वीडियो: मुंह पर बापू और बगल में गोडसे को रखने वाली BJP की विचारधारा और व्यवहार का दोहरापन अब नहीं चलेगा- कांग्रेस

गांधी जयंती पर बापू के विचारों पर चलने की बात करने वाले पीएम मोदी और BJP नेता गोडसे की विचारधारा वाली सोच को प्राथमिकता देते हैं। कांग्रेस पार्टी ने पीएम मोदी और अमित शाह से लेकर कई बीजेपी नेताओं के बयान साझा कर BJP की दोगली मानसिकता को उजागर किया है।

नवजीवन डेस्क

2 अक्टूबर को महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर पीएम मोदी और केंद्र सरकार द्वारा देश के अलग-अलग हिस्सों में अनेक कार्यक्रम आयोजित कर गांधी के विचारों की चर्चा की गई। लेकिन इन विचारों के उलट बीजेपी और उसके कई बड़े नेता आज भी गांधी के हत्यारे नाथू राम गोडसे के विचारों को प्राथमिकता देते हैं। कांग्रेस पार्टी ने सोशल मीडिया पर पीएम मोदी और अमित शाह से लेकर कई बीजेपी नेताओं के कुछ बयान साझा किए हैं। जिनमें गांधी और गोडसे को लेकर उनके बयान कहीं से कही तक मेल नहीं खाते।

पीएम मोदी ने गांधी को लेकर एक बयान में कहा था कि बापू के सपनों का भारत, नया भारत बन रहा है, जबकि गुजरात दंगों के समय मुस्लिमों की मौत पर किए गए एक सवाल पर मोदी ने कहा था , ‘दुःख तो होता ही है, अगर एक कुत्ते का बच्चा भी कार के नीचे आजाए तो दुःख होता है।

अमित शाह ने गांधी के विचारों के सराहना करते हुए कहा, महात्मा गांधी एक ऐसे महामानव थे जिनके दर्शन और विचार आज भी उतने ही अटल हैं जबकि चुनाव प्रचार के दौरान अमित शाह ने कहा था, ‘ ये चुनाव सम्मान का चुनाव है, अपमान के बदले का चुनाव और और जिन्होंने अन्याय किया है उन्हें सबक सिखाने का चुनाव है।’

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने गांधी के लिए कहा था, बापू के सिद्धांत और आदर्श आज भी हमारे लिए प्रेरणा स्त्रोत हैं। जबकि इसके उलट एक समुदाय विशेष को टारगेट करते हुए उन्होंने कहा था, ‘हम लोगों ने तय कर रखा है कि अगर वो एक भी हिंदू बालिका को लेकर जाएंगे तो हम कम से कम 100 मुस्लिम बालिकाओं को लेकर आएंगे।’

वहीं गांधी के नाम पर हमेशा मौन रहने वाली साध्वी प्रज्ञा गोडसे को देशभक्त बताती हैं।

लोकप्रिय