अयोध्या केस: सुप्रीम कोर्ट में ऐसा क्या हुआ कि मुस्लिम पक्ष के वकील ने फाड़ा राम मंदिर का नक्शा, भड़के सीजेआई

सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या विवाद पर अंतिम दिन की सुनवाई चल रही है। सुनवाई के दौरान एक समय तीखी बहस के माहौल गरम हो गया। जिसके बाद सीजेआई रंजन गोगोई नाराज हो गए। हुआ यूं कि मुस्लिम पक्षकार ने उस नक्शे और कागजातों को फाड़ दिया दो हिंदू महासभा की ओर से कोर्ट में पेश किए गए थे।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

सुप्रीम कोर्ट में रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर 40वें और अंतिम दिन की सुनवाई जारी है। इस दौरान सभी पक्षकार अपनी अपनी दलीलें दे रहे हैं। सुनवाई के दौरान राजीव धवन अपना आपा खो बैठे और हिंदू महासभा की तरफ से कोर्ट में पेश राम जन्मस्थान के नक्शे को फाड़ दिया। भरी कोर्ट में राजीव धवन के नक्शा फाड़ने की हरकत पर सीजेआई रंजन गोगोई नाराज हो गए। उन्होंने धवन पर नाराजगी जताई और कहा कोर्ट रूम में इस तरह की रोक-टोक होगी तो सुनना मुश्किल होगा।

बता दें कि हिंदू महासभा के वकील विकास सिंह ने कोर्ट में एक किताब को रखने की कोशिश की तो मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन ने आपत्ति जताई और कहा कि अगर ऐसा हुआ तो वह इनके सवालों का जवाब नहीं देंगे। इस आपत्ति पर सीजेआई ने कहा कि ठीक है आप जवाब मत दीजिएगा।

इस पर विकास सिंह ने कहा कि मैं किताब पर अपना जवाब नहीं दे रहा हूं लेकिन हाईकोर्ट के आदेश के मुताबिक एक नक्शा दिखाना चाहता हूं। लेकिन राजीव धवन ने एक बार फिर आपत्ति जाहिर की और कहा कि ये भी तो किताब का हिस्सा है। इतना कहते हुए राजीव धवन उठे और उसे नक्शे को पांच टूकड़ों में बांट दिया। बताया जा रहा है कि ये नक्शा राम मंदिर का था, जिसे कोर्ट में फाड़ा गया।

इस दौरान रंजन गोगोई ने आगे कहा कि हमारी तरफ से दोनों ओर से बहस पूरी हो चुकी है हम सिर्फ इस इसलिए सुन रहे हैं कि कोई कुछ कहना चाहता है तो कह दे। हम उठ कर जा भी सकते हैं। ये इशारा सीधे-सीधे राजीव धवन को सीजेआई ने दी। इस दौरान विकास बहल और राजीव धवन ने एक दूसरे पर आरोप लगाते हुए कहा कि आपने कोर्ट का मजाक बना दिया है।

बता दें कि राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट में आज आखिरी सुनवाई हो रही है। चीफ जस्टिस ने सुनवाई शुरू होते ही साफ-साफ कह दिया कि बस अब बहुत हो चुका, आज सिर्फ 5 बजे तक ही सुनवाई होगी।

इसे भी पढ़ें: अयोध्या केस: सुन्नी वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष ने दावा वापस लेने के लिए कोर्ट में दी याचिका! जानें क्या है सच्चाई

इसे भी पढ़ें: अयोध्या-बाबरी विवाद: हिंदूओं की तरफ से एक दर्जन दावेदार, पक्ष में अगर आ भी गया फैसला, तो किसे मिलेगी जमीन?

Published: 16 Oct 2019, 1:49 PM
लोकप्रिय