दुनिया की 5 बड़ी खबरें: कोरोना मुक्त हुआ चीन का वुहान और यूएन की रिपोर्ट ने खोली पाकिस्‍तान की पोल!

चीन के वुहान में अब कोरोना का कोई एक्टिव केस नहीं है, शुक्रवार को जानकारी दी गई है कि वुहान में कोरोना से संक्रमित जो 3 मरीजों को ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और संयुक्त राष्ट्र की ओर से पेश की गई एक रिपोर्ट में कहा गया है कि, अफगानिस्तन में पाकिस्तान के हजारों आतंकवादी मौजूद हैं।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

कोरोना मुक्त हुआ चीन का वुहान शहर

दुनिया के कई देशों में कोरोना वायरस के तेजी से फैलने के बीच चीन के वुहान से राहत की खबर आई है। वुहान में अब कोरोना का कोई एक्टिव केस नहीं है। शुक्रवार को जानकारी दी गई है कि वुहान में कोरोना से संक्रमित जो तीन मरीजों को ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। जिसके बाद शहर में कोई कोरोना का मरीज अस्पतालों में नहीं है। बता दें, चीन का वुहान ही वो शहर है, जहां सबसे पहले कोरोना संक्रमण का मामला सामने आया था। जिसके बाद ये चीन के दूसरे शहरों और फिर पूरी दुनिया में फैल गया। कोरोना के चलते काफी समय तक वुहान शहर वायरस का केंद्र रहा और लॉकडाउन में रहा। अब इस शहर ने कोरोना से जंग जीत ली है। करीब एक करोड़ मरीजों के जांच के साथ चीन का वहुान अब कोरोना मुक्त हो गया है। चीन के प्रोफेसर लू चुशुन ने बताया है कि 14 मई से 1 जून की रात 12 बजे तक वुहान में 98,99,828 लोगों की कोविड-19 जांच की गई।

इसे भी पढ़ें- दुनिया की 5 बड़ी खबरें: फ्रांस में प्रदर्शन हुआ हिंसक, 18 गिरफ्तार और इंडोनेशिया में 6.8 तीव्रता का भूंकप

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया

यूएन की रिपोर्ट ने खोली पाकिस्‍तान की पोल

संयुक्त राष्ट्र की ओर से पेश की गई एक रिपोर्ट में कहा गया है कि, अफगानिस्तन में पाकिस्तान के हजारों आतंकवादी मौजूद हैं। इस घटना की जानकारी रखने वाले लोगों ने बताया कि, पिछले साल इमरान खान द्वारा दिया गया बयान इस रिपोर्ट को प्रमाणित कर करता है। इमरान खान ने एक समारोह में कहा था कि, पाकिस्तान के 40 हजार से अधिक आंतकी अफगानिस्तान में मौजूद थे। जिन्हें उनके देश में प्रशिक्षण दिया गया है। हिन्दुस्तान टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक, अब इस प्रतिक्रिया पर पाकिस्तान विदेश मंत्रालय का कहना है कि, पाकिस्तान की बदनामी" के लिए संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट का उपयोग कर रहा है। पाकिस्तान की ओर से आए जवाब पर इस मामले से जुड़े लोगों ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की एनलिटिकल सपोर्ट एंड सेंक्शन मॉनिटरिंग टीम ने केवल इमरान खान के बयान को दोहराया था।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया

डीजल लीक होने से खून सी लाल हुई रूस की नदी

रूस में आर्कटिक क्षेत्र में एक ऐसी घटना हुई जिसके बारे में जानकर हर कोई हैरान रह गया है। जो घटना नॉरीलस्‍क के करीब हुई है उसमें एक नदी जिसे बंरनया कहते हैं, उसमें डीजल लीक हो गया है। अब डीजल लीक होने के बाद भी नदी का पानी बिल्‍कुल खून सा लाल हो गया है और जो फोटोग्राफ सामने आई हैं, वो वायरल हो गई हैं। बताया जा रहा है कि ध्रुवीय गर्मी की वजह से मिट्टी ढीली हो गई थी और इस वजह से डीजल के टैंक को खासा नुकसान हो गया। इस घटना को पर्यावरण पर बड़ा असर डालने वाली घटना बताया जा रहा है। इस घटना में अंबरनया नदी में 20,000 लीटर डीजल बह गया। यह नदी आर्कटिक क्षेत्र में पड़ती है। स्‍थानीय मीडिया की तरफ से इस हादसे के बारे में बताया गया और इस बारे में जानकारी दी गई है कि हालात आगे और बिगड़ सकते हैं।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया

G7 में भारत को शामिल करने के डोनाल्‍ड ट्रंप के प्रस्‍ताव पर क्या बोला चीनी मीडिया?

अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से फोन पर बात करके देश को जी7 संगठन में शामिल करने का प्रस्‍ताव दिया। पीएम मोदी ने इस प्रस्‍ताव को स्‍वीकार कर लिया है और अब इस पर चीन की प्रतिक्रिया सामने आई है। चीन की मीडिया ने इस पर अब टिप्‍पणी की है और कहा है कि भारत आग से खेल रहा है। राष्‍ट्रपति ट्रंप ने इस संगठन में भारत के अलावा ऑस्‍ट्रेलिया, रूस और साउथ कोरिया को भी इनवाइट किया है। इस पूरे मसले पर चीन के विदेश मंत्रालय की तरफ से पहले ही प्रतिक्रिया दी जा चुकी है। चीन के सरकारी अखबार ग्‍लोबल टाइम्‍स ने लिखा है, 'भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिका राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के उस प्रस्‍ताव पर सकारात्‍मक तौर पर प्रतिक्रिया दी है जिसमें जी7 का विस्‍तार करके इसे जी11 या जी12 में तब्‍दील किया जा रहा है जिसमें भारत को भी शामिल किया गया है।' ग्‍लोबल टाइम्‍स ने इस पर भी ध्‍यान दिया है कि भारत के विदेश मंत्रालय की तरफ से जारी बयान में इस विस्‍तार को कोविड-19 के बाद दुनिया के सामने आने वाली वास्‍तविकताओं को ध्‍यान में रखने वाला करार दिया है।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया

जापान: देंत्सु ने बम की धमकी के बाद टोक्यो मुख्यालय को खाली कराया

जापान की सबसे बड़ी विज्ञापन एजेंसी देंत्सु ग्रुप कॉर्प ने बम की एक धमकी प्राप्त होने के बाद अपने टोक्यो मुख्यालय से कर्मचारियों को शुक्रवार को खाली करा लिया। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, मुख्यालय खाली करने का आदेश विज्ञापन कंपनी ने तब जारी किया, जब उसे उसकी वेबसाइट को एक धमकी भरा एक ई-मेल भेजा गया। ई-मेल में कहा गया है, "देंत्सु के शिओडोम मुख्यालय इमारत में विस्फोट की चेतावनी, जिसकी समय सीमा सात जून, रविवार सुबह सात बजे है।" देंत्सु ने कहा कि उसने टोक्यो बे के पास शिओडोम इलाके में स्थित इमारत को बंद कर दिया है और सप्ताहांत तक इमारत में किसी के आने जाने पर रोक लगा दी है। कंपनी ने कोरोनावायरस महामारी के कारण अपने कर्मचारियों के लिए वर्क फ्रॉम होम की व्यवस्था पहले ही कर दी थी। वैश्विक विज्ञापन एवं मार्केटिंग एजेंसी ने कहा है कि उसने धमकी के बारे में प्रशासन को सूचित कर दिया है। शिओडोम व्यापारिक जिले के चारों ओर सिथत इमारतों और वाणिज्यिक सुविधाओं की पुलिस ने घेरेबंदी कर दी है।

इसे भी पढ़ें- दुनिया की 5 बड़ी खबरें: अमेरिका में जॉर्ज फ्लॉयड के लिए शांतिपूर्ण रैली आयोजित, अफगान राजधानी की मस्जिद में बम धमाका

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

लोकप्रिय