करता हूं क्योंकि यह हमारी अर्थव्यवस्था को सामान्य स्थिति बहाल करेगा। मैं केंद्रीय सरकार से पंजाब के लिए रेल सेवाओं को फिर से शुरू करने का आग्रह करता हूं।

पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने शनिवार को कहा कि जम्मू कश्मीर के संसाधनों को बर्बाद किया जा रहा है और भारत सरकार हमारी अवमानना कर रही है। मुफ्ती ने दावा कि राज्य में अवैध रेत खनन हो रहा है और साइट पर उन्हें जाने से रोका गया। मुफ्ती ने ट्वीट किया, 'मुझे स्थानीय प्रशासन ने आज रामबियारा नाला जाने से रोका। जहां अवैध टेंडर के जरिए खनन हो रहा है और हमारे संसाधनों को बाहर भेजा जा रहा है। स्थानीय लोगों को इलाके में भी जाने से रोका जा रहा है। हमारी जमीन और संसाधन भारत सरकार द्वारा बर्बाद किए जा रहे हैं। भारत सरकार हमारी अवमानना कर रही है।' केंद्र सरकार पर अधिकारों के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए मुफ्ती ने लगातार ट्वीट किए। उन्होंने लिखा, 'ये उनका नया कश्मीर है। रेत माफिया दिन दहाड़े खनन कर रहे हैं और हमसे चुप रहने की उम्मीद की जाती है। एक नेता के तौर पर मेरी जिम्मेदारी है कि मैं इन मुद्दों को उठाऊं। लेकिन, बीजेपी लगातार मेरे अधिकारों का उल्लंघन कर रही है और सुरक्षा के नाम पर मेरे आवागमन को रोका जा रहा है।

जम्मू कश्मीर बैंक घोटाले मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत श्रीनगर और अनंतनाग में सात जगहों पर छापेमारी की। इस छापेमारी के दौरान अनेक अहम दस्तावेज मिलने का दावा किया गया है। इस मामले में आरोप है कि बैंक खातों का इस्तेमाल कुछ अहम लोगों के लिए मनी लॉन्ड्रिंग के तौर पर इस्तेमाल किया जाता था और यह पैसा जम्मू कश्मीर में विभिन्न जगहों पर काले धन के तौर पर लगाया गया। ईडी के एक आला अधिकारी ने बताया कि इस मामले में पहले श्रीनगर प्रशासन ने जम्मू कश्मीर बैंक के अधिकारियों कुछ अज्ञात लोक सेवकों, निजी व्यक्तियों और अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। एफआईआर में आरोप लगाया गया था कि जम्मू कश्मीर बैंक में मौजूद विभिन्न बैंक खातों का इस्तेमाल सरकारी नौकरशाहों और राजनेताओं के काले धन को सफेद बनाने के लिए किया गया। इन बैंक खातों का मकसद मनी लॉन्ड्रिंग करना था साथ ही अनेक बैंक खाते कुछ निजी पार्टियों के लिए भी प्रयोग में लाए गए।

लोकप्रिय
next