रोजगार के मुद्दे पर ट्रंप सरकार भी हुई फेल! अमेरिका में बेरोजगारी दर 50 साल के निचले स्तर पर

अमेरिका में विनिर्माण के क्षेत्र में सितंबर में 10 साल की सबसे बड़ी गिरावट देखने को मिली तो वहीं सर्विस सेक्टर में आई सुस्ती 2016 के स्तर पर पहुंच गई है। वहीं बेरोजगारी दर 50 साल के निचले स्तर पर चली गई है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

दुनिया के सबसे शक्तिशाली देशों में से एक अमेरिका में बेरोजगारी दर 50 साल के निचले स्तर पर चली गई है। वहीं रोजगार के नए आंकड़े जारी होने के बीच शुक्रवार को अमेरिकी डॉलर में गिरावट दर्ज की गई।

अमेरिकी श्रम विभाग ने शुक्रवार को कहा कि सितंबर में देश की बेरोजगारी दर गिरकर 3.5 प्रतिशत हो गई जो कि 50 साल में सबसे निचले स्तर पर रही। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, श्रम विभाग ने कहा कि पिछले महीने कुल नॉनफार्म पेरोल रोजगार में 136,000 नौकरियों की वृद्धि हुई। बता दें कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपना चुनाव रोजगार के मुद्दे पर लड़ा था। उन्होंने रोजगार के मुद्दे पर कैंपन कर वोट बटोरे थे। ये आंकड़े ऐसे समय में सामने आए हैं, जब लगातार ऐसी रिपोर्टें आ रही हैं कि अमेरिका की आर्थिक स्थिति कमजोर हो रही है।

खबरों की माने तो विनिर्माण के क्षेत्र में सितंबर में 10 साल की सबसे बड़ी गिरावट देखने को मिली तो वहीं सर्विस सेक्टर में आई सुस्ती 2016 के स्तर पर पहुंच गई है।

ऐसा माना जा रहा है कि अमेरिका और चीन के बीच ट्रेड वॉर ने कारोबारियों के आत्मविश्वास डगमगा दिया है और इससे निवेश और विनिर्माण को काफी नुकसान पहुंचा है। दूसरी ओर अमेरिका के अर्थव्यवस्था में गिरावट को लेकर कई जानकारों का मानना है कि फेडरल रिजर्व (अमेरिकी रिजर्व बैंक) को एक बार फिर ब्याज दरों में कटौती करनी पड़ सकती है।

फिसली अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए अमेरिकी रिजर्व बैंक ने पिछले तीन महीनों में 2 बार ब्याज दरों में कटौती कर चुका है। साल 2008 के बाद पहली बार जुलाई में की ब्याज दरों में कटौती हुई थी। इसके दो महीने बाद सितंबर में एक बा फिर अमेरिकी रिजर्व बैंक को कटौती करनी पड़ी।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, 6 प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले डॉलर की ताकत का सूचक डॉलर इंडेक्स 0.06 फीसदी की कमजोरी के साथ 98.8042 पर रहा। न्यूयॉर्क ट्रेडिग में शुक्रवार को यूरो बीते कारोबार में 1.0974 डॉलर के मुकाबले बढ़कर 1.0983 डॉलर रहा। ब्रिटिश पाउंड बीते कारोबार में 1.2353 डॉलर के मुकाबले गिरकर 1.23 32 डॉलर रहा।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

Published: 5 Oct 2019, 4:29 PM
लोकप्रिय