कश्मीर में खुले दफ्तर, काम पर लौट रहे कर्मचारी, जानिए घाटी में आज क्या-क्या बदला

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35-ए को हटाए पांच दिन हो गए हैं। घाटी में पिछले कई दिनों से सड़कों पर सुरक्षाबल मुस्तैद हैं, लोग घर से बाहर निकलने में घबरा रहे हैं। लेकिन आज कई मामलों में छूट दी जाएगी और काफी कुछ सामान्य होने की कगार पर आ जाएगा।

नवजीवन डेस्क

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35-ए को हटाए पांच दिन हो गए हैं। घाटी में पिछले कई दिनों से सड़कों पर सुरक्षाबल मुस्तैद हैं, लोग घर से बाहर निकलने में घबरा रहे हैं। लेकिन आज कई मामलों में छूट दी जाएगी और काफी कुछ सामान्य होने की कगार पर आ जाएगा।

कश्मीर घाटी के अंदर आज पब्लिक ट्रांसपोर्ट चालू हो जाएगा। अभी तक घाटी में बाजार खुल रहे थे, सब्जी-मेडिकल की दुकान खुली हुई थीं।

जम्मू क्षेत्र के उधमपुर-सांबा के सरकारी और प्राइवेट स्कूल, कॉलेज आज खुलेंगे। स्कूलों के आसपास सुरक्षाबल तैनात हैं, ताकि किसी तरह की दिक्कत ना आ सके।

सभी सरकारी अफसरों को दफ्तर आने के निर्देश दिए गए हैं, ऐसे में पांच दिन के बाद सरकारी ऑफिसर काम पर लौटेंगे।

जम्मू-कश्मीर को केंद्र शासित प्रदेश बनाए पांच दिन हो गए हैं, आज शुक्रवार है। ये नई व्यव्यस्था का पहला शुक्रवार है, ऐसे में नमाज अदा करने के लिए लोग मस्जिदों में जाएंगे। पहले कई बार नमाज के बाद पत्थरबाजी की घटनाएं होती रही हैं। इसलिए श्रीनगर में भी सुरक्षाबल तैनात हैं।

आपको बता दें कि गुरुवार रात को आठ बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र को संबोधित किया था। इस दौरान पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर की नई व्यवस्था की बात की थी। पीएम मोदी ने कश्मीर के लोगों को भरोसा दिलाया था कि ईद के अवसर पर घाटी के लोगों का ध्यान रखा जाएगा।

प्रधानमंत्री का कहना था कि घाटी के लोग खुशी-खुशी ईद मना सकें, इसके लिए सरकार तैयार है। इतना ही नहीं पीएम ने उन लोगों को भी भरोसा दिलाया था जो लोग देश के अन्य हिस्सों में रहते हैं और कश्मीर अपने घर ईद मनाने के लिए जा रहे हैं।

Published: 9 Aug 2019, 12:01 PM
लोकप्रिय