दिल्ली: यमुना के जलस्तर का 45 साल का रिकॉर्ड टूटा, पहली बार जलस्‍तर 207.6 मीटर पर

दिल्‍ली में यमुना नदी का जलस्‍तर बुधवार को पुराने सभी रिकॉर्ड तोड़ते हुए 207.60 मीटर पर पहुंच गया, जो खतरे के निशान से सवा दो मीटर ऊपर है। पिछला रिकॉर्ड 06 सितंबर 1978 को 207.49 मीटर का था।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

दिल्‍ली में यमुना नदी का जलस्‍तर बुधवार को पुराने सभी रिकॉर्ड तोड़ते हुए 207.60 मीटर पर पहुंच गया, जो खतरे के निशान से सवा दो मीटर ऊपर है। पिछला रिकॉर्ड 06 सितंबर 1978 को 207.49 मीटर का था।

केंद्रीय जल आयोग (सीडब्ल्यूसी) के आंकड़ों के मुताबिक, उत्तरी दिल्ली के चंदगीराम अखाड़े के पास रिंग रोड पर नदी का पानी पहुंच गया है। पानी को रिंग रोड तक पहुंचने से रोकने के लिए अधिकारी रेत से भरी बोरियों का इस्तेमाल कर रहे हैं।


आज सुबह से ओल्‍ड रेलवे ब्रिज (ओआरबी) के पास यमुना में पानी तेजी से बढ़ रहा है। सुबह 8 बजे जलस्‍तर 207.25 मीटर था। सुबह 10 बजे यह 207.37 मीटर, दोपहर 12 बजे 207.48 मीटर, दोपहर बाद 1 बजे 207.55 मीटर और 2 बजे 207.60 मीटर पर पहुंच गया। ओआरबी पर खतरे का निशान 205.33 मीटर है।

कश्मीरी गेट के पास एक गौशाला पूरी तरह जलमग्न हो गई। इस बीच दिल्ली पुलिस के अधिकारी भी बचाव कार्य में मदद कर रहे हैं। मंडली इलाके में फंसे लोगों को निकालने के लिए उन्होंने नाव का सहारा लिया।


आईपीएस छाया शर्मा ने ट्वीट किया, "यमुना खादर में बचाव अभियान, लोगों को वहां से हटने के लिए राजी किया जा रहा है, लेकिन जीवन और स्वतंत्रता के खतरे के बावजूद वे मवेशियों को प्राथमिकता दे रहे हैं।"

दिल्ली पुलिस ने बाढ़ संभावित इलाकों में एहतियात के तौर पर धारा 144 लागू कर दी है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


/* */