नवजीवन बुलेटिन: प्रियंका ने मोदी सरकार को बताया किसानों का दुश्मन और रामविलास पासवान की मौत के पीछे साजिश?

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने देश में बढ़ते आलू-प्याज की कीमतों को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा है। प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार को किसान, गरीबों एवं मध्यम वर्ग का दुश्मन बताया है और बिहार विधानसभा चुनाव के बीच पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की मौत को लेकर सवाल खड़े होने लगे हैं।

user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने देश में बढ़ते आलू-प्याज के कीमतों को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा है। प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि पिछले एक साल में आलू के दाम लगभग 100% और प्याज के दाम 50% बढ़े हैं। प्रियंका गांधी ने आगे कहा कि जहां एक तरफ जनता सब्जियों के बढ़ते दामों के चलते बेहाल है वहीं इनको उगाने वाले अन्नदाताओं को इनके दाम नहीं मिलते हैं और उन पर कर्ज का बोझ बढ़ रहा है। कांग्रेस महासचिव ने केंद्र में बैठी मोदी सरकार को किसान, गरीबों एवं मध्यम वर्ग का दुश्मन बताया है।

सुप्रीम कोर्ट ने 28 साल पुराने बाबरी मस्जिद विध्वंस के क्रिमिनल केस का फैसला देने वाले जज एसके यादवकी सुरक्षा बढ़ाने से इनकार कर दिया है। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने जज एसके यादव को सुरक्षा दी थी। साथ ही उनके रिटायरमेंट को भी फैसला सुनाने तक बढ़ा दिया था। आपको बता दें, बीते दिनों बाबरी मस्जिद विध्वंस केस में फैसला आया था, जिसमें लालकृष्ण आडवाणी समेत सभी आरोपियों को बरी कर दिया गया। सुप्रीम कोर्ट की जस्टिस नरीमन की बेंच ने इस मामले को लेकर सुनवाई करते हुए कहा कि, हमें नहीं लगता है कि अब आगे इस मामले में सुरक्षा सुरक्षा दी जाने की जरूरत है। बता दें कि बाबरी मस्जिद विध्वंस पर फैसला सुनाने वाले रिटायर्ड स्पेशल सीबीआई जज यादव ने खुद लिखित में एक चिट्ठी लिखकर कहा था कि इस केस की सेंसिटिविटी को देखते हुए उनकी सुरक्षा को आगे बढ़ा दिया जाना चाहिए। जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया।

बिहार विधानसभा चुनाव के बीच पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की मौत को लेकर सवाल खड़े होने लगे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की पार्टी हिंदुस्तान आवाम मोर्चा (हम) ने इस मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी है। साथ ही इस मामले की न्यायिक जांच की मांग की है। दूसरी ओर लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने कहा कि जांच की मांग करने वालों को शर्म आनी चाहिए। प्रधानमंत्री मोदी को लिखे पत्र में कहा गया है कि राम विलास पासवान के निधन से जुड़े कई ऐसे सवाल हैं जो अपने आप में चिराग पासवान को कठघरे में खड़ा करते हैं। पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कहा, रामविलास पासवान की मौत की न्यायिक जांच होनी चाहिए। पासवान राज्य के बड़े नेता थे और केंद्रीय मंत्री भी थे। उनके स्वास्थ्य को लेकर कोई मेडिकल बुलेटिन जारी नहीं हुआ। उनकी मौत की खबर भी देर से दी गई। इसलिए इस मामले की न्यायिक जांच होनी चाहिए।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia