वीडियो: संसद, चुनाव प्रणाली, लोकतंत्र की बुनियादी संरचना पर एक संगठन द्वारा कब्जा किया जा रहा है- राहुल गांधी

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि भारत को बोलने की अनुमति देने वाली संस्थाओं पर हमला किया जा रहा है। संसद, चुनाव प्रणाली, लोकतंत्र की बुनियादी संरचना पर एक संगठन द्वारा कब्जा किया जा रहा है।

user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस नेता राहुल गांधी सोमवार को लंदन में कैंब्रिज यूनिवर्सिटी के कॉर्पस क्रिस्टी कॉलेज में छात्रों के साथ संवाद किया था। इस दौरान उन्होंने कई मुद्दों पर जवाब दिया।

भारत में चरमरा गई है लोकतांत्रिक व्यवस्था

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि भारत में लोकतांत्रिक व्यवस्था चरमरा गई है। लोकतांत्रिक संस्थाएं कमजोर हुई है। उन्होंने कहा कि चुनावी ढांचे से लेकर लोकतांत्रिक ढांचे और न्यायपालिका तक एक संगठन पर कब्जा है।

जब भारत चुप हो जाता है, तब ‘निष्प्राण’ हो जाता है

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि “हमारे लिए भारत तब ‘जीवंत’ होता है, जब भारत बोलता है। जब भारत चुप हो जाता है, तब ‘निष्प्राण’ हो जाता है। मैं देखता हूं कि भारत को बोलने की अनुमति देने वाली संस्थाओं पर हमला किया जा रहा है। संसद, चुनाव प्रणाली, लोकतंत्र की बुनियादी संरचना पर एक संगठन द्वारा कब्जा किया जा रहा है।

एक विचारधारा को थोप नहीं सकते

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि भारत ऐसे देश में एक विचारधारा को थोप नहीं सकते हैं। इसके नतीजे आप पंजाब, तमिलनाडु और नार्थ ईस्ट में देख सकते हैं। आप देश में एक प्रेशर बना रहे हैं।

राष्ट्रीय पार्टी वह पार्टी है जो बातचीत को सिलती है

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि भारत को यूरोप के रूप में सोचना और एक ऐसे यूरोप के बारे में सोचना अधिक सटीक है जो राजनीतिक और आर्थिक रूप से एकजुट है। 70 साल पहले भारत ने यही हासिल किया था। वैसे, यूरोप ने इसे हासिल नहीं किया है। 70 साल पहले जो हासिल हुआ वह एक शक्तिशाली अनोखी चीज थी। लेकिन इसके लिए इन राज्यों के बीच बातचीत की जरूरत है। अब बीजेपी और कांग्रेस का सवाल कहां आता है। राष्ट्रीय पार्टी वह पार्टी है जो बातचीत को सिलती है। इसलिए वास्तव में, मैं इसे कांग्रेस पार्टी के लिए एक वास्तविक चुनौती के रूप में नहीं देखता। मैं इसे कांग्रेस पार्टी के लिए एक बड़े अवसर के रूप में देखता हूं, इस पर ठीक से प्रतिक्रिया करता है

हमने भारत के विकास में अहम भूमिका निभाई है

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि भले ही कांग्रेस बीते सात सालों से सत्ता में ना हो लेकिन हम सत्तर सालों से सत्ता में रहे हैं और भारत के विकास में अहम भूमिका निभाई है। हमें खुद में बदलाव लाने होंगे और अपनी भूमिका नए तरीके से समझनी होगी। वे राजनीति और नीति में बदलाव के लिए अपनी पार्टी में युवाओं के लिए दरवाजे खोल रहे हैं।

यहां विचारधाराओं की लड़ाई है

राहुल गांधी ने कहा कि भारत में वैचारिक लड़ाई चल रही है। दो विजन हैं, एक विजन बीजेपी और आरएसएस का है, उनका कहना है कि सामाजिक व्यवस्था की रक्षा करने की जरूरत है। भारत को प्रगति करनी चाहिए, लेकिन लोगों को सामाजिक व्यवस्था में ऊपर और नीचे जाना चाहिए। हम जो कह रहे हैं वह यह है कि एक व्यक्ति, एक वोट, सभी को समान अवसर मिले, सभी को समान आधिक्य मिले।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia