अमेरि‍का: विशेष वकील ने सुप्रीम कोर्ट से पूछा- क्‍या पद पर रहते हुए ट्रंप को मुकदमे से है छूट?

2020 के चुनाव परिणामों को पलटने की कथित साजिश से संबंधित संघीय आरोपों पर ट्रंप के खिलाफ मार्च 2024 में मुकदमा चलाया जाना है।

फोट: IANS
फोट: IANS
user

नवजीवन डेस्क

अमेरिका में कुछ ऐसा हो रहा है जो इस देश के इतिहास में कभी नहीं हुआ। देश के इतिहास में यह पहली बार होगा कि शीर्ष अदालत पूर्व राष्ट्रपति के ऐतिहासिक अभियोजन पर विचार करेगी। इसी बीच एक असाधारण कदम में, विशेष वकील जैक स्मिथ ने अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट से यह तय करने का आग्रह किया कि क्या पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को पद पर रहते हुए किए गए कथित अपराधों के लिए आपराधिक मुकदमा चलाने से कोई छूट है।

बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, स्मिथ, जो ट्रंप के खिलाफ दो आपराधिक जांचों की देखरेख कर रहे हैं, ने सोमवार को अदालत से इस पर त्वरित निर्णय देने के लिए कहा कि क्या उन्हें संघीय अभियोजन से छूट प्राप्त है। शीर्ष अदालत बाद में उनके अनुरोध पर विचार करने के लिए सहमत हो गई और पूर्व राष्ट्रपति की कानूनी टीम को 20 दिसंबर तक जवाब दाखिल करने को कहा।


2020 के चुनाव परिणामों को पलटने की कथित साजिश से संबंधित संघीय आरोपों पर ट्रंप के खिलाफ मार्च 2024 में मुकदमा चलाया जाना है।

देश की सर्वोच्च अदालत से स्मिथ का यह अप्रत्याशित अनुरोध निचली अदालतों को पूरी तरह से आगे बढ़ाने और निर्धारित 4 मार्च, 2024 की सुनवाई की तारीख में किसी भी देरी से बचने का एक प्रयास है।

बीबीसी ने विशेष वकील के हवाले से कहा, "यह मामला हमारे लोकतंत्र के मूल में एक मौलिक प्रश्न प्रस्तुत करता है: क्या एक पूर्व राष्ट्रपति को पद पर रहते हुए किए गए अपराधों के लिए संघीय अभियोजन से पूरी तरह छूट प्राप्त है या संवैधानिक रूप से संघीय अभियोजन से संरक्षित है।"


उन्होंने कहा कि ट्रंप के राष्ट्रपति पद की छूट के दावे "गंभीर रूप से गलत" हैं और "केवल यह अदालत ही उन्हें निश्चित रूप से हल कर सकती है"। बता दें कि 2020 के चुनाव मामले में पूर्व राष्ट्रपति के अभियोग में उन पर अमेरिकी सरकार को धोखा देने की साजिश सहित चार गंभीर मामलों का आरोप लगाया गया है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;