कंगाली के कगार पर खड़े पाकिस्तान पर बीमारियों का अटैक, पाक में 4 सालों में पोलियो के सबसे ज्यादा मामले

पाकिस्तान में इस साल पोलियो के 62 मामले सामने आए हैं, जो 2015 के बाद सबसे ज्यादा है। डॉन न्यूज के मुताबिक, खैबर पख्तूनख्वा और सिंध से रविवार को दो और मामले सामने आने के बाद यह संख्या 62 तक पहुंच गई।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

दिवालिया होने की कगार पर खड़ी पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था को लगातार झटके लगे रहे हैं। दूसरी ओर पाकिस्तान के लोगों पर अब बीमारों ने भी हमला बोल दिया है। पाकिस्तान में इस साल पोलियो के 62 मामले सामने आए हैं, जो 2015 के बाद सबसे ज्यादा है। डॉन न्यूज के मुताबिक, खैबर पख्तूनख्वा और सिंध से रविवार को दो और मामले सामने आने के बाद यह संख्या 62 तक पहुंच गई।

अधिकारियों ने कहा कि रविवार को सिंध में 6 पीड़ितों का पता चला है, जबकि बलूचिस्तान और पंजाब दोनों से पांच-पांच मामले सामने आए हैं। 2018 में 12 मामले सामने आए, जबकि 2017 में केवल 8 बच्चों में वायरस के पॉजिटिव रिपोर्ट आए।

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ (एनआईएच), इस्लामाबाद में पोलियो वाइरोलॉजी प्रयोगशाला के एक अधिकारी ने खैबर पख्तूनख्वा के ताजा मामले के बारे में कहा, “यह इनकार का एक स्पष्ट मामला था।” पीड़ित 10 महीने का एक बच्चा था। दक्षिण वजीरिस्तान में मामले का पता चला।

अधिकारी ने कहा, “बच्चे के दादा पोलियो टीकाकरण के खिलाफ थे।” अधिकारी के अनुसार, दूसरी पीड़िता कराची के ओरंगी क्षेत्र में 8 महीने की एक बच्ची रही।

पोलियो उन्मूलन पर विश्व स्वास्थ्य संगठन के तकनीकी सलाहकार समूह (टीएजी) ने कहा है कि खैबर पख्तूनख्वा पाकिस्तान में पोलियो उन्मूलन के प्रयासों में एक बड़ा रोड़ा है। डॉन के मुताबिक, दुनिया में केवल दो देश पाकिस्तान और अफगानिस्तान हैं, जहां पोलियो के मामले अभी भी सामने आ रहे हैं।

डब्ल्यूएचओ द्वारा लगाए गए पोलियो संबंधी यात्रा प्रतिबंध के तहत पाकिस्तान अभी भी बना हुआ है, जिसके कारण 2014 से विदेश यात्रा करने वाले हर शख्स को पोलियो टीकाकरण प्रमाणपत्र साथ ले जाना होगा।

गौरतलब है कि पाकिस्तान की माली हालात खस्ताहाल है और अर्थव्यवस्था में जान फूंकने के लिए कई तरह के हथकंडे को भी अपना रहा है। खबर के मुताबिक, पाकिस्तान ने वैश्विक निवेशकों को लुभाने के लिए बेली डांस का सहारा लेना शुरू किया है। अजरबैजान की राजधानी बाकू में सरहद चैम्बर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्री द्वारा चार से आठ सितंबर तक आयोजित खैबर पख्तूनख्वा निवेश अवसर समारोह में विदेशी निवेशकों को लुभाने के लिए अन्य गतिविधियों के अलावा बेली डांस का आयोजन किया गया।

इसे भी पढ़ें: यह है नया पाकिस्तान, निवेशकों को लुभाने के लिए ‘बेली डांस’ करा रहे हैं इमरान खान

गायब हुआ ‘लैंडर विक्रम’ चांद पर है सुरक्षित, अंतरिक्ष से मिले तस्वीरों से हुआ खुलासा, जानिए अब आगे क्या होगा?

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

Published: 9 Sep 2019, 5:59 PM
लोकप्रिय