अर्थ जगत की 5 बड़ी खबरें: गोल्ड ने बनाया ऊंचाई का नया रिकॉर्ड और कोरोना की दवा बनाने वाली कंपनी की हुई चांदी!

सोमवार को हफ्ते के पहले कारोबारी दिन सोने-चांदी की कीमत में बड़ी बढ़ोतरी हुई। सोने ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए और आज उच्चतम स्तर पर पहुंच गया और ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स नामक कंपनी ने कोरोना की दवा बनाने में सफलता हासिल कर ली। वहीं सरकार की मंजूरी के बाद ग्लेनमार्क फार्मा के शेयर आसमान छू रहे हैं।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

गोल्ड ने बनाया ऊंचाई का नया रिकॉर्ड, 10 ग्राम की कीमत 48,300 रुपये

कोरोना वायरस के संकट के बीच घरेलू और अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने ने रिकॉर्ड ऊंचाई हासिल कर ली है। घरेलू बाजार में 24 कैरेट गोल्ड ने प्रति 10 ग्राम 48,300 रुपये का नया रिकॉर्ड बनाया है। इंडिया बुलियन ऐंड ज्वैलर्स एसोसिएशन की वेबसाइट के मुताबिक 24 कैरेट गोल्ड ने प्रति 10 ग्राम 48,300 रुपये का नया रिकॉर्ड बनाया है। 23 कैरेट सोने का भाव भी 645 रुपये बढ़कर 48107 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया है। 22 कैरेट सोने का मूल्य अब 593 रुपये तेज होकर 44243 रुपये और 18 कैरेट का 36,225 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया है। वहीं चांदी भी 966 रुपये तेज हो गई है। न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक अंतरराष्ट्रीय हाजिर बाजार में सोना 0।5 फीसदी उछलकर 1751.63 डॉलर प्रति औंस तक पहुंच गया। इसके पहले सोने ने रिकॉर्ड उंचाई 18 मई को हासिल की थी। इसी तरह अमेरिकी वायदा बाजार में सोना 1,764.50 डॉलर प्रति औंस के रिकॉर्ड लेवल पर पहुंच गया। भारत-चीन तनाव और हांगकांग के माहौल का भी अंतरराष्ट्रीय कमोडिटी बाजारों पर असर पड़ा है।

इसे भी पढ़ें- कोरोना से ठंडी पड़ी आइस्क्रीम-सॉफ्ट ड्रिंक की मांग,पेट्रोल-डीजल की महंगाई से नहीं मिल रही राहत

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

कोरोना की दवा बनाने वाली कंपनी के शेयर के दाम आसमान छू रहे

ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स नामक कंपनी ने कोरोना की दवा बनाने में सफलता हासिल कर ली। जिसको अब सरकार ने मंजूरी दे दी है। कंपनी के मुताबिक हल्के लक्षण वाले मरीजों में ये दवा काफी कारगर साबित होगी। वहीं सरकार की मंजूरी के बाद ग्लेनमार्क फार्मा के शेयर आसमान छू रहे हैं। शुक्रवार को कंपनी का शेयर 409.35 रुपये पर बंद हुआ था। सोमवार सुबह कारोबार शुरू होते ही कंपनी के शेयर में 20 फीसदी की तेजी देखी गई। इसके बाद 15 मिनट के ही कारोबार में इसका रेट 470 रुपये पहुंच गया। जिसके बाद एक घंटे के लिए ट्रेडिंग रोक दी गई। फिर 10।30 बजे जब दोबारा ट्रेडिंग शुरू हुई, तो शेयर का भाव 491 रुपये पहुंच गया। इसके बाद भी तेजी जारी रही और 10।45 बजे कंपनी के शेयर 508 रुपये पर पहुंच गए।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

सेंसेक्स 35000 के स्तर को बनाए रखने में नाकाम, निफ्टी 10300 के ऊपर

घरेलू शेयर बाजार में सोमवार को भारी उतार-चढ़ाव के बीच सेंसेक्स 35200 के ऊपर तक उछला, लेकिन सत्र के आखिर में 35000 के मनोवैज्ञानिक स्तर को बनाए रखने में नाकाम रहा। हालांकि निफ्टी 10300 के मनोवैज्ञानिक स्तर के ऊपर बंद हुआ। सेंसेक्स पिछले सत्र से 179.59 अंकों यानी 0.52 फीसदी की तेजी के साथ 34,911.32 पर बंद हुआ और निफ्टी भी पिछले सत्र से 66.80 अंकों यानी 0.65 फीसदी की बढ़त बनाकर 10311।20 पर ठहरा। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स पिछले सत्र से 160।30 अंकों की बढ़त के साथ 34,892.03 पर खुला और 35,213.52 तक उछला जबकि कारोबार के दौरान सेंसेक्स का निचला स्तर 34794.40 रहा।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक निफ्टी भी पिछले सत्र से 74.35 अंकों की बढ़त बनाते हुए 10318.75 पर खुला और कारोबार के दौरान 10,396.65 तक उछला जबकि निचला स्तर 10277.60 रहा। बीएसई मिडकैपस सूचकांक पिछले सत्र से 258.83 अंकों यानी 2।02 फीसदी की तेजी के साथ 13,062.67 पर बंद हुआ और स्मॉलकैप सूचकांक 166.84 अंकों यानी 1.36 फीसदी की तेजी के साथ 12,443.95 पर बंद हुआ।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

16वें दिन भी बढ़े ​पेट्रोल और डीजल के दाम, दिल्ली में 80 रुपये के करीब पेट्रोल के दाम

देश में लगातार 16वें दिन ​पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ गए हैं। दिल्ली में पेट्रोल का दाम 33 पैसे बढ़कर 79.56 रुपये प्रति लीटर हो गया है, जबकि डीजल का दाम 58 पैसे बढ़कर 78.85 रुपये प्रति लीटर हो गया है। सोमवार, 22 जून को भी सरकारी तेल कंपनियों ने ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी की है। दिल्ली के अलावा अन्य महानगरों की बात करें तो चेन्नई में पेट्रोल 82.87 रुपये और डीजल 76.30 रुपये लीटर हो गया है। कोलकाता में पेट्रोल 81.27 रुपये और डीजल 74.14 रुपये लीटर हो गया है। इसी तरह मुंबई में पेट्रोल 86.36 रुपये लीटर और डीजल 77.24 रुपये लीटर हो गया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

भारत में ई-कॉमर्स सेक्टर में लॉकडाउन पूर्व की 90 फीसदी बिक्री बहाल

भारत के ई-कॉमर्स सेक्टर में बिक्री की मात्रा लॉकडाउन पूर्व के स्तर की तुलना में 90 प्रतिशत बहाल हो गई है। यह जानकारी सोमवार को एक रिपोर्ट में सामने आई है। भारत के एक प्रमुख ई-कॉमर्स केंद्रित आपूर्ति श्रंखला एसएएएस (सॉफ्टवेयर-ऐज-ए-सर्विस) प्लेटफॉर्म, यूनीकॉमर्स द्वारा उपभोक्ता रुझान पर किए गए विश्लेषण के अनुसार, ई-कॉमर्स सेक्टर का अनुमान है कि महीने के अंत तक लॉकडाउन पूर्व की बिक्री का स्तर बहाल हो जाएगा। यूनीकॉमर्स के सीईओ कपिल मखीजा ने एक बयान में कहा, "ई-कॉमर्स सेक्टर भारत की सकल अर्थव्यवस्था की वृद्धि का लगातार नेतृत्व करता रहेगा। उपभोक्ताओं में ऑनलाइन शॉपिंग को महत्व देने की प्रवृत्ति बढ़ रही है, जो ऑनलाइन विक्रेताओं और मार्केटप्लेस के लिए एक बड़े आश्चर्य और राहत की बात है।"

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

लोकप्रिय