नवजीवन बुलेटिन: राहुल बोले- अर्थव्यवस्था में लोगों का नहीं रहा विश्वास और कोरोना से पुरूषों की हो रही ज्यादा मौत

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने देश के आर्थिक हालात को लेकर सरकार को घेरते हुए आरोप लगाया कि देश की अर्थव्यवस्था में लोगों का विश्वास खत्म हो गया है और स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि कोरोना से अब तक जितनी मौतें हुई हैं, उनमें 68 फीसदी पुरुष हैं। वहीं, 32 फीसदी महिलाएं हैं।

user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने देश के आर्थिक हालात को लेकर सरकार को घेरते हुए मंगलवार को आरोप लगाया कि देश की अर्थव्यवस्था में लोगों का विश्वास खत्म हो गया है। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के एक लेख का हवाला देते हुए ट्वीट किया, ‘‘अर्थव्यवस्था में लोगों का विश्वास खत्म हो गया है। माहौल बिगड़ गया है। प्रधानमंत्री और उनकी टीम के पास न तो समझ है, न ही समस्या को ठीक करने की योग्यता है।’’कांग्रेस नेता ने कहा कि यह सिर्फ समय की बात है कि कब हर भारतीय को इस स्थिति के बारे में समझ आ जाएगा। गौरतलब है कि मनमोहन सिंह ने सोमवार को अंग्रेजी दैनिक ‘द हिंदू’ में लिखे एक लेख में कहा था कि अर्थव्यवस्था को पटरी पर वापस लाने के लिए पूरी ताकत के साथ काम करना बहुत जरूरी है तथा अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने का आधार पूरे विश्वास को बहाल करना है। उन्होंने अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के संदर्भ में कुछ उपाय भी सुझाए।

देश में कोरोना वायरस का मामला काफी तेजी से बढ़ता जा रहा है। आलम ये है कि पाबंदियों और लॉकडाउन के बावजूद देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 18 लाख के पार पहुंच चुका है। हालांकि, एक अगस्त से देश में Unlock 3.0 का आगाज हो चुका है। इसके बावजूद औसतन हर दिन 50 हजार से ज्यादा कोरोना के नए मामले सामने आ रहे हैं। वहीं, इस महामारी से मौतें भी लगातार हो रही है। इसी बीच स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि कोरोना से अब तक जितने लोगों की मौत हुई, उनमें 68 फीसदी पुरुष हैं। मंत्रालय का कहना है कि इस समय में देश में एक लाख में 140 लोगों की प्रतिदिन कोरोना की जांच हो रही है। वहीं, रिकवरी रेट में भी लगातार सुधार हो रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने बताया कि कोरोना वायरस से अब तक जितनी मौतें हुई हैं, उनमें 68 फीसदी पुरुष हैं। वहीं, इस महामारी से 32 फीसदी महिलाओं की मौत हुई है। हालांकि, मंत्रालय ने इस बात की जानकारी नहीं दी कि यह अंतर क्यों है? उन्होंने कहा कि पिछले कुछ दिनों में कई राज्यों में कोरोना की परीक्षण बढ़ी है।

देश की राजधानी दिल्‍ली में कोरोना केसों के मामले में लगातार सुधार देखने को मिल रहा है. दिल्ली में पिछले 24 घंटों में केवल 674 मामले सामने आए हैं और यहां एक्टिव मरीज़ों की संख्या 10,000 के नीचे पहुंच गई. इसके साथ ही दिल्ली में कोरोना रिकवरी रेट 89.98% हो गया है. यहां अब केवल 7.11% एक्टिव मरीज ही बचे हैं जबकि 2.89% मरीज़ों की मौत हो चुकी है. समग्र रूप से बात करें तो दिल्‍ली में अब तक कोरोना के 1,39,156 हुए दर्ज हो चुके हैं. देश की राजधानी में पिछले 24 घण्टे में 12 मरीजों की मौत हुई और कुल मौत का आंकड़ा 4033 पहुंच गया है. पिछले 24 घण्टे में 972 लोग ठीक हुए और अब तक कुल 1,25,226 लोग ठीक हो चुके हैं.

लोकप्रिय
next