पुतिन की धमकी- तबाही लाने वाली होगी ईरान के खिलाफ किसी भी तरह की सैन्य कार्रवाई

पुतिन ने कहा कि ड्रोन को मार गिराए जाने के बाद अमेरिका का कहना है कि वह सैन्य कार्रवाई की संभावना से इनकार नहीं कर रहा है…यह इस क्षेत्र के लिए तबाही लाने वाला होगा। उन्होंने कहा, ‘इससे हिंसा बढ़ेगी और शरणार्थियों की संख्या में भी बढ़ोतरी होगी।’

फोटो: सोेशल मीडिया
फोटो: सोेशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने अमेरिका को ईरान क खिलाफ किसी भी तरह की सैन्य कार्रवाई नहीं करने की सलाह दी है। पुतिन ने कहा कि अगर अमेरिका ईरान के खिलाफ किसी भी तरह की सैन्य कार्रवाई करता है तो यह तबाही लाने वाली साबित होगी। बता दें कि ईरान के रेवोल्यूशनरी गार्ड्स ने अमेरिकी निगरानी ड्रोन को मार गिराए थे, जिसके बाद से दोनों देशों के बीच युद्ध की स्थिति बन गई है। पुतिन ने कहा कि ड्रोन को मार गिराए जाने के बाद अमेरिका का कहना है कि वह सैन्य कार्रवाई की संभावना से इनकार नहीं कर रहा है…यह इस क्षेत्र के लिए तबाही लाने वाला होगा। उन्होंने कहा, ‘इससे हिंसा बढ़ेगी और शरणार्थियों की संख्या में भी बढ़ोतरी होगी।’

काफी समय से अमेरिका और ईरान के बीच तनातनी चल रही है। रूस ईरान का समर्थन कर रहा है।अमेरिका द्वारा ईरान पर लगाए गए प्रतिबंध को भी रूस ने गलत बताया है। रूसी राष्ट्रपति पुतिन लगातार इस बात को दोहराते रहे हैं कि ईरान के खिलाफ लगाए गए प्रतिबंध ‘अनुचित’ है। वहीं ड्रोन को मारने के बाद ईरान ने भी अपनी सफाई दी है। ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ ने गुरुवार को कहा कि ‘ईरानी हवाईक्षेत्र का उल्लंघन’ करने पर अमेरिकी सैन्य निगरानी ड्रोन को गिराया गया। अपने दावों की पुष्टि की लिए उन्होंने निर्देशांक (अक्षांश और देशांतर की जानकारी) भी पेश किए।

उन्होंने कहा कि हमने अमेरिकी सैन्य ड्रोन को अपने समुद्री क्षेत्र से बरामद भी कर लिया है, जहां उसे गिराया गया था। जरीफ ने पहले ट्वीट किया था कि हम यह साबित करने के लिए संयुक्त राष्ट्र जाएंगे कि ड्रोन हमारे हवाई क्षेत्र में दाखिल हुआ और ‘अमेरिका झूठ बोल रहा है।’ इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ड्रोन को मार गिराने की कार्रवाई पर ट्वीट करते हुए कहा था, ‘ईरान ने एक बहुत बड़ी गलती की है।’

लोकप्रिय