सहिष्णुता पर भारत को लेक्चर की जरूरत नहीं, लेकिन BJP क्षुद्र राजनीतिक लाभ के लिए देश का नुकसान बंद करे- कांग्रेस

वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने भी कहा कि अंतर्राष्ट्रीय प्रतिक्रिया के कारण बीजेपी अपने नेताओं पर कार्रवाई करने को मजबूर हुई। उन्होंने कहा कि नूपुर शर्मा और नवीन कुमार इस्लामोफोबिया के मूल निर्माता नहीं हैं। वे राजा के प्रति अधिक वफादार होने की कोशिश कर रहे थे।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बीजेपी के पूर्व प्रवक्ताओं के पैगंबर मोहम्मद पर अपमानजनक बयानों पर कई देशों द्वारा विरोध जताए जाने के बीच कांग्रेस ने मंगलवार को कहा कि भारत को धार्मिक सहिष्णुता पर किसी देश से लेक्चर की जरूरत नहीं है लेकिन बीजेपी को समझना होगा कि क्षुद्र राजनीतिक लाभ के लिए देश की पहचान को नुकसान नहीं पहुंचाना चाहिए।

कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने कहा, "भारत को धार्मिक सहिष्णुता पर किसी राष्ट्र से लेक्चर की आवश्यकता नहीं है, लेकिन बीजेपी को यह महसूस करना चाहिए कि क्षुद्र राजनीतिक लाभ और टीआरपी सनसनी के लिए हमारी धर्मनिरपेक्ष पहचान को नुकसान नहीं पहुंचाना चाहिए। सरकारें आएंगी और जाएंगी लेकिन एक जीवंत और बहुसांस्कृतिक देश के रूप में भारत की पहचान हमेशा के लिए बनी रहनी चाहिए!"


कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने पैगंबर मुहम्मद के खिलाफ टिप्पणी को लेकर बीजेपी के दो नेताओं को निलंबित किए जाने के बाद बीजेपी की तीखी आलोचना की थी। चिदंबरम ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय प्रतिक्रिया की वजह से ही बीजेपी अपने नेताओं पर कार्रवाई करने के लिए मजबूर हुई है। उन्होंने कहा, "नूपुर शर्मा और नवीन कुमार इस्लामोफोबिया के मूल निर्माता नहीं हैं। याद रखें, वे राजा के प्रति अधिक वफादार होने की कोशिश कर रहे थे।"

रविवार को कांग्रेस ने बीजेपी प्रवक्ता नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल के खिलाफ बीजेपी की कार्रवाई को ढोंग बताया। पार्टी महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि यह एक दिखावटी प्रयास है। कतर, ईरान और कुवैत के बाद अब यूएई ने पैगंबर मुहम्मद पर बीजेपी के पूर्व प्रवक्ताओं के बयानों की निंदा की है। यूएई के विदेश कार्यालय ने इस्लाम के संस्थापक के अपमान की निंदा और अस्वीकृति व्यक्त की है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia