नवजीवन बुलेटिन: सिक्किम में 1 अगस्त तक बढ़ा लॉकडाउन और गुरुग्राम डिस्ट्रिक्ट कोर्ट ने अलीबाबा को भेजा समन

कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों के बीच सिक्किम सरकार ने 1 अगस्त तक लॉकडाउन लागू कर दिया है। पहले से चल रहा लॉकडाउन रविवार यानी 26 जुलाई को खत्म हो रहा था और दिग्गज उद्योगपतियों में शामिल जैक मा और उनकी कंपनी अलीबाबा को गुरुग्राम डिस्ट्रिक्ट कोर्ट ने समन भेजा है।

user

नवजीवन डेस्क

कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों के बीच सिक्किम सरकार ने 1 अगस्त तक लॉकडाउन लागू कर दिया है। पहले से चल रहा लॉकडाउन रविवार यानी 26 जुलाई को खत्म हो रहा था। कोरोना की रफ्तार में कमी ना आने के कारण इसे एक और हफ्ते के लिए बढ़ा दिया गया है। आपको बताते चलें कि सिक्किम देश का ऐसा राज्य था, जहां सबसे आखिर में कोरोना का पहला मरीज पाया गया था।

तमिलनाडु के तिरुचिराल्ली में एक अग्रणी राष्ट्रीयकृत बैंक की मुख्य शाखा के कम से कम 38 कर्मी कोरोना वायरस से संक्रमित पाये गये हैं। बैंक और स्थानीय नगर निकाय के अधिकारियों ने यह जानकारी दी। अधिकारियों के अनुसार जो ग्राहक बैंक आये थे उन्हें भी स्वेच्छा से कोरोना व़ायरस की जांच कराने की सलाह दी गयी है। आपको बता दें, बैंक की इस शाखा में पेंशनधारकों और ऋण आवेदकों समेत कई तरह के ग्राहक आते हैं।

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में पुलिस तथा सेना की संयुक्त टीम ने आतंकियों के तीन मददगार गिरफ्तार किए। उनके कब्जे से एक एके 47 राइफल और दस पैकेट ब्राउन शुगर बरामद किए गए है। पुलिस टीम के अधिकारी अब इन सभी से कड़ी पूछताछ कर रहे हैं। जानकारी के अनुसार पुलिस को सूचना मिली थी कि कुपवाड़ा इलाके में आतंकियों के तीन मददगार माल की सप्लाई लेकर आ रहे है। सूचना पर कार्रवाई करते हुए पुलिस और सेना की राष्ट्रीय राइफल्स ने यहां एक बड़ा अभियान शुरू किया। उसके बाद साधना पास इलाके में नाका लगा लिया गया। नाके पर वाहनों की जांच के दौरान एक कार को रोका गया। जब उसकी तलाशी ली गई तो अंदर से पुलिस को राइफल तथा दस पैकेट ब्राउन शुगर बरामद हुए।

दिग्गज उद्योगपतियों में शामिल जैक मा और उनकी कंपनी अलीबाबा को गुरुग्राम डिस्ट्रिक्ट कोर्ट ने समन भेजा है। कोर्ट ने कंपनी द्वारा भारतीय कर्मचारी को गलत तरीके से नौकरी से निकाले जाने के मामले में ये समन भेजा गया है। जज की ओर से 29 जुलाई तक कोर्ट में खुद हाजिर होने या फिर वकील को भेजने के भी ऑर्डर किए हैं। वहीं न्यायाधीश की ओर से कंपनी और एग्जिक्युटिव्स से 30 दिन के अंदर लिखित में जवाब देने को भी कहा गया है। पीडि़त कर्मचारी का आरोप है कि कंपनी ऐप पर चलाई जा रही फेक न्यूज का विरोध करने पर उसे नौकरी से निकाल दिया गया। कर्मचारी के वकील ने बताया कि पुष्पेंद्र सिंह परमार ने कंपनी से 2 करोड़ रुपये मुआवजा देने की मांग की है।

लोकप्रिय
next