नवजीवन बुलेटिन: चीन से आयात पर राहुल गांधी का केंद्र पर निशाना और प्रियंका बोलीं- यूपी पुलिस बनी दमन का औजार

पूर्वी लद्दाख में भारत-चीन LAC विवाद के बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने चीन से माल आयात करने पर केंद्र को घेरा है और कांग्रेस के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के चेयरमैन शाहनवाज आलम की गिरफ्तारी को लेकर प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर निशाना साधा है।

user

नवजीवन डेस्क

देश में कोरोना वायरस संक्रमण की भयावह होती स्थिति के बीच पिछले 24 घंटों में संक्रमण के साढ़े 18 हजार से अधिक नये मामले सामने आये हैं जिससे संक्रमितों का आंकड़ा 5.66 लाख के पार पहुंच गया है। दूसरी तरफ इस बीमारी से निजात पाने वालों की संख्या में भी इजाफा हो रहा है और इसी अवधि में 13,099 रोगी ठीक हुए है, जिन्हें मिलाकर अब तक कुल 3,34,822 मरीज रोगमुक्त हो चुके हैं। रविवार को जहां संक्रमण के 19,906 मामले दर्ज किये गये थे वहीं सोमवार को इससे थोड़े कम 19,459 मामले सामने आये तथा आज 18,522 नये मामले सामने आये हैं। पिछले 24 घंटों के दौरान इस संक्रमण से 418 लोगों की मौत हुई है जिससे मृतकों की संख्या बढ़कर 16,893 हो गयी है।

पूर्वी लद्दाख स्थित गलवान में भारत और चीन के वास्तविक नियंत्रण रेखा को लेकर विवाद के बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने चीन से माल आयात करने पर केंद्र को घेरा है। राहुल गांधी ने दावा किया है कि कांग्रेस की अगुवाई वाली यूपीए सरकार के दौरान चीन से आयात कम हुआ, जबकि भारतीय जनता पार्टी की अगुवाई वाली राजग सरकार के कार्यकाल के दौरान चीन से खरीददारी यानी आयात ज्यादा हुआ। राहुल ने एक ग्राफ शेयर कर लिखा है, 'बीजेपी कहती है मेक इन इंडिया लेकिन करती है बाय फ्रॉम चाइना। ग्राफ के जरिए राहुल ने दावा किया कि 'साल 2009 से साल 2014 के दरम्यां चीन से कुल अधिकतम आयात 14 फीसदी था जबकि मोदी सरकार ने यह अधिकतम 18 फीसदी तक जा पहुंचा है।'कांग्रेस नेता ने लिखा - 'तथ्य झूठ नहीं बोलते।'

उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के चेयरमैन शाहनवाज़ आलम की गिरफ्तारी को दमनात्मक कार्रवाई बताते हुए पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी ने मंगलवार को कहा कि फर्जी आरोपों से विपक्ष की आवाज को दबाने के प्रयास के बावजूद कार्यकर्ता जनता के मुद्दों पर मुखर रहेंगे। प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया ‘कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता जनता के मुद्दों पर आवाज उठाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। भाजपा सरकार यूपी पुलिस को दमन का औज़ार बनाकर दूसरी पार्टियों को आवाज उठाने से रोक सकती है, हमारी पार्टी को नहीं। देखिए किस तरह यूपी पुलिस ने हमारे अल्पसंख्यक विभाग के अध्यक्ष को रात के अंधेरे में उठाया। पहले फर्जी आरोपों को लेकर हमारे प्रदेश अध्यक्ष को चार हफ़्तों के लिए जेल में रखा। ये पुलिसिया कार्रवाई दमनकारी और आलोकतांत्रिक है। कांग्रेस के सिपाही पुलिस की लाठियों और फर्जी मुकदमों से नहीं डरने वाले। कांग्रेस महासचिव ने ट्वीट के साथ एक वीडियो भी पोस्ट किया है जिसमें सादे लिबास में दो लोग एक व्यक्ति को कार में बैठाकर ले गये हैं।

लोकप्रिय