नवजीवन बुलेटिन:गरीब कल्याण रोजगार अभियान लॉन्च और चिदंबरम ने पूछा- क्या पीएम ने चीन को दी क्लीन चिट

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 50 हजार करोड़ रुपये वाली गरीब कल्याण रोजगार अभियान लॉन्च कर दिया और पी चिदंबरम ने पूछा क्या प्रधानमंत्री ने चीन को क्लीन चिट दे दी है।

user

नवजीवन डेस्क

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 50 हजार करोड़ रुपये वाली गरीब कल्याण रोजगार अभियान लॉन्च कर दिया। इस योजना के जरिए कोरोना वायरस लॉकडाउन के कारण जिन मजदूरों को काम छोड़कर अपने घर आना पड़ा, उन्हें काम दिया जाएगा। इसकी लॉन्चिंग के दौरान बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, राजस्थान, झारखंड और ओडिशा के मुख्यमंत्री भी मौजूद रहे। इसके साथ ही स्कीम से संबंध रखने वाले मंत्रालय भी शामिल हुए। आपको बता दें, इस स्कीम में मजदूरों को 125 दिन काम मिलेगा। जिसमें 25 प्रकार के काम कराए जाएंगे। इसे देश के 6 राज्यों के 116 जिलों में लागू किया जाएगा। इनमें बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रेदेश, राजस्थान, झारखंड और ओड़िशा शामिल हैं।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने लद्दाख में चीन के साथ गतिरोध पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान को लेकर शनिवार को सवाल किया कि क्या प्रधानमंत्री ने चीन को क्लीन चिट दे दी है। उन्होंने ट्वीट किया, 'प्रधानमंत्री ने कहा कि भारतीय सीमा में कोई विदेशी नहीं है। अगर यह सही है तो पांच-छह मई को क्या हुआ? पिछले दिनों दोनों देशों के सैनिकों के बीच संघर्ष क्यों हुआ? भारत ने अपने 20 जवान क्यों खोए?' पूर्व गृह मंत्री ने यह सवाल भी किया, 'अगर चीनी सैनिकों ने कोई घुसपैठ नहीं की है तो फिर छह जून को कोर कमांडर स्तर की बैठक क्यों हुई थी? क्या यह बैठक मौसम के बारे में हुई थी? अगर किसी चीनी सैनिक ने एलएसी पार नहीं किया तो फिर विदेश मंत्री एस जयशंकर के बयान में पूर्व यथास्थिति की बहाली की बात क्यों हुई?'

दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी की बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एलजी अनिल बैजल के आदेश का पुरजोर विरोध किया। उपराज्यपाल अनिल बैजल ने आदेश दिया है कि अब दिल्ली में कोई भी कोरोना पॉजिटिव होगा तो उसको कम से कम 5 दिन क्वारन्टीन सेंटर में जाना अनिवार्य होगा। केजरीवाल ने कहा कि जब आईसीएमआर पूरे देश में बिना लक्षण और हल्के लक्षण वाले कोरोना मरीजों को होम आइसोलेशन की इजाज़त देता है तो दिल्ली में अलग नियम क्यों? मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा, "ज्यादातर कोरोना पॉजिटिव मरीज हल्के लक्षण/बिना लक्षण वाले ही होते हैं इनको क्वारंटाइन करने के लिए व्यवस्था कहां से करेंगे? रेलवे ने आइसोलेशन कोच दिए हैं लेकिन उसके अंदर इतनी गर्मी में कोई कैसे रहेगा? हमारी प्राथमिकता गंभीर मरीजों के लिए होनी चाहिए या बिना लक्षण और हल्के लक्षण वालों के लिए? केजरीवाल ने कहा, "मेडिकल स्टाफ़ की पहले से ही कमी है, अब हज़ारों मरीजों के लिए क्वारन्टाइन सेन्टर पर डॉक्टर-नर्स कहां से आएंगे?

लोकप्रिय