अग्निवीर नहीं बन पाने पर उत्तराखंड के युवक ने दे दी जान, वीडियो में कहा- मेरे पास अब कोई चारा नहीं

बागेश्वर जिले के कपकोट थाना क्षेत्र के फरसाली मल्ला देश निवासी 21 वर्षीय कमलेश गोस्वामी पुत्र हरीश गिरी गोस्वामी लंबे समय से सेना की तैयारी कर रहा था।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तराखंड में अग्निपथ योजना के तहत अग्निवीर भर्ती में चयन न होने पर एक युवक ने अपनी जान दे दी। घटना के बाद परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। मौत से पहले उसने वीडियो बनाकर अपनी पीड़ा बयां की, काफी भावुक करने वाले वीडियो में वह कह रहा है कि उसके पास एनसीसी का सी सर्टिफिकेट होने और फिजिकल में पूरे नंबर होने के बाद भी उसे असफल घोषित किया है, जो कि सिस्टम की लापरवाही है।

जानकारी के मुताबिक, बागेश्वर जिले के कपकोट थाना क्षेत्र के फरसाली मल्ला देश निवासी 21 वर्षीय कमलेश गोस्वामी पुत्र हरीश गिरी गोस्वामी लंबे समय से सेना की तैयारी कर रहा था। उसने बीते अगस्त महीने में अग्निवीर भर्ती के तहत फिजिकल परीक्षा दी थी, जिसमें उसे पूरे 100 नंबर मिले। सोमवार को अग्निवीर रिटर्न का रिजल्ट आया, जिसमें उसे सफलता नहीं मिली तो उसने क्षुब्ध होकर मौत को गले लगा लिया।

अपनी योग्यता के बल पर अग्निवीर बनने के सपने संजोए कमलेश ने आत्महत्या से पहले सोशल मीडिया में कुछ स्टेटस डाले थे, जिसे देखने के बाद ही परिजन समझ गए थे कि कमलेश तनाव में है और वो अनहोनी कर सकता है। जिसके बाद उसकी तलाश की तो वो घर के पास ही तड़पता हुआ मिला। बताया गया कि कमलेश ने सल्फास की गोली खा ली थी, जिसके बाद परिजनों ने कमलेश को आनन फानन में कपकोट चिकित्सालय पहुंचाया। जहां से प्राथमिक उपचार के बाद उसे जिला चिकित्सालय रेफर कर दिया गया, लेकिन उसने दम तोड़ दिया। वहीं, पुलिस ने शव का पोस्टमॉर्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;