आरएसएस प्रकाशन के खिलाफ शारजाह अंतर्राष्ट्रीय पुस्तक मेले में शिकायत दर्ज

दुनिया के तीसरे सबसे बड़े पुस्तक मेले ‘शारजाह बुक फेयर’ में केरल स्थित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की प्रकाशन संस्था ‘कुरुक्षेत्र’ द्वारा प्रकाशित एक किताब के खिलाफ शिकायत दर्ज की गई है।

फोटो: नवजीवन
फोटो: नवजीवन

भाषा सिंह

दुनिया के तीसरे सबसे बड़े पुस्तक मेले ‘शारजाह बुक फेयर’ में केरल स्थित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की प्रकाशन संस्था ‘कुरुक्षेत्र’ द्वारा प्रकाशित एक किताब के खिलाफ शिकायत दर्ज की गई है। सत्यधारा पब्लिकेशन ने शारजाह बुक फेयर मैनेजमेंट से शिकायत की है कि प्रकाशन संस्था कुरुक्षेत्र की एक किताब में मुसलमानों के खिलाफ भड़काने वाली बातें लिखी हुई हैं, जो इस्लाम मानने वालों को ठेस पहुंचाती हैं।

इस तरह की शिकायत शारजाह पुस्तक मेले में पहली बार दर्ज की गई है। सूत्रों के अनुसार इस शिकायत और विवादित किताब पर मिनिस्ट्री ऑफ रिलीजन और मिनिस्ट्री ऑफ कल्चर जांच कर रहा है। जब यह पत्रकार शारजाह में कुरुक्षेत्र के इस स्टॉल पर पहुंची तो वहां मौजूद महाप्रबंधक राजेश चंद्रन ने बताया, “संघ की राजनीति और उसकी विचारधारा को प्रचारित करने के लिए यह स्टॉल पिछले दो सालों से लगाया जा रहा है। इसे बहुत अच्छा रिस्पॉन्स भी मिल रहा है। यहां के तमाम प्रकाशक इस तरह के धार्मिक और राष्ट्रवादी प्रकाशन नहीं करते हैं, लिहाजा संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में रहने वाले हिंदुओं के लिए हमारा स्टॉल एक बड़े सांस्कृतिक केंद्र के तौर पर उभर रहा है।”

फोटो: नवजीवन
फोटो: नवजीवन

भारत में आरएसएस जिस तरह से पूरी तैयारी के साथ अपनी पहुंच बढ़ा रहा है, उसी तरह से वह विदेशों में भी अपनी दीर्घकालीन रणनीति पर काम कर रहा है। शारजाह पुस्तक मेले में भी आरएसएस अपने भगवा एजेंडे के साथ मौजूद है। केरल के आरएसएस के प्रकाशन विभाग इंद्रप्रस्थ का स्टॉल दो साल से शारजाह में लग रहा है। पहले भी गोलवरकर, सावरकर, हेडगेवार आदि की किताबों पर कई प्रबुद्धजन नाराजगी जता चुके हैं। सावरकर के विचारों पर केंद्रित उक्त किताब में सीधे-सीधे मुसलमानों के खिलाफ नफरत से भरी बातें लिखी हुई हैं।

शारजाह अंतर्राष्ट्रीय पुस्तक मेले में भारत की तरफ से केरल का बोलबाला है। यूएई में केरल के लोगों की तादाद 13 लाख से अधिक बताई जाती है। 1 नवंबर से शुरू हुए इस पुस्तक मेले में मलयामल प्रकाशकों के लिए अलग से एक हॉल का इंतजाम किया गया है। यही हॉल सबसे अधिक गुलजार रहता है और बड़े पैमाने पर लोग परिवार सहित खरीदारी करते हैं। यह मेला 11 नवंबर तक चलेगा।

Published: 6 Nov 2017, 7:07 PM
लोकप्रिय