देश में मॉब लिंचिंग पर भड़कीं अभिनेत्री स्वरा भास्कर, इसे बताया महामारी, कहा- नहीं कर सकते नजरअंदाज

बॉलीवुड अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने देश में जगह-जगह हो रही मॉब लिंचिंग को लेकर कहा कि इस सच्चाई से मुंह मोड़ना देश में मॉब लिंचिग की घटनाओं को बढ़ावा देने जैसा है। इस वक्त मॉब लिंचिंग एक महामारी की तरह बन चुकी है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

देश में बढ़ते मॉब लिंचिंग को लेकर बॉलीवुड अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि देश में भीड़ की हिंसा के बढ़ते मामलों पर ‘कठोर वास्तविकता से हमारा मुंह मोड़ना’ कठिन है। उन्होंने मॉब लिंचिंग को महामारी करार दिया है। उन्होंने 49 हस्तियों द्वारा पीएम मोदी को लिखे गए खत की प्रशंसा करते हुए मॉब लिंचिंग पर अपनी चिंता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि इस मुद्दे से निपटने के लिए एक मजबूत कानून की आवश्यकता है।

एएनआई के मुताबिक स्वरा ने कहा, “मॉब लिंचिंग देश में सबसे बड़ी समस्याओं में से एक बनती जा रही है। मुझे नहीं लगता कि इस तरह की बढ़ती जा रही घटनाओं को हम नजरअंदाज कर सकते हैं या इससे मुंह मोड़ सकते हैं। यह मॉब लिंचिंग एक महामारी बन चुकी है जो फैले ही जा रही है।”


गुरुवार को गायक, लेखक और फिल्म निर्माताओं ने पीएम मोदी को मॉब लिंचिंग को लेकर खत लिखा था। इस पर स्वरा भास्कर ने कहा, “ये अच्छा है कि ये सभी पीएम मोदी का ध्यान इस ओर आकर्षित कर रहे हैं। यह देश में किसी ‘ट्रेजिक इवेंट’ से कम नहीं।”

स्वरा भास्कर ने पीएम मोदी को पत्र लिखने वालों की तारीफ करते हुए कहा कि मुझे लगता है कि ये सभी मिलकर अच्छा काम कर रहे हैं और पीएम को इस खत के जरिए बता रहे हैं कि देश में क्या कुछ हो रहा है। मैं पिछले 3 से 4 सालों से इस मुद्दे पर गंभीरता से बात करने की कोशिश करती रही हूं। इसके लिए मैंने ‘मानव सुरक्षा कानून’ से भी बात की। लेकिन अब स्थिति और भी भयानक हो गई है।


गौरतलब है कि मॉब लिंचिंग की घटनाएं दिन पर दिन बढ़ती चली जा रही हैं। इस बीच इस मुद्दे को लेकर 49 हस्तियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक खुला खत लिखा। इस खत में मॉब लिंचिंग की घटना का जिक्र किया गया है।

इसे भी पढ़ें: श्याम बेनेगल, अनुराग कश्यप समेत बॉलीवुड के 49 हस्तियों ने पीएम मोदी को लिखा खत, कहा- मॉब लिंचिंग पर लगे रोक

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;