मृणाल की बैठक- एपिसोड 66: त्यौहारी सीजन में मंदी की मार और भारत में शिक्षा का गिरता स्तर

मृणाल की बैठक के इस अंक में आज बात करेंगे त्यौहारी सीजन में बाजारों के खस्ता हाल की। रामलीला और दुर्गा पूजा जैसे आयोजन भी आर्थिक मंदी के असर से अछूते नहीं है। दिल्ली की सबसे बड़ी ‘लव कुश’ रामलीला कमिटी ने इस बार अपने बजट में 10 प्रतिशत की कटौती की है।

नवजीवन डेस्क

मृणाल की बैठक के इस अंक में आज बात करेंगे आंकड़ों की। किसी भी इलाके या क्षेत्र में स्थिति के अनुसार नीतियां बनाने के लिए आंकड़े बेहद जरूरी होते हैं। त्यौहार के सीजन में बाजारों की हालत तो खराब है ही, बल्कि रामलीला और दुर्गा पूजा आयोजकों ने भी अपने बजट में भारी कटौती की है और इसका कारण है मंदी की वजह से आयोजन के लिए मिलने वाले चंदे में 30 फीसदी की गिरावट। देश में शिक्षा का स्तर लगातार घटता जा रहा है। दुनिया के 300 सबसे अच्छे विश्वविद्यालयों में भारतीय यूनिवर्सिटीज का नाम नहीं है।

लोकप्रिय