हेमंत सोरेन का गिरफ्तारी से पहले का वीडियो आया सामने, ईडी की कार्रवाई को बताया 'राजनीतिक षड्यंत्र'

हेमंत सोरेन ने कहा कि ED का दावा है कि मैं 8.50 एकड़ जमीन का मालिक हूं। जबकि यह जमीन भुईंहरी है। यह जमीन कभी बिकती ही नहीं है। उन्हें इस बाबत कहीं कोई सबूत तक नहीं मिला।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

झारखंड के पूर्व सीएम हेमंत सोरेन ने ईडी द्वारा गिरफ्तार किए जाने से ठीक पहले जनता के नाम एक वीडियो रिकॉर्ड किया। गुरुवार सुबह से यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसमें उन्होंने खुद को निर्दोष और ईडी की कार्रवाई को राजनीतिक षड्यंत्र बताया है। उन्होंने कहा है कि वे शिबू सोरेन के बेटे हैं। किसी से डरने वाले नहीं हैं।

वीडियो में उन्होंने जनता के नाम अपनी अपील में जो कुछ कहा है, वह इस प्रकार है - साथियों, जोहार। आज मुझे ईडी गिरफ्तार करने आई है। दिन भर मुझसे पूछताछ करने के बाद, समय बिताने के बाद, सुनियोजित ढंग से मुझे गिरफ्तार करने का उन्होंने फैसला सुनाया है। फैसला ऐसे विषय पर सुनाया है जो चीज मुझसे जुड़ी हुई ही नहीं है।

उनका दावा है कि में 8.50 एकड़ जमीन का मालिक हूं। जबकि यह जमीन भुईंहरी है। यह जमीन कभी बिकती ही नहीं है। उन्हें इस बाबत कहीं कोई सबूत नहीं मिला। इन्होंने दिल्ली में भी छापेमारी का काम किया। यह सिर्फ मेरी छवि खराब करने की कोशिश है। और आखिर में एक सुनियोजित तरीके से यह मुझे गिरफ्तार करने आए हैं। उन्हें पता है कि शाम के वक्त कोर्ट कचहरी बंद हो जाता है। अपनी योजना के अनुसार ईडी ने मुझे गिरफ्तार करने का फैसला सुनाया है।

हेमंत सोरेन ने कहा कि मैं कोर्ट के हर निर्णय का सम्मान करता हूं। इसलिए मैं भी कोर्ट की शरण में जा रहा हूं। लेकिन मुझे नहीं लगता है कि मुझे इतना वक्त मिलेगा, क्योंकि आपको पता है कि देश के अंदर व्यवस्थाएं किस तरीके से काम कर रही हैं। आज एक लोकप्रिय सरकार, एक आदिवासी नेता अपने बल पर जीतकर, सरकार बनाकर जनता की सेवा कर रहा था। आज लगता है, यह वक्त मेरे लिए खत्म हो रहा है। अब एक नई लड़ाई हमें लड़नी पड़ेगी। ऐसे सामंती विचारों के साथ और ऐसे तंत्रों के साथ, जो निर्दोष लोगों को, गरीब, निरीह, आदिवासी, दलित और पिछड़ों के ऊपर जो अत्याचार करते हैं। आज मुझे संभवतः ये लोग अपने कब्जे में ले लेंगे। मुझे इसकी चिंता नहीं। शिबू सोरेन का मैं बेटा हूं। संघर्ष हमारे खून में है। और संघर्ष करेंगे, लड़ेंगे, जीतेंगे।


हेमंत सोरेन ने आगे कहा कि आपको हम बता दें कि जिस जमीन को लेकर उन्होंने मुझपर आरोप लगाए, मुझे अरेस्ट कर रहे हैं, जहां मेरा दूर-दूर तक मेरा कोई भी नाम, कहीं से नहीं है। बल्कि जो लोग जाली कागज बनाकर, जिनकी फर्जी शिकायत के आधार पर मुझे आज गिरफ्तार करने का षड्यंत्र रचकर आज ये कामयाब हो रहे हैं। मुझे पूरा विश्वास है कि आज नहीं तो कल सत्य की विजय होगी। अभी इनके जिस राजनीतिक षड्यंत्र का शिकार बिहार हुआ है, दूसरे राजनीतिक षड्यंत्र का शिकार ये मुझे बना रहे हैं। मेरे पास समय बहुत कम है। बहुत कम समय में मैं यह वीडियो बना रहा हूं। आप आश्वस्त रहें कि सत्य की कभी हार नहीं होती।

(नोट: ये वीडियो हेमंत सोरेन ने गिरफ्तारी से पहले रिकॉर्ड किया था, जो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है)

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;