रूस में विद्रोह के बाद पुतिन का आया पहला बयान, बोले- मेरी पीठ पर छुरा घोंपा

रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने कहा कि सभी ताकतों को एक साथ आना चाहिए, क्योंकि हम आंतरिक विश्वासघात का सामना कर रहे हैं। हमें रूस में अपनी सभी सेनाओं को एकजुट होने की जरूरत है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पुतिन की निजी मिलिशिया वैगनर ग्रुप के विद्रोह के बाद रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने प्रेस से बात कर इस मामले में प्रतिक्रिया दी है। हालांकि इस दौरान पुतिन ने वैग्नर ग्रुप का नाम नहीं लिया। उन्होंने कहा कि रूसी लोगों को बहला-फुसलाकर एक आपराधिक एडवेंचर में शामिल किया गया है। उन्होंने कहा कि रूस का भविष्य दांव पर है और हम अपने भविष्य के लिए लड़ रहे हैं। हम नियो-नाजी और उनके मालिकों के खिलाफ लड़ई लड़ रहे हैं। रूस के राष्ट्रपति ने कहा कि पश्चीमी देशों की पूरी मिलिट्री, आर्थिक और सूचना ताकत हमारे खिलाफ एकजुट है।

मेरी पीठ पर छुरा घोंपा गया: पुतिन

रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने आगे कहा कि सभी ताकतों को एक साथ आना चाहिए, क्योंकि हम आंतरिक विश्वासघात का सामना कर रहे हैं। हमें रूस में अपनी सभी सेनाओं को एकजुट होने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि रूस पर 1917 में भी ऐसा ही हमला किया गया था, जब हमने पहला वर्ल्ड वॉर लड़ा था, लेकिन हमसे जीत चुरा ली गई थी। इसके पीछे बहुत से षड्यंत्र रचे गए थे। उन्होंने कहा कि रूसी लोगों ने ही रूसियों की हत्या की थी। राजनीतिक फायदे के लिए यह सब किया गया था और विदेशी ताकतों को इसका फायदा मिला था। हम ऐसा फिर से होने होने देंगे। उन्होंने कहा कि जिन्होंने भी विद्रोह का रास्ता चुना है, उन्हें कड़ी सजा मिलेगी। उन्हें कानून और हमारे लोगों को जवाब देना होगा।

पतिन ने कहा कि जिन लोगों ने यह कदम उठाया है, उन्होंने पीठ में छुरा घोंपा है। कुछ लोगों ने अपनी महत्वकांक्षाओं के चलते राजद्रोह किया है। उन्होंने कहा कि ऐसे आपराधिक कोशिशों के खिलाफ मॉस्को और कई दूसरे इलाकों में काउंटर ऑपरेशन्स चलाए जा रहे हैं। हम इनपर कड़ी कार्रवाई करेंगे। पुतिन ने कहा कि जो लोग रूस को बांट रहे हैं, उनको सजा दी जानी तय है। रूस को इस मुश्किल घड़ी में बचाने के लिए हमने हर जरूरी आदेश दे दिए हैं।


रूस में तख्तापलट की आशंका

आज यानी शनिवार सुबह वैग्नर ग्रुप के मुखिया येवगेनी प्रिगोझिन ने दावा किया कि वह यूक्रेन से रूस लौट आए हैं और उन्होंने रोस्तोव शहर पर कब्जा भी कर लिया है। फिलहाल, प्रिगोझिन के खिलाफ रूस की सरकार ने गिरफ्तारी का वारंट जारी किया है।

खबरों के अनुसार, ‘वैग्नर ग्रुप’ के मुखिया येवगेनी प्रिगोझिन ने यूक्रेन के बखमुत में वैग्नर ट्रेनिंग कैंप पर मिसाइल हमले के लिए क्रेमलिन को दोषी ठहराया है। इस हमले में कई वैग्नर लड़ाके मारे गए थे। प्रिगोझिन ने ऑडियो संदेशों की एक सीरीज में कहा, "उन्होंने (रूस की सेना ने) हमारे शिविरों पर मिसाइल हमले किए, जिससे बड़ी संख्या में हमारे लड़ाके, हमारे साथी मारे गए। जो कोई भी प्रतिरोध करेगा, हम उसे खतरा मानेंगे और उसे तुरंत तबाह कर देंगे। हमें इस समस्या को खत्म करने की जरूरत है। यह कोई सैन्य तख्तापलट नहीं है, बल्कि न्याय का मार्च है।"

येवगेनी प्रिगोझिन कौन है?

वैगनर ग्रुप का लीडर येवगेनी विक्टरोविच प्रिगोझिन एक घोषित अपराधी है। वह कई बड़े अपराधों में वॉन्टेड था। उसे जेल हुई। जेल से छूटने के बाद उसने हॉट-डॉग बेचना शुरू कर दिया। बाद में वह पुतिन का शेफ बन गया। आज उसकी रेस्त्रां की चेन है। वैगनर ग्रुप का नेटवर्क 18 देशों में है। वह इन देशों में किसी न किसी पार्टी की मदद कर रही है। जैसे माली में इसके हजार से ज्यादा सैनिक रूस की मदद से प्रेसिडेंट बने असिमी गोइता के साथ खड़े हैं। बदले में गरीब देश माली उन्हें हर महीने करीब 10 मिलियन डॉलर चुकाता है।

इसे भी पढ़ें: यूक्रेन से जंग के बीच पुतिन पर बड़ी आफत! रूस में होगा तख्तापलट? प्राइवेट आर्मी वैगनर ने की बगावत

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;