आईसीसी के इस नियम पर क्रिकेट जगत में बवाल, दुनिया के सबसे धाकड़ बल्लेबाज ने भी उठाए सवाल

सांसे थमा देने वाले फाइनल मुकाबले में इंग्लैंड ने न्यूजीलैंड को हराकर आईसीसी विश्व कप 2019 का खिताब जीता। मैच का नतीजा सुपर ओवर से भी नहीं निकल सका। मैच में ज्यादा चौका लगाने की वजह से इंग्लैंड को विजेता घोषित किया गया। लेकिन इस नियम पर सवाल उठने लगे हैं।

फोटो: सोेशल मीडिया
फोटो: सोेशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

एक बेहद ही रोमांचक फाइनल के साथ विश्व कप 2019 खत्म हो गया। इंग्लैंड ने पहली बार विश्व कप पर कब्जा किया। रविवार को लंदन के लार्डस ग्राउंड पर खेले गए सांसे थमा देने वाले फाइनल मुकाबले में इंग्लैंड ने न्यूजीलैंड को हराकर आईसीसी विश्व कप 2019 का खिताब जीता। मैच का नतीजा सुपर ओवर से भी नहीं निकल सका। मैच में ज्यादा चौका लगाने की वजह से इंग्लैंड को विजेता घोषित किया गया। लेकिन इस नियम पर सवाल उठने लगे हैं। कई वर्तमान और पूर्व क्रिकेटरों ने इस सवाल उठाए हैं।

इस विश्व कप में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले रोहित शर्मा को भी आईसीसी का यह नियम पसंद नहीं है। टीम इंडिया के वनडे और टी-20 के उपकप्तान रोहित शर्मा ने कहा कि कुछ नियमों पर आईसीसी को गंभीरता से विचार करना चाहिए। रोहित ने ट्वीट किया, ‘क्रिकेट के कुछ नियमों को गंभीर रूप से देखे जाने की जरूरत है।’

उनके अलावा कई पूर्व क्रिकेटरों ने भी इस नियम पर सवाल उठाए हैं। टीम इंडिया के पूर्व सदस्य और बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने भी बाउंड्री वाले पर को लेकर आईसीसी को घेरा है। गंभीर ने कहा कि बाउंड्री की संख्या के आधार पर टीम को विजेता बनाने का नियम बेतुका है।

गंभीर ने ट्वीट कर कहा, ‘मैच के विनर का फैसला बाउंड्री की संख्या के आधार पर हुआ। आईसीसी का ये नियम बेतुका है। मैच टाई होना चाहिए था। मैं दोनों टीमों को बधाई दूंगा जिन्होंने बेहतरीन फाइनल खेला। दोनों विजेता हैं।’

2011 विश्व कप के प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट और भारत को विश्व कप जीताने में सबसे अहम रोल निभाने वाले युवराज सिंह ने भी आईसीसी के इस नियम से असहमति जताई। युवी ने ट्वीट किया, 'मैं आईसीसी के उस नियम से सहमत नहीं हूं। लेकिन नियम तो नियम होते हैं। इंग्लैंड को आखिरकार विश्व कप जीतने की बधाई। मेरी सहानुभूति न्यूजीलैंड की टीम के साथ है, जो आखिर तक लड़े, अच्छा खेले।’

सुपर ओवर में टाई होने पर इस नियम से होता है विजेता का फैसला

बता दें कि क्रिकेट वर्ल्ड कप के फाइनल मुकाबले के बाद आईसीसी के नियमों के लेकर सवाल उठ रहे हैं। इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच खेले गए वर्ल्ड कप फाइनल मुकाबले में मैच और फिर सुपर ओवर के टाई होने के बाद बाउंड्री की संख्या के आधार पर इंग्लैंड की टीम को विजेता घोषित कर दिया गया।

इस मैच में इंग्लैंड ने 50 ओवर और सुपर ओवर को मिलाकर कुल 26 बाउंड्री लगाए थे। वहीं, न्यूजीलैंड के खाते में सिर्फ 17 बाउंड्री ही थे। ऐसे में मैच के टाई होने के बाद इंग्लैंड को विजेता घोषित कर दिया गया। आईसीसी के इस नियम के खिलाफ सोशल मीडिया पर भी लोगों ने जमकर आवाज उठाई है।

Published: 15 Jul 2019, 3:06 PM
लोकप्रिय