मृणाल की बैठक- एपिसोड 47: पत्रकारों पर बेवजह कार्यवाही और अपराध का सांप्रदायीकरण

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से संबंधित एक ट्वीट करने पर पत्रकारों को गिरफ्तार किया जाना दमनकारी कार्यवाही है। आखिरकार सुप्रीम कोर्ट ने इस कार्रवाई के लिए उत्तर प्रदेश सरकार और पुलिस को फटकार लगाते हुए पत्रकार कनोजिया को तुरंत रिहा करने का आदेश दिया है।

नवजीवन डेस्क

मृणाल की बैठक के इस एपिसोड में हम बात करेंगे पत्रकारों के खिलाफ दमनकारी कार्रवाई की। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से संबंधित एक ट्वीट करने पर पत्रकारों को गिरफ्तार किया जाना दमनकारी कार्यवाही है। आखिरकार सुप्रीम कोर्ट ने इस कार्रवाई के लिए उत्तर प्रदेश सरकार और पुलिस को फटकार लगाते हुए पत्रकार कनोजिया को तुरंत रिहा करने का आदेश दिया है। इसके अलावा बात करेंगे हत्या और बलात्कार जैसे जघन्य अपराधों के सांप्रदायिकरण की। अलीगढ़ में एक बच्ची की हत्या को कठुआ बलात्कार कांड से जोड़कर देखा गया और इस बहाने एक-दूसरे पर कीचड़ उछाली गई। साथ ही कुछ बात देश में मचे गर्मी के प्रकोप की, जिससे इन दिनों पूरा उत्तर भारत हलकान है।

लोकप्रिय